पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दिसंबर में राज्य से कालाजार उन्मूलन की घोषणा की उम्मीद:कालाजार मुक्त घोषित है जिला, लेकिन आधे मरीजों को अबतक नहीं मिली प्रोत्साहन राशि

मुजफ्फरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मुजफ्फरपुर जिला काे कालाजार मुक्त जिला घाेषित कर दिया गया है। लेकिन यहां इस वर्ष जाे मरीज मिले हैं, उनमें से आधे से अधिक काे सरकार की ओर से मिलने वाली प्राेत्साहन राशि तक नहीं मिली है। जिला मलेरिया कार्यालय के आंकड़ों के अनुसार, जिले में इस वर्ष जनवरी से अक्टूबर तक वीएल के कुल 36 और पीकेडीएल के 38 मरीज मिले हैं। इनमें वीएल के 13 और पीकेडीएल के 15 मरीजाें काे प्राेत्साहन राशि नहीं दी जा सकी है।

बताया जाता है कि इन मरीजाें काे इस राशि के लिए आवंटन भी सरकार की ओर से मिल चुका है। मुजफ्फरपुर समेत राज्य में यह बीमारी उन्मूलन की ओर है। कालाजार का प्रकाेप से अब सिर्फ सिवान के गाेरियाकाेठी और सारण के हिसुआपुर प्रखंड ही प्रभावित है। कालाजार का प्रकाेप मुजफ्फरपुर समेत राज्य में 5.3 प्रतिशत ही है। केंद्र सरकार का मानक के अनुसार, 10 हजार की जनसंख्या पर एक से कम मरीज हाेने पर कालाजार काे उन्मूलन माना जाता है। एसपीओ डाॅ. विनय कुमार शर्मा ने बताया कि मानक से कम आने के कारण इसी वर्ष दिसंबर में राज्य से कालाजार का उन्मूलन की घाेषणा हाेने की उम्मीद है।

अब सभी जिलों में हाेगी जांच
नेशनल वेक्टर बाॅर्न डिजीज कंट्राेल प्राेग्राम के तहत कालाजार उन्मूलन के लिए प्रत्येक जिले में बालू मक्खी के डेनसिटी की जांच कराई जाएगी। जिले में कितने बालू मक्खी है। इसमें मेल और फिमेल कितने है। फिमेल बालू मक्खी में कितनी गर्भवती है आदि की जांच हाेगी।

दवा के साइड इफैक्ट से मरीजों की आंख पर असर
चमडे के कालाजार के दवा खाने से मरीज के स्वास्थ्य पर साइड इफैक्ट हाे रहा है। दवा खाने से मरीज का आंख खराब हाे रहा है। मुजफ्फरपुर में भी साहेबगंज और पारू में एक-एक मरीज काे आंख की समस्या हुई है। इसके लिए इलाज शुरू हाेने से पहले आंख का इलाज शुरू करने का निर्देश दिया गया। आंख ठीक हाेने के बाद ही दवा खिलाई जाएगी।

कैसे होता है कालाजार रोग
कालाजार बालू मक्खी के काटने से होता हैं। इसी बीमारी में लंबे समय तक बुखार रहता है। वजन घटता है। त्वचा काला पड़ने लगता है।

इलाज के दौरान मिलती है 7100 रुपए प्रोत्साहन राशि : मुख्यमंत्री राहत कोष से 6600 तथा नेशनल हेल्थ मिशन से 500 रुपए मिलता है।

4 वर्षो में जिले में कालाजार मरीज
वर्ष वीएल पीकेडीएल

2019 258 24
2020 156 26
2021 80 46
2022 36 38

खबरें और भी हैं...