पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना के एक्टिव केस में दूसरे स्थान पर मुजफ्फरपुर:जनवरी में संक्रमण की हुई अप्रत्याशित बढ़ोतरी, सबसे अधिक पटना में तो तीसरे नंबर पर है समस्तीपुर

मुजफ्फरपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मुजफ्फरपुर में कोरोना का कहर तेजी से बढ़ रहा है। यहां पर कोरोना के मामले पीक पर हैं। प्रतिदिन दो सौ से अधिक मरीज मिल रहे हैं। कोरोना के एक्टिव केस के मामले में बिहार में मुजफ्फरपुर दूसरे स्थान पर है। पहले स्थान पर पटना और तीसरे पर समस्तीपुर है। मुजफ्फरपुर में फिलहाल कोरोना के 1858 एक्टिव केस हैं। जबकि समस्तीपुर में 1293 एक्टिव केस हैं। चौथे नंबर पर पूर्वी चंपारण हैं। यहां नए केस की संख्या 660 है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार 30 दिसंबर को मुजफ्फरपुर में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या महज 6 थी। जो 14 जनवरी तक बढ़कर 1858 हो गई है। 14 दिन में अधिक संक्रमित मिले हैं।

जिले में अप्रत्याशित बढ़ोतरी
छह से सौ तक पहुंचने में एक सप्ताह का भी समय नहीं लगा। अब तो तीन सौ का आकंड़ा भी पार हो चुका है। रविवार को जिले में 333 नए मरीज मिले। जनवरी में अप्रत्याशित बढ़ोतरी देखने को मिली है। आंकड़ा दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है। लेकिन, विभाग की तरफ से कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। जो प्रतिबन्ध लगाए गए हैं। उससे भी कोई फर्क अबतक नहीं देखने को मिला है। सरकार द्वारा जो गाइडलाइन जारी किया गया है। उसका पालन कराने के लिए पदाधिकारी सड़क पर हैं। पर कोई फायदा नहीं मिल रहा है। हर दिन कोरोना के केस बढ़ते ही जा रहे हैं। गनीमत बस यह है कि मरीजों की हालत नहीं बिगड़ रही है।

कन्टेन्टमेंट जोन की चर्चा नहीं
पहली और दूसरी लहर की तुलना में इस बार सारे रिकॉर्ड टूट चुके हैं। लेकिन, अबतक कन्टेन्टमेंट जोन बनाने पर न तो स्वास्थ्य विभाग गम्भीर है और न जिला प्रशासन की तरफ से इसपर कोई निर्णय लिया गया है। नतीजा कई इलाके तो हॉटस्पॉट बनते जा रहे हैं। जिसमें शहरी क्षेत्र में बीबीगंज, मिठनपुरा और कलमबाग रोड है तो ग्रामीण इलाकों में कांटी और मुहशरी है।

खबरें और भी हैं...