पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57696.46-1.31 %
  • NIFTY17196.7-1.18 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47361-0.07 %
  • SILVER(MCX 1 KG)606850.05 %

बैठक:शहर में नाला व सड़क निर्माण में खर्च का मांगा ब्योरा कार्य में त्रुटियों को अविलंब सुधारने के दिए निर्देश

सहरसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
समीक्षात्मक बैठक में मंत्री, विधायक, डीएम व अन्य। - Money Bhaskar
समीक्षात्मक बैठक में मंत्री, विधायक, डीएम व अन्य।
  • कला संस्कृति मंत्री व विधायक ने इंजीनियरों, पदाधिकारियों के साथ बैठक कर योजनाओं की समीक्षा की
  • नप, बुडको व पथ निर्माण विभाग ने किया है नालों का निर्माण, आपसी तालमेल न होने से हुई त्रुटि

नगर परिषद, बुडको व पथ निर्माण विभाग द्वारा नाला निर्माण त्रुटिपूर्ण होने के कारण इस साल शहर में जलजमाव की समस्या गंभीर हुई। दो सालों में शहर में नप द्वारा नालों के निर्माण पर कितनी राशि खर्च हुई और कहां-कहां नाला का निर्माण हुआ ब्योरा समर्पित करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही जिले में शहरी क्षेत्र सहित पथ निर्माण विभाग द्वारा बीते पांच सालों में संचालित की गई योजना का ब्योरा जमा करने का निर्देश विभाग के इंजीनियर को दिया है। सोमवार को कला संस्कृति मंत्री डॉ. आलोक रंजन, महिषी के जदयू विधायक गुंजेश्वर साह ने डीएम कौशल कुमार की मौजूदगी में उनके वेश्म में योजना, विकास से जुड़े सभी विभागों के इंजीनियरों और पदाधिकारी के साथ बैठक कर विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। मंत्री आलोक रंजन ने कहा नाला के त्रुटिपूर्ण निर्माण और एक दूसरे से संयोजन नहीं होने के कारण इस साल शहर के कुछ इलाकों में जलजमाव की समस्या पहले से अधिक गंभीर हुई है। सभी नाला का संयोजन एवं एक लेवल में करने के लिए त्रुटियों का निराकरण करने का निर्देश इंजीनियरों को दिया। पथ निर्माण विभाग की समीक्षा में विगत पांच वर्षों में सड़क मरम्म्त के संबध में क्या-क्या कार्य हुए और इस मद में कितनी राशि व्यय हुई इसका प्रतिवेदन कार्यपालक अभियंता को देने के लिए कहा गया। मंत्री और जदयू विधायक ने कर्णपुर-राजनपुर, नवहट्‌टा-बिहरा, चांदनी चौक से सुलिन्दाबाद होते सोनवर्षा कचहरी तक की सड़कों की मरम्मत एक माह में पूरा कराने का निर्देश दिया। डीएम ने नगर परिषद सहरसा के अंतर्गत विगत दो वर्षों की समयावधि में कराए गए नाला एवं सड़क निर्माण कार्य का विवरण उपलब्ध कराने का निर्देश दिया ताकि जांचोपरांत अनियमितता पाए जाने पर नगर विकास विभाग को कारवाई के लिए प्रतिवेदित किया जाए। पथ निर्माण विभाग से कहा गया कि जहां नाला निमार्ण त्रुटिपूर्ण है, उसे दस दिनों के अंदर सुधार लें। पथ निर्माण विभाग के नालों का बुडको के नालों के संयोजन के लिए आवश्यक कार्रवाई करने का आदेश दिया।

योजनाबद्ध नाला निर्माण की सलाह
मंत्री आलोक व विधायक गुंजेश्वर सोमवार को डीएम कार्यालय में तकनीकी विभागों द्वारा विकास योजनाओं के तहत अधिसंरचात्मक निर्माण कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। मंत्री ने डीएम से कहा कि त्रुटिपूर्ण नाला निर्माण के लिए संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जाए। उन्होंने नप की निधि से बने नालों के निर्माण की जांच कराने का भी सुझाव दिया ताकि भविष्य में जल निकासी की समुचित व्यवस्था के लिए सर्वे करा कर योजनाबद्ध नाला निर्माण की सलाह दी। मंत्री ने कहा जरूरत पड़ी तो पूरी सूची जांच के लिए मुख्यमंत्री को सौंप देंगे।

जलापूर्ति योजना की हुई समीक्षा
शहरी क्षेत्र में हर नल जल निश्चय योजना के अंतर्गत जलापूर्ति की समीक्षा की गई। डीएम ने कहा कि जहां पंप हाउस पूर्ण हुआ वहां क्लोरीमीटर संस्थापित कराते हुए शुद्ध जल की आपूर्ति सुनिश्चित हो। नगर क्षेत्र में जलापूर्ति के संदर्भ में मंत्री आलोक रंजन ने शहरी क्षेत्र में क्रियान्वित सभी पंप हाउस की जिला स्तरीय पदाधिकारियों से जांच कराने का निर्देश दिया।

पंप हाउस निर्माण का निर्देश
डीएम ने जल निकासी के लए पॉलिटेक्निक ढाला एवं आयुक्त कार्यालय के पास बनने वाले पंपिंग स्टेशन की कार्य प्रगति पर असंतोष व्यक्त करते हुए यथाशीघ्र निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिसंबर तक पूरा करने का आदेश दिया। डीएम ने गांधी पथ, न्यू कॉलनी क्षेत्र में हो रहे जलजमाव की समस्या के संदर्भ में एक अन्य तीसरा पंपिग स्टेशन निर्माण हेतु प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया ।

खबरें और भी हैं...