पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जर्जर मकान के मलबे में दबकर मजदूर की मौत:बक्सर में पुराने मकान को गिराने का लिया था काम, बगल की दीवार गिरने से गई जान

बक्सर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जर्जर मकान के मलबे में दबकर मजदूर की मौत। - Money Bhaskar
जर्जर मकान के मलबे में दबकर मजदूर की मौत।

बक्सर जिले के डुमरांव में दीवार गिरने से मजदूर की दब कर मौत हो गई। दरअसल, रविवार सुबह कुछ मजदूर एक पुराने मकान को गिराने का कार्य कर रहे थे। तभी उसके बगल में खड़ी जर्जर मकान का एक हिस्सा टूट कर मजदूर के ऊपर गिर गया। स्थानीय लोगों द्वारा दीवार के मलबे को हटा कर मजदूर को बाहर निकालने का प्रयास किया गया। लेकिन तब तक मजदूर की दब कर मौत हो गई। यह घटना पूरे क्षेत्र में आग की तरह फैल गई। देखते-देखते मौके लोगो की भीड़ इकट्ठा हो गई। वहीं, सूचना पर डुमरांव पुलिस भी पहुंच मजदूर के शव को कब्जे में ले पोस्टमार्टम के लिए भेजने की तैयारी कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार घटना 12 बजे दोपहर की है। बक्सर जिला के मिश्रवलिया गांव निवासी रमाकांत राम (50 वर्ष) पिता-कल्लू राम गांव के आसपास मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करता था।डुमरांव के वार्ड नंबर 26 में कामेश्वर राय के पुराने मकान को नव निर्मांण के लिए पुराने मकान को उजाड़ने का कार्य दो चार दिनों से कर रहा था।

आज भी समय से पहुंच मकान के दीवार को गिराने का काम कर रहा था। तभी उस दीवार से सटे उमेश राय का जर्जर घर का एक हिस्सा इस मजदूर पर आकर गिर गया। जिसके अंदर दबने से मजदूर की मौत हो गई। इस घटना के बाद ही मजदूर रमाकांत राम के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं, पति की मौत से पत्नी बिखलाते हुए कभी कभी अचेत भी हो जा रही है। जिसे अगल बगल की महिलाएं सम्भालने में लगी हुई है।

पत्नी और इकलौते पुत्र का रो-रोकर था बुरा हाल

रामाकांत की मौत के बाद सबसे बुरा हाल मृतक की पत्नी माया देवी और इकलौते पुत्र पप्पू राम का था। ग्रामीणों का कहना था कि मृतक काफी गरीब परिवार से था तथा मजदूरी कर वही अपने परिवार का भरण पोषण भी करता था। यही कारण है कि उसी मौत की खबर के बाद से ही पत्नी रह रहकर बेहोश हो जा रही थी। जब होश टूट रहा था तो बस यही रट लगा रही थी कि अब परिवार की गाड़ी कौन खींचेगा। पुत्र पप्पू के आंसू भी थमने का नाम नहीं ले रहे थे।

डुमरांव थानाध्यक्ष विन्देश्वरी राम ने बताया कि सूचना पर पहुंच शव को कब्जे में ले लिया गया। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। पंचनामा के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया जाएगा। वहीं, वहां के समाजसेवियों द्वारा मजदूर परिवार को मुआवजा दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं, लेबर अधिकारी किरण कुमारी द्वारा बताया गया कि मजदूर को आपदा के तहत भी मुआवजा दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...