पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

383 महिला प्रशिक्षु बनीं बिहार पुलिस का हिस्सा:पटना रेल DIG ने ली पासिंग आउट परेड, सबसे अधिक मोतिहारी जिला बल से 198 सिपाही

जमुई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जमुई में बुधवार को पुलिस प्रशिक्षण केंद्र में 383 महिला प्रशिक्षु सिपाही का पासिंग आउट परेड संपन्‍न हुआ। पासिंग आउट परेड के बाद सभी 383 महिला प्रशिक्षु बिहार पुलिस का हिस्‍सा बन गईं। जिसमें मोतिहारी जिला बल से 198, समस्तीपुर से 69, मधुबनी से 82, बांका से 21, नवगछिया से 13 प्रशिक्षु महिला सिपाही ने भाग लिया। जो बिहार के अलग-अलग जिलों में पदस्थापित होकर अपना योगदान बिहार पुलिस के लिए देगी। एक साल से जमुई स्थित मलयपुर पुलिस लाइन केंद्र में बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस द्वारा इन्हें प्रशिक्षण दिया जा रहा था।

जमुई जिले के मलयपुर स्थित बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस की 11वीं वाहिनी द्वारा ट्रैनिंग लेने वाला यह पहला बैच है। एक साल के कठिन ट्रेनिंग लेने के बाद बिहार पुलिस टीम की हिस्सा बनने पर महिला सिपाही काफी खुश दिखीं।परेड में बेहतर प्रदर्शन करने पर प्लाटून नं 1 के कमांडर अंजली कुमारी ,प्लाटून नं 2 के कमांडर प्रियंका कुमारी, प्लॉट नंबर 7 के कमांडर रुकसाना खातून को अधिकारियों ने मेडल देकर सम्मानित किया। अंजली,प्रियंका, रुकसाना खातून ने बताया कि उन्हें आज गर्व हो रहा है कि वे लोग बिहार पुलिस टीम की हिस्सा बन गई हैं।

इस मौके पर जमुई के DM अवनीश कुमार सिंह ,जमुई SP और बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस 11वीं वाहिनी के कमांडेंट के अलावा पटना रेल डीआईजी मुख्य रूप से शामिल हुए।इस मौके पर पासिंग परेड कराने पहुचे पटना रेंज के रेल डीआईजी राजीव रंजन ने सभी महिला सिपाहियों को शुभकामनाएं और बधाई दिए। रेल डीआईजी राजीव रंजन ने बताया कि बिहार सरकार जिस तरह महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए योजनाएं चला रही हैं। यह उसी का नतीजा है कि आज इतनी बड़ी तादाद में महिला सिपाही बिहार पुलिस में शामिल हो रही हैं।