पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

औरंगाबाद में BA की छात्रा से गैंगरेप:सहेली से मिलने जा रही थी, कार से अगवा करके ले गया बदमाश; फिर 3 ने रेप किया

औरंगाबाद10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सदर अस्पताल में बयान लेने पहुंची महिला पुलिस। - Money Bhaskar
सदर अस्पताल में बयान लेने पहुंची महिला पुलिस।

औरंगाबाद में 20 साल की छात्रा (बीए फाइनल) के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। छात्रा शनिवार शाम पास ही रहने वाली सहेली के घर जा रही थी, तभी एक बदमाश ने उसे अगवा कर लिया। वह उसे कार से सुनसान जगह पर ले गया, जहां उसने और उसके दो साथियों ने रेप किया। इसके बाद छात्रा को झाड़ी में फेंककर फरार हो गए। पेट्रोलिंग पर निकली मुफस्सिल थाना पुलिस ने लड़की के कराहने की आवाज सुनी तो उसे सदर अस्पताल ले गई।

पीड़ित छात्रा ने बताया कि उसे राहुल कुमार ने जबरदस्ती पकड़कर कार में बैठाया। इसके बाद किसी अनजान जगह पर ले गया। उसने मेरे चेहरे पर स्प्रे मारकर बेहोश कर दिया। आंख खुली तो देखा कि मेरे सामने राहुल, उसका दोस्त अविनाश कुमार राम और पंकज राम थे। मैं तीनों से गुहार लगाती रही, लेकिन किसी ने एक न सुनी। तीनों ने रेप किया और मारपीट भी की। इसके बाद धमकी दी कि किसी को बताया तो अंजाम बुरा होगा।

पुलिस ने परिजनों को फोन पर सूचना दी

लड़की के भाई ने बताया कि उसकी सहेली का घर 200 मीटर दूर है। बहन देर रात तक नहीं लौटी तो घरवालों ने उसके मोबाइल पर कॉल किया। लड़की ने फोन उठाया तो कराहने और रोने की आवाज सुनाई दी। परिजन चिंतित हो गए। परिजनों ने खोजबीन की, लेकिन पता नहीं चला। इसके बाद पुलिस ने परिजनों को फोन पर घटना की जानकारी दी। लड़की ने गांव के ही रहने वाले तीन युवकों पर रेप का आरोप लगाया है। लड़की के पिता किसान हैं। वे आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

तीनों आरोपियों को पुलिस ने पकड़ा

घटना की जानकारी मिलते ही महिला थानाध्यक्ष सदर अस्पताल पहुंचीं और मेडिकल कराकर लड़की का बयान दर्ज किया। महिला थानाध्यक्ष ने कहा कि तीनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया है। तीनों से पूछताछ की जा रही है। मामले में आगे की कार्रवाई चल रही है।

अस्पताल में भर्ती है छात्रा

मुफस्सिल थाने की पुलिस ने बताया कि पेट्रोलिंग के दौरान छात्रा की कराहने की आवाज सुनाई दी थी। पास जाकर देखा तो छात्रा अर्धनग्न अवस्था में झाड़ियों के बीच पड़ी थी। जानकारी लेने पर उसने सारी कहानी बताई जिसके बाद पीड़िता के परिजनों को मामले की जानकारी दी गई और उसे सदर अस्पताल में इलाज के लिए लेकर आई। उसकी हालत खतरे से बाहर है।