पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जहरीली शराब पीने से एक और मौत!:नालंदा में मौत का आंकड़ा हुआ 14, DM ने मानी शराब पीने की बात; 5 धंधेबाज गिरफ्तार

नालंदा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक के रोते-बिलखते परिजन। - Money Bhaskar
मृतक के रोते-बिलखते परिजन।

नालंदा में संदिग्ध परिस्थिति में मरने वालों की संख्या बढ़कर 14 हो गई है। लगातार तीसरे दिन सोमवार को एक की मौत हो गई। परिजन शराब पीने से मौत की बात कह रहे हैं। लगातार हो रही मौत के बाद इलाके में छापेमारी कर पुलिस ने शराब के धंधे में लिप्त रहने वाले 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, IG ने सोहसराय थाना अध्यक्ष सुरेश प्रसाद को सस्पेंड कर दिया है। मृतक की पहचान सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी निवासी दीपक पासवान के रूप में हुई है।

14 को पी थी जहरीली शराब

मृतक के परिजन ने बताया, 'दीपक ने भी 14 जनवरी को जहरीली शराब का सेवन किया था। तबीयत बिगड़ने के बाद दीपक पासवान के परिजन उसे लेकर इलाज के लिए पटना चले गए। जहां निजी क्लीनिक में दीपक ने सोमवार सुबह दम तोड़ दिया। अभी भी कई ऐसे लोग हो सकते हैं जो चोरी-छिपे अपना इलाज निजी क्लीनिक में करा रहे हैं। इससे हो सकता है कि मृतकों की संख्या और भी बढ़ सकती है।'

DM ने माना, जहरीली शराब से 11 मौत

इस मामले में DM शशांक शुभंकर, SP अशोक मिश्रा ने घटनास्थल छोटी पहाड़ी में संयुक्त रूप से प्रेस वार्ता कर बताया कि पोस्टमॉर्टम और बिसरा रिपोर्ट नहीं आई है। प्रथमदृष्टया प्रतीत होता है कि शराब कांड से 11 लोगों की मौत हुई। पोस्टमॉर्टम में मृतक के पेट में अल्कोहल पाया गया। लापरवाही के आरोप में सोहसराय थानेदार को सस्पेंड कर उत्पाद विभाग से स्पष्टीकरण मांगा गया है।

एक की गई रोशनी, कई बीमार

शराब कांड में करीब एक दर्जन लोग बीमार बताए जा रहे हैं। अधेड़ शशि कुमार के आंखों की रोशनी चली गई। एक दिन पहले भी दो युवकों की रोशनी चली गई थी। तीनों निजी क्लिनिक में इलाजरत हैं। अब तक सोहसराय थाना क्षेत्र के कुल 12 लोगों की जहरीली शराब से मौत हो गई है। वहीं, मानपुर थाना क्षेत्र के प्रभु बीघा गांव में भी दो लोगों की जान गई है। वहीं, सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी निवासी ऋषि कुमार की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

दो दिन में 13 लोगों की हुई मौत

शनिवार को 10 लोगों की मौत हुई। मृतकों में सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी निवासी भागो मिस्त्री (55), मन्ना मिस्त्री (55), सुनील कुमार (24), धर्मेंद्र उर्फ नागेश्वर (50), अर्जुन पंडित (51), कालीचरण (50), राजेश कुमार (42), रामपाल शर्मा और मानपुर थाना क्षेत्र के प्रभु विगहा गांव के रामरूप चौहान (45) व शिवजी चौहान (45) शामिल है। वहीं, रविवार को 3 लोगों ने दम तोड़ दिया। इनमें प्रहलाद कुमार (40), सिंटू कुमार (35) एवं बालेश्वर मिस्त्री का पुत्र (35) शंकर मिस्त्री हैं, तीनों छोटी पहाड़ी निवासी थे।

इनकी हुई गिरफ्तारी

छोटी पहाड़ी निवासी सुनील राम, केशर साह के पुत्र मुन्ना कुमार, रामचंद्र साव के पुत्र मुन्ना कुमार, मनोज राम का पुत्र राहुल कुमार और जितेंद्र पासवान उर्फ बोकड़वा की गिरफ्तारी हुई है।

मृतक के परिजनों से मिले चिराग पासवान

इधर, लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के सुप्रीमो चिराग पासवान सोमवार को बिहार शरीफ पहुंचे और मृतकों के परिजनों से मुलाकात की। चिराग पासवान ने कहा कि 'जो पियेगा, वह मरेगा। इस तरह की सोच तो हमारे मुख्यमंत्री रखते हैं। आज उनके गृह जिला में यह घटना घटी है। क्या यहां भी आकर मुख्यमंत्री यही बात बोलेंगे। कोई पी इसलिए रहा है। क्योंकि मुख्यमंत्री जी आप ही के गृह जिला में इसका निर्माण हो रहा है। जब शहरी इलाके में शराब बन रही है और बिक रही है तो सोचिए गांव की स्थिति क्या होगी। जहरीली शराब से मौत नहीं, हत्या है। एक के बाद एक कई जिलों में ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। चंपारण से लेकर गोपालगंज, मुजफ्फरपुर और अब तो उनके गृह जिला में यह नौबत आ गई है।' वहीं, मृतक के परिजनों ने कहा कि 'अब सिर्फ और सिर्फ राजनीति हो रही है। सभी लोगों को घर से बुलाकर एक जगह इकट्ठा कर लिया जाता है और किसी भी प्रकार की मदद की बात नहीं की जाती है। ऐसे वक्त में जब सभी लोग दुख और अपनों के खोने की पीड़ा झेल रहे हैं। ऐसे वक्त में नेता सिर्फ अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने पहुंच रहे हैं।'