पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

CSP कर्मी मर्डर केस में 5 से पूछताछ:जेल से छूटे शातिरों दिया घटना को अंजाम, मोबाइल टावर डंपिंग से सुराग तलाश रही पुलिस

मुजफ्फरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक विकास की फाइल फोटो।

मुजफ्फरपुर जिले के सकरा थाना क्षेत्र के रामनगर में CSP कर्मी विकास कुमार की हत्या मामले में विशेष टीम ने पांच संदिग्धों को उठाया है। ये सभी सकरा इलाके के ही रहने वाले हैं। इनसे पूछताछ कर सत्यापन की कार्रवाई की जा रही है। पुलिस सूत्रों की मानें तो घटना में जेल से जमानत पर छूटे एक शातिर की संलिप्तता सामने आई है। वह घटना के बाद से इलाके से फरार है। पुलिस टीम उसके परिजन पर दबिश बना रही है।

हालांकि, अब तक उसके बारे में कोई ठोस सुराग हाथ नहीं लगा है। अपराधियों की पहचान और गिरफ्तारी को लेकर घटनास्थल के समीप टावर डंप भी कराया गया। सूत्र बताते हैं कि दो संदिग्ध मोबाइल नंबर पुलिस के हाथ लगे हैं। इसका पूरा डिटेल्स खंगाल जा रहा है।

संचालिका के पति से भी हुई पूछताछ बता दें की सेंट्रल बैंक का CSP पूजा कुमारी के नाम पर संचालित हो रहा है। विकास इसमें पिछले छह महीने से काम कर रहा था। पूजा के पति दिलीप से भी पुलिस ने कई बिंदुओं पर पूछताछ की है। इसके बाद उसे बांड पर छोड़ा गया। पुलिस ने उससे CSP सेंटर के बारे में और वहां आने जाने वालों के बारे में पूछताछ कर रही थी।

रैकी कर घटना को दिया था अंजाम

पुलिस जांच में पता लगा कि अपराधियों ने एक सप्ताह तक रैकी की थी। फिर लूटपाट की घटना को अंजाम दिया था। विरोध करने पर विकास को गोली मारी थी। जिससे उसकी मौत हो गई थी। कहा जा रहा है की अपराधी आसपास के ही रहने वाले थे। उन्हें पता था की विकास कैश लेकर कब आता जाता है। सुबह के समय कितना कैश होता है। इन सब बातों की जानकारी जुटाने के बाद ही घटना को अंजाम दिया गया था।

खबरें और भी हैं...