पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX62118.260.57 %
  • NIFTY18477.050 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47184-1.49 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62935-0.03 %

हेमंत-तेजस्वी की मुलाकात पर सुशील मोदी का तंज:कहा- पहले अपने कुशासन से बिहार का मजाक बनवाया, अब बिहारी बोली का अपमान करने वालों से हाथ मिला रहे

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राज्यसभा सांसद सुशील मोदी (फाइल फोटो)। - Money Bhaskar
राज्यसभा सांसद सुशील मोदी (फाइल फोटो)।

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से तेजस्वी यादव की मुलाकात पर भाजपा ने राजद को घेरा है। राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने इस मुलाकात को 'बिहारियों का अपमान करनेवालों के साथ राजद का लगाव' करार दिया है। भोजपुरी और मगही बोलने वाले के खिलाफ हेमंत सोरेन के दिए बयान पर भाजपा हर रोज नए हमले कर रही है। अब इस मुद्दे को भाजपा ने हेमंत सोरेन और तेजस्वी यादव की मुलाकात से जोड़ दिया है।

मोदी ने कहा है- 'तेजस्वी यादव बिहार की भाषा का अपमान करने वालों से हाथ मिला रहे हैं। करीब 5 दिन पहले हेमंत सोरेन के दिए बयान पर सुशील मोदी ने राजद और लालू प्रसाद से जवाब मांगा था। तेजस्वी यादव और उनकी पार्टी की तरफ से झारखंड CM के बयान पर तब राजद ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी। राजद के प्रवक्ताओं ने तो इसे लेकर हेमंत सोरेन का बचाव तक किया था।

हिन्दी दिवस पर हेमंत सोरेन ने दिया था विवादित बयान

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भोजपुरी और मगही बोलने वाले लोगों को डोमिनेटिंग नेचर यानी वर्चस्‍व चाहने वाला बताया था। उन्होंने कहा था- 'अविभाजित बिहार में झारखंड की महिलाओं के साथ गलत काम करने वाले ये भाषाएं बोलते थे। झारखंड के आंदोलन के वक्‍त भोजपुरी में गालियां दी जाती थीं। इन दोनों भाषाओं का झारखंड के आंदोलन से कोई लेना-देना नहीं है और ये बिहार की भाषाएं हैं।' बता दें, हेमंत सोरेन की पार्टी झामुमो के साथ राजद गठबंधन में है।

खबरें और भी हैं...