पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नशामुक्ति का संदेश:बैगलेस सुरक्षित शनिवार : बगैर बस्ता बच्चे पहुंचे स्कूल, कागज पर उकेरी अपनी कल्पनाएं, भरे रंग

मुजफ्फरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बैगलेस डे के तहत अपनी कलाकृतियां दिखाते बच्चे। - Money Bhaskar
बैगलेस डे के तहत अपनी कलाकृतियां दिखाते बच्चे।

सरकारी स्कूलों में बैगलेस सुरक्षित शनिवार का आयोजन हुआ। छोटे-छोटे बच्चों ने कागज पर अपनी कल्पनाएं उकेर उसमें रंग भरे। किसी ने तितली बनाई तो किसी ने पेड़। किसी ने रंगोली बना कर नशामुक्ति का संदेश दिया। शहर के हरिहर नारायण कन्या मध्य विद्यालय में तीसरी, चौथी के छात्र - छात्राओं ने अपनी रचनात्मकता दिखाई। किसी ने कागज की नाव बनाई तो किसी ने झूला। इसे सबने शिक्षकों को भी दिखाया। शिक्षा विभाग की ओर से शनिवार को बैगलेस बनाया गया है। इसके तहत विभिन्न तरह की एक्टिविटी कराई जानी है। स्कूल की एचएम अर्चना कुमारी ने बताया कि बच्चों के बीच मनोरंजक गतिविधि का आयोजन किया गया। इसमें बच्चों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया।

70 प्रतिशत स्कूलों में नहीं पहुंचे अभिभावक, टंगा रहा बैनर-पोस्टर
जिले के सरकारी स्कूलों में शनिवार को अभिभावक-शिक्षक गोष्ठी हाेनी थी। जिले के 70 फीसदी स्कूलों में अभिभावक पहुंचे ही नहीं। जहां पहुंचे भी, वहां उपस्थिति काफी कम रही। विद्यालयों में बैनर-पोस्टर टंगे ही रह गए। कुछ स्कूलों में अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल पहुंचाने पहुंचे, लेकिन मीटिंग में शामिल नहीं हुए। शिक्षा विभाग के निर्देश पर चहक वैन से गांव-गांव प्रचार अभियान चलाया गया था। इसमें बुनियादी साक्षरता और संख्या ज्ञान की अनिवार्यता और जरूरत पर अभिभावकों की जानकारी दी गई थी। वहीं उन्हें अभिभावक गोष्ठी में पहुंचने के लिए घोषणा की गई थी। बावजूद इसके पैरेंट्स स्कूलों में नहीं पहुंंचे।

खबरें और भी हैं...