पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हादसा:देवी जी मंदिर के पास ट्रक ने अखबार बांटने जा रहे साइकिल सवार युवक को रौंदा

भभुआ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रोते बिलखते परिजन। - Money Bhaskar
रोते बिलखते परिजन।
  • हॉकरों ने एंबुलेंस को एकता चौक पर रोक शव चौराहे पर रख की सड़क जाम

शनिवार सुबह करीब 5 बजे नगर थाना क्षेत्र के देवी जी रोड बाईपास पथ में एक गिट्टी लोडेड बेलगाम ट्रक ने अखबार बांटने जा रहे साइकिल सवार वितरक को ठोकर मार रौंद डाला, हादसे में गंभीर घायल युवक की सदर अस्पताल में प्राथमिक उपचार बाद हायर सेंटर रेफर करने के बाद मोहनिया पहुंचने से पहले मौत हो गई। हादसे में जान गंवा बैठा युवक भभुआ नगर थाना क्षेत्र के दुमदुम गांव निवासी जगदीश चौरसिया का करीब 25 वर्षीय पुत्र मुकेश चौरसिया था, जो अखबार वितरण का काम करता था।

जानकारी के मुताबिक मुकेश चौरसिया शनिवार सुबह करीब 5:10 बजे नगर के एकता चौक स्थित दैनिक समाचार पत्र के सेंटर से अखबार लेकर बांटने के लिए निकला, इस दौरान मुकेश शहर के बाईपास रोड में देवी जी मंदिर के समीप जैसे ही पहुंचा एक बेलगाम गिट्टी लोडेड ट्रक ने साइकिल सवार समाचार पत्र वितरक को ठोकर मारते हुए रौंद डाला, जिससे युवक गंभीर रूप से घायल होकर घटनास्थल पर तड़पने लगा। हादसे के बाद जब तक आसपास के लोगों की भीड़ इकट्ठी होती मौका देख चालक ट्रक छोड़कर फरार हो गया। लोगों ने घायलावस्था में रहे युवक को इलाज के लिए आनन-फानन में सदर अस्पताल भभुआ पहुंचाया, जहां इमरजेंसी वार्ड में भर्ती का ड्यूटी पर रहे चिकित्सक ने घायल का प्राथमिक उपचार कर बेहतर इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर कर दिया। पर एंबुलेंस से हायर सेंटर ले जाने के दौरान घायल युवक ने मोहनिया पहुंचने से पहले एंबुलेंस में ही दम तोड़ दिया।

बीडीओ- सीओ की मौजूदगी में दी गई कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत राशि
इधर, शहर के एकता चौक पर सड़क जाम की सूचना पर सदर थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर मंगलम महतो आरक्षी बल के साथ पहुंचे, लेकिन आक्रोशित मुआवजे और सहायता राशि की मांग पर पड़े रहे,तब सदर थाना इंस्पेक्टर रामानंद मंडल पहुंचे और लोगों को समझाया बुझाया और उन्हें सरकार की ओर से मिलने वाली उचित मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया, तब जाकर लोग माने।तब पुलिस ने कागजी कार्रवाई पूरी करते हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भभुआ भेज दी। यहां चिकित्सक द्वारा पोस्टमार्टम किए जाने के बाद शव पुलिस ने परिजनों को अंतिम संस्कार के लिए सौंप दिया।

3 भाइयों में माझिल था मुकेश
पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भभुआ पहुंचे मृतक के परिजनों से मिली जानकारी के मुताबिक मृतक मुकेश चौरसिया तीन भाइयों में शामिल सबसे बड़ा विकास चौरसिया 28 वर्ष और सबसे छोटा जितेंद्र चौरसिया 22 वर्ष जबकि मुकेश चौरसिया 25 वर्ष मांझिल था। जबकि एक शादीशुदा बड़ी बहन है।सड़क हादसे में मुकेश की मौत के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। माता-पिता समेत भाई बहनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

वितरकों ने एम्बुलेंस से शव उतार चौराहे पर रख कर किया सड़क जाम
इधर, वितरक की मौत से मर्माहत हुए दैनिक समाचार पत्र के वितरकों ने एंबुलेंस को शहर के एकता चौक पर रोक लिया और एम्बुलेंस से शव उतारकर चौराहे पर रख करीब 6.30 से 7:30 बजे तक 1 घंटे तक सड़क जाम कर मुआवजे की मांग करने लगे। इस दौरान एकता चौक पर नगर परिषद के निवर्तमान चेयरमैन जैनेंद्र आर्य उर्फ जॉनी,बजरंग बहादुर सिंह उर्फ मलाई सिंह,अमर देव सिंह, जिला परिषद भाग 3 के सदस्य विकास सिंह उर्फ लल्लू पटेल, कांग्रेस नेता अनिल तिवारी, राजद नेता सह समाजसेवी बिरजू सिंह उत्तम चौरसिया अपूर्व प्रभास व अन्य ने एक स्वर से पीड़ित परिजनों को उचित मुआवजा दिलाए जाने की मांग की। इस बीच जिला परिषद विकास सिंह उर्फ लल्लू पटेल और नगर परिषद के निवर्तमान चेयरमैन जैनेंद्र आर्य ने पीड़ित परिजन को सहायता राशि प्रदान की। सदर थाना इंस्पेक्टर ने बताया है कि पुलिस ने कार्रवाई करते हुए ट्रक को जब्त कर थाने लाई है जबकि चालक फरार है।पुलिस कार्रवाई में जुटी है।

खबरें और भी हैं...