पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शीतकालीन सत्र का तीसरा दिन:बिहार भूमि दाखिल खारिज संसोधन विधेयक विधानसभा से पास; संजय सरावगी कहासुनी के बाद मनाने पहुंचे भाई बीरेंद्र

पटना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार विधानसभा के शीतकालीन सत्र का बुधवार को तीसरा दिन था। तीसरे दिन भी विपक्ष ने शराबबंदी कानून को ठीक तरीके से पालन नहीं किए जाने को लेकर सरकार को घेरा। वहीं, अन्य विपक्षी पार्टियों ने विश्वविद्यालय में घोटाले का मुद्दा उठाया। बिहार विधानसभा के बाहर विपक्ष की ओर से राज्यपाल और कुलपति को बर्खास्त करने की मांग की गई।

वहीं, सत्र शुरू होने से पहले RJD विधायक भाई बीरेंद्र ने बड़ी पहल की। भाजपा विधायक संजय सरावगी से मिलने पहुंचे। लेकिन, भाजपा विधायक नहीं माने। वहीं, बिहार भूमि दाखिल खारिज संसोधन विधेयक विधानसभा से पास हो गया।

सत्र शुरू होने से पहले विधानसभा के बाहर प्रदर्शन करते CPI-ML विधायक।
सत्र शुरू होने से पहले विधानसभा के बाहर प्रदर्शन करते CPI-ML विधायक।

विधान सभा अपडेट्स

  • विधायक​​​​​ शकील अहमद ने कहा कि विश्वविद्यालय में भ्रष्टाचार है जिसे सरकार का संरक्षण मिल रहा है। शराब एंबुलेंस से ढोई जा रही है।
  • RJD विधायक भाई बीरेंद्र ने कहा कि एंबुलेंस से शराब की तस्करी हो रही है। सरकार फैसलों को पालन करने में असफल है।
  • विधायक बीरेंद्र ने कहा कि- मैंने कोशिश की लेकिन भाजपा विधायक नहीं मानें तो मैं क्या करूं।
  • BJP विधायक संजय सरावगी ने कहा कि मैं क्यू बात करूं, जो गाली-गलौज राजद विधायक ने किया है, उसे मैं भूल नहीं सकता हूं।
  • विधानासभा के बाहर माले का प्रदर्शन, CPI और CPI-ML विधायकों का हंगामा। विश्वविद्यालय में धांधली और MSP को कानूनी दर्ज देने की मांग की। सरकार के खिलाफ की नारेबाजी। माले ने राज्यपाल को बदलने करने की मांग कर डाली। माले ने कहा- राज्यपाल भवन विश्वविद्यालय मामलों में संलिप्त, तत्काल राज्यपाल को बदलना चाहिए।
  • राजद विधायक राकेश रोशन ने कहा- विधानसभा में शराबबंदी पीपल कानून पर कार्य स्थगन प्रस्ताव आज भी लाएंगे। बिहार में शराबबंदी कानून विफल है। सरकार की विफलताओं को सदन में पुरजोर तरीके से उठाएगी विपक्ष आज भी।
  • BJP विधायक संजय सरावगी ने विपक्ष के शराबबंदी कानून के खिलाफ सदन को बाधित करने पर कहा- शराब का मुद्दा कोई मुद्दा नहीं है। सरकार कार्रवाई कर रही है। अपराध करने वालों को पूर्ण रूप से कोई नहीं रोक सकता है। जरूरी होता है कि अपराधी घटना के बाद कार्रवाई सरकार करती हैं या नहीं शराब के मामले मिलने पर सरकार कड़ी कार्रवाई कर रही है।
  • BJP विधायक संजय सरावगी ने कहा कि अधिकारी विधायकों की बात नहीं सुनते हैं। विधायक दल की बैठक में यह मामला उठा है। इसको लेकर कई बार मुख्य सचिव स्तर तक पत्र लिखे गए हैं।
  • भाई बीरेंद्र और संजय सरावगी में गाली गलौज मामले में सदन में विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा ने कहा कि छोटी सी गलती देश की मीडिया में चल रही है। लोग हम से पूछते हैं, सदन की प्रतिष्ठा बढ़े यह सबों की जिम्मेदारी है। जनप्रतिनिधियों को अग्निप्रक्षा देनी पड़ रही है। हमें कलंकित करने का लगातार प्रयास हो रहा है। कल विधान परिसर में जो भी हुआ ठीक नहीं हुआ। सदन की गरिमा को बनाए रखें।
  • कार्य मंत्रणा की बैठक में होगी चर्चा, बिना जांचे परखे किसी पर आरोप लगाना ठीक नहीं, सभी विधायक हमारे परिवार और भाई की तरह।
  • पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक नीतीश मिश्रा ने श्रम संसाधन विभाग पर सवाल उठाया। उन्होंने बोला कि जितने युवाओं को प्रशिक्षित किया जा रहा, उन्हें रोजगार नहीं दिया जा रहा। अगर रोजगार दिया जा रहा, तो मंत्री इसकी सूचना दें। हालात ये है कि जिस कंपनी को रोजगार देने का जिम्मा दिया गया है, वो इसमें विफल हो रही। कंपनी सिर्फ 20 फीसदी राशि कटौती कर अपनी जिम्मेदारी से मुक्त हो रही। सरकार की ओर से बताया जाए- ऐसी व्यवस्था कब तक चलेगी।
  • श्रम संसाधन मंत्री जीवेश मिश्रा का जवाब- कोरोना की वजह से परेशानी हुई। जितने लोगों को प्रशिक्षित किया गया, उसमें 15 फीसदी को रोजगार दिया गया। जो कंपनी प्रशिक्षण के बाद रोजगार नहीं देगी, उसे 20 फीसदी राशि की कटौती नहीं करने दी जाएगी। ग्रेडिंग के जरिए इसकी व्यवस्था की जा रही है।
  • नीतीश कुमार बोले कि अभी तीन लोगों की बात सुने और यह तीनों मंत्री थे। जब यह मंत्री थे तो उस समय क्या व्यवस्था थी। हमें बता दें। हमने पहले ही सारे अधिकारियों को निर्देश दे दिया है कि अगर सभी जनप्रतिनिधि हो तो उनका नाम भी रहे।
  • राजद विधायक को कहा कि अपने विभाग को बोल दें क्या जांच करने के लिए। नीतीश ने विजय शंकर दुबे ओर अवधबिहार चौधरी को दिलाया उनके मंत्री काल की याद ,90 और उस पहले की भी की। नीतीश बोले- विजय शंकर दुबे आप मंत्री थे। मैं MLA था, बगल में ही रहता था याद कर लीजिए। हमने पहले भी अपने विभाग के लोगो यह निर्देश दिया है कि जब भी कोई शिलान्यास के लिए मुझे कहा जाता है तो मैं पहले उसकी सारी जानकारी प्राप्त कर लेता हूं उसके बाद ही शिलान्यास करता हूं।
  • बीजेपी विधायक नीतीश मिश्रा पर भी कसा तंज। हमने सुना आप बहुत लंबा चौड़ा बोले आप भी मंत्री थे क्या व्यवस्था थी वह भी देख लीजियेगा। अगर अभी नए मंत्री से कहीं लेट हुआ है तो उसे देखावा लिया जाएगा। नीतीश ने BJP, RJD, कांग्रेस के विधायक और पूर्व मंत्री को याद दिलाई उनके शासनकाल की। बोला आपके मंत्री रहते क्या व्यवस्था थी, याद है न? सीएम ने पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा से कहा कि बहुत लंबा भाषण दिए जरा अपना मंत्री काल भी याद कीजिए।
  • बिहार भूमि दाखिल खारिज संसोधन विधेयक विधानसभा से पास। अब जमीन के दाखिल खारिज के साथ नक्शे में भी हो जाएगा परिवर्तन। राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय का सदन में बयान। हम सदस्यों से भी अपनी जमीन का म्यूटेशन कराने की अपील करते हैं। नए कानून ने आम लोगों को काफी राहत मिलेगी। भूमि बिक्री में धांधली करने वाले अपने मंसूबे में कामयाब नहीं होंगे।
  • विधानसभा की कार्यवाही गुरुवार 11:00 बजे तक के लिए स्थगित

विधान परिषद अपडेट्स

  • बिहार विधान परिषद में भाकपा माले विधायकों का प्रदर्शन शुरू, विश्वविद्यालय ने भ्रष्टाचार के मामले के विरोध में कृषि उत्पादों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानूनी दर्जा देने की मांग उठाई।
  • AIMIM विधायकों का प्रदर्शन, विधानसभा परिसर में कर रहे प्रदर्शन, बाढ़ सुरक्षा को लेकर कर रहे प्रदर्शन, सीमांचल के क्षेत्र में बाढ़ से कटाव का स्थाई निदान की मांग कर रहे हैं। कटाव ग्रस्त परिवारों को मुआवजा देने की मांग की।
  • विधान परिषद की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित।

विधान सभा की कमेटी बनाने का फैसला
संजय सरावगी के सवाल पर विधानसभा की कमेटी बनाने का फैसला। ग्रामीण कार्य विभाग के मामले पर सदन में जोरदार हंगामा। संजय सरावगी ने किया था दरभंगा के अधीक्षण अभियंता के यहां से राशि मिलने पर सवाल। अभियंता के पास से मिले थे 65 हजार, गाड़ी से 18 लाख और घर से मिले थे 45 लाख। ग्रामीण कार्य विभाग के मंत्री जयंत राज के सवाल से संतुष्ट नहीं हुए विधायक। सत्तापक्ष के साथ विपक्षी सदस्यों ने किया जोरदार हंगामा। दोनों पक्ष के विधायकों की मांग को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने मामले की जांच कराने का फैसला लिया। बोले- विधानसभा की कमेटी के सदस्य करेंगे मामले की जांच, देंगे रिपोर्ट। भ्रष्टाचार के मामलों को सदन अब पूरी गंभीरता से लेगा और उन पर विशेष नजर होगी।

अल्प सूचित और तारांकित प्रश्न से होगी शुरुआत
बुधवार को बिहार विधानसभा में अल्प सूचित और तारांकित प्रश्न से शुरुआत होगी। जिसका जवाब सरकार के प्रभारी मंत्री देंगे। वहीं आज 2 ध्यानाकर्षण सूचनाएं लाई जाएंगी। पहली विधायक नीतीश मिश्रा ग्रामीण कार्य विभाग के लिए ध्यानाकर्षण लाएंगे और दूसरा विधायक अमरजीत कुशवाहा, सुदामा प्रसाद और अन्य चार विधायक मिलकर पर्यटन विभाग और कला संस्कृति एवं युवा विभाग के लिए ध्यानाकर्षण लाएंगे। आज बिहार विधानसभा में वित्त विभाग के प्रभारी मंत्री द्वारा भारत के संविधान के अनुच्छेद 151 का अनुसरण करते हुए बिहार सरकार का 31 मार्च 2020 की समाप्त हुए 2019- 21 के प्रतिवेदन वित्तीय लेखा-जोखा विनियोग लेखे, राज्य का वित्त सदन पटल पर रखा जाएगा।

लंच के बाद बिहार सरकार के तरफ से बिहार भूमि दाखिल खारिज संशोधन विधेयक 2021 राजकीय विधायक को पुनः स्थापित करने की अनुमति मांगी जाएगी। इस पर चर्चा भी की जाएगी।

खबरें और भी हैं...