पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60777.73-0.24 %
  • NIFTY18161.8-0.09 %
  • GOLD(MCX 10 GM)473800.04 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646780.63 %

बिहार में फेमिली प्लानिंग का नया प्लान:अब हर माह 21 तारीख को मनाया जाएगा फेमिली प्लानिंग डे और 9 तारीख को हेल्थ सेंटर पर प्रसूताओं की होगी काउंसलिंग

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य विभाग ने जारी कर दिया है आदेश, 21 सितंबर को पहली बार बिहार में आयोजन होगा। - Money Bhaskar
स्वास्थ्य विभाग ने जारी कर दिया है आदेश, 21 सितंबर को पहली बार बिहार में आयोजन होगा।

बिहार में फेमिली प्लानिंग को लेकर नया प्लान तैयार किया गया है। अब हर माह की 9 तारीख काे हेल्थ सेंटर पर प्रसूताओं की काउंसलिंग कराई जाएगी और 21 तरीख को फेमिली प्लानिंग डे मनाया जाएगा। बिहार सरकार इस मामले को लेकर काफी गंभीर है, परिवार नियोजन को लेकर कई ऐसे प्लान तैयार किए गए हैं। सितंबर माह की 21 तारीख को पहली बार बिहार में फेमिली प्लानिंग डे मनाया जाएगा।

21 सितंबर को लेकर तैयारी

स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि परिवार नियोजन को लेकर बिहार सरकार कई प्लान पर काम कर रही है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का कहना है कि छोटा परिवार ही खुशी का अधार होता है। अब समुदाय स्तर पर परिवार नियोजन के प्रति जागरूकता और स्वीकार्यता पर सरकार का पूरा जोर दे रही है। इसके व्यापक प्रचार-प्रसार को लेकर विभाग बड़ी पहल करने जा रही है। इसके तहत अब हर माह की 21 तारीख को फेमिली प्लानिंग डे मनाने का निर्णय लिया गया है। इस बार 21 सितंबर को पहली बार इसका आयोजन किया जाएगा। इस खास दिन सभी चिकित्सा संस्थानों पर परिवार नियोजन को बढ़ावा देने को लेकर विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जाएंगी।

फेमिली प्लानिंग डे पर ऐसे होगा काम

स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि परिवार नियोजन सेवाओं को सुलभ बनाने के उद्देश्य से बिहार में बड़ी पहल की जा रही है। इस कार्यक्रम की शुरुआत बिहार में बड़े बदलाव की तैयारी को लेकर की जा रही है। इससे अनचाहे गर्भ के मामले, मातृत्व मृत्यु दर, नवजात मृत्यु दर व प्रसव संबंधी जटिलता के मामलों में कमी लाने की दिशा में बड़ा प्रयास किया जाएगा।

असुरक्षित गर्भपात पर लगेगा अंकुश

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि परिवार नियोजन के कार्यक्रम से आम लोगों तक नियोजन सेवाओं की आसान पहुंच होगी। इससे असुरक्षित गर्भपात के मामलों में कमी आएगी। इससे मातृत्व व शिशु मृत्यु दर में गिरावट, एचआईवी संक्रमण से बचाव, महिला सशक्तिकरण के साथ-साथ सामाजिक व आर्थिक विकास को तेज किया जा सकता है। विशेष दिवस के दिन नियोजन संबंधी विकल्पों में से इच्छुक दंपति किसी एक का चयन करते हैं, तो उन्हें सुविधा उपलब्ध कराने का सारा इंतजाम होगा। चिकित्सा संस्थानों पर आयोजित होने वाले परिवार नियोजन दिवस का क्षेत्र में व्यापक प्रचार-प्रसार भी कराया जाएगा।

प्रसूताओं की होगी काउंसलिंग

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने विशेष कार्यक्रम को लेकर कहा कि आयोजन की सफलता को लेकर हर स्तर पर अनुश्रवण व मूल्याकंन का इंतजाम सुनिश्चित कराया जाएगा। इसी तरह प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत हर माह की 9 तारीख को सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर गर्भवती महिलाओं की काउंसिलिग का इंतजाम सुनिश्चित कराया जाएगा। एएनसी जांच के लिए आने वाली महिला व उनके परिजन को नियोजन संबंधी उपायों के प्रति जागरूक करते हुए उनका पंजीकरण किया जाएगा। परिवार नियोजन दिवस की सफलता काे लेकर जिलों में तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

खबरें और भी हैं...