पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विधानसभा उपचुनाव:बोचहां से भाजपा ने की दावेदारी, सांसद निषाद ने कहा- पार्टी के सम्मान के लिए चुप नहीं बैठेंगे, मुकेश सहनी मौकापरस्त

मुजफ्फरपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रत्याशी काे लेकर चर्चा करते सांसद, जिलाध्यक्ष व पार्टी के अन्य पदाधिकारीगण। - Money Bhaskar
प्रत्याशी काे लेकर चर्चा करते सांसद, जिलाध्यक्ष व पार्टी के अन्य पदाधिकारीगण।

विधानसभा उपचुनाव की घोषणा से पहले ही बोचहां सीट को लेकर एनडीए में घमासान हाेने लगा है। जिला भाजपा ने इस सीट से दावेदारी करते हुए वीआईपी पर हमला बोलना शुरू कर दिया है। सांसद अजय निषाद ने कहा कि मुकेश सहनी मौकापरस्त हैं। व्यक्तिगत भावना को दरकिनार कर कार्यकर्ताओं ने विस चुनाव में गठबंधन धर्म का पालन किया। लेकिन, अब पार्टी के मान-सम्मान के लिए चुप नहीं बैठेंगे।

यह सीट गठबंधन में वीआईपी काे मिली थी। मुसाफिर पासवान विधायक बने। उनके निधन से यह सीट खाली है। वीआईपी से अब उनके बेटे काे उतारे जाने की चर्चा है। जबकि, भाजपा की प्रदेश महामंत्री पूर्व विधायक बेबी कुमारी फिर यहीं से टिकट पाने की जुगत में हैं। यूं ताे भाजपा ने अभी पत्ता नहीं खाेला है, लेकिन दावेदारी पर चर्चा के लिए रविवार को सांसद ने क्लब रोड स्थित होटल में कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई।

जिलाध्यक्ष रंजन कुमार बाेले- बोचहां में भाजपा के मजबूत हाेने पर भी वीआईपी को दी गई थी सीट
जिलाध्यक्ष रंजन कुमार ने कहा कि बोचहां में भाजपा मजबूत होने पर भी सीट वीआईपी काे दी गई और कार्यकर्ताओं ने गठबंधन धर्म निभाते हुए जीत दिलाई। लेकिन, गठबंधन में रहते हुए भी वीआईपी नेता भाजपा के विरुद्ध बाेल रहे हैं। इसलिए कार्यकर्ता अब चुप नहीं रहेंगे। बोचहां के मंडल अध्यक्ष व पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं का यहां से अब भाजपा के ही चुनाव लड़ने का प्रस्ताव है। उनकी भावना से पार्टी नेतृत्व को अवगत कराया जाएगा।

सांसद ने कहा कि निषाद समाज पहले से बीजेपी के साथ है। फिर भी गठबंधन में वीआईपी को शामिल करना भूल थी। मुकेश सहनी यूपी में समर्थन करते तो कार्यकर्ता यहां भी विचार करते। वे मौकापरस्त हैं और उनका एनडीए में रहना गठबंधन के हित में नहीं। बैठक में धर्मेंद्र साहू, सचिन कुमार, मनोज सिंह, आलोक राजा, संचित शाही, ओंकार पासवान, कुंदन कुमार, धर्मेंद्र चौधरी, सत्येंद्र शर्मा, उमेश पांडेय, सतीश कुमार, शंकर सिंह, मनोज पिंटू, चुन्नू यादव, अखिलेश्वर शर्मा, शिवकुमार सिंह, नरेंद्र झा, अनिल यादव, रंधीर कुमार, विनोद यादव, सुरेंद्र गुप्ता, गोविंद कुमार, पवन दुबे, धनंजय झा, प्रिंस कुमार आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...