पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Bihar
  • Muzaffarpur
  • Broken Sleep After The Notice Of The Department, The Construction Agency Has A Target Of Casting One Lane From Hathi Chowk To Leprosy Mission By March

सड़क खोदकर छोड़ देने से परेशानी:विभाग के नोटिस के बाद टूटी नींद, निर्माण एजेंसी को मार्च तक हाथी चौक से लेप्रोसी मिशन तक एक लेन की ढलाई का टारगेट

मुजफ्फरपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
निर्माणाधीन मस्जिद चाैक-गोशाला रोड। - Money Bhaskar
निर्माणाधीन मस्जिद चाैक-गोशाला रोड।

नवयुवक समिति ट्रस्ट से हाथी चौक होते लेप्रोसी मिशन तक सड़क-नाला के निर्माण में शिथिलता को लेकर नोटिस जारी करने के बाद काम में तेजी आई है। हाथी चौक से लेप्रोसी मिशन तक एक लेन की ढलाई मार्च तक कंप्लीट करने का टारगेट दिया गया है। नवयुवक समिति ट्रस्ट से लेप्रोसी मिशन तक अगस्त माह तक सड़क-नाला निर्माण का काम पूरा करना है। हाथी चौक से गोशाला रोड होते हुए लेप्रोसी मिशन तक सड़क खोदकर छोड़ देने से लोगों को परेशानी हो रही थी। पथ निर्माण विभाग द्वारा नोटिस जारी करने के बाद निर्माण एजेंसी की नींद टूटी है।

एक लेन का नाला बनाने के बाद दूसरी लेन में भी काम शुरू किया गया है। हर हाल में मार्च तक ढलाई कर लेने का टारगेट दिया गया है। दूसरी ओर, मस्जिद चौक से श्यामनंदन सहाय कॉलेज, सभा चौक होते हुए काजीइंडा तक 10 किलोमीटर बन रही है। पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता इंजीनियर अंजनी कुमार का कहना है कि मस्जिद चौक से सभा चौक तक 72 सौ मीटर सड़क का चौड़ीकरण कर 7 मीटर बनाना है। 15 सौ मीटर में बहुत हद तक काम कर लिया गया है। काम तेजी से चल रहा है। वहीं, सभा चौक से काजीइंडा तक सड़क को 5 मीटर चौड़ा करना है।

एमआईटी रोड में जलजमाव पर मेयर ने जताई आपत्ति
मुजफ्फरपुर | तकरीबन 84 करोड़ रुपए स्मार्ट सिटी के तहत खर्च हो चुके हैं। लेकिन, स्मार्ट सिटी की एक भी योजना अभी पूरी नहीं हुई है। 6 माह से ज्यादा समय से निर्माणाधीन बैरिया-लक्ष्मी चौक रोड में एक लेन नाला तक नहीं बना। सड़क जर्जर और पानी से लबालब होने से लोग दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। मेयर इंजीनियर राकेश कुमार पिंटू ने सड़क की इस दुर्दशा पर कड़ी आपत्ति जताते हुए स्मार्ट सिटी के सीईओ से रिपोर्ट तलब की है। सीईओ भूदेव चक्रवर्ती सोमवार को वर्चुअल स्मार्ट सिटी के काम की समीक्षा करेंगे। अभी बैरिया से ब्रह्मपुरा तक ड्रेनेज बनाने का काम चल रहा है।

खबरें और भी हैं...