पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57858.150.64 %
  • NIFTY17277.950.75 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486870.08 %
  • SILVER(MCX 1 KG)63687-1.21 %
  • Business News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Mayor Furious Over No confidence Motion, Bid Proposal Came With The Connivance Of Municipal Commissioner, I Will Expose Everyone

भागलपुर नगर निगम में शुरू हुई तनातनी:अविश्वास प्रस्ताव पर भड़की मेयर, बोली- नगर आयुक्त की मिलीभगत से आया प्रस्ताव, सबकी पोल खोलूंगी

भागलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भागलपुर की मेयर सीमा साह। - Money Bhaskar
भागलपुर की मेयर सीमा साह।

भागलपुर नगर निगम में अविश्वास प्रस्ताव पर चल रहा घमासान अब तनातनी में बदल गई है। एक तरफ खुद मेयर हैं तो दूसरी ओर उनके विरोध में वार्ड पार्षद। ऐसे में शुक्रवार की शाम में मेयर सीमा साह काफी तल्ख दिखी। उन्होंने कहा कि यह सब खेल नगर आयुक्त के मिलीभगत से हो रहा है। वहीं, नगर आयुक्त प्रफ्फुलचन्द यादव ने कहा- मेरे ऊपर लगाए गए आरोप निराधार है। अविश्वास प्रस्ताव लाना पार्षदों का लोकतांत्रिक अधिकार है।

अविश्वास प्रस्ताव को बताया गलत
अविश्वास प्रस्ताव पर मेयर सीमा साह ने कहा कि यह अविश्वास प्रस्ताव कानून के हिसाब से तर्कसंगत नहीं है। अविश्वास प्रस्ताव को लेकर जो पत्र नगर आयुक्त द्वारा भेजा गया है, उसमें जिस नगर निगम एक्ट 25 (4) का जिक्र किया गया है। वह नगर निगम के नियमावली में कहीं खोजने पर नहीं मिला। इससे साफ पता चलता है कि यह अविश्वास प्रस्ताव गलत है।

सीमा साह विपक्ष के पार्षदों पर बरसती हुई बोली- जिन पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव लाया हैं, वे सभी दागी हैं। वे दागी पार्षद सिर्फ कमीशन के लिए अन्य पार्षदों को बहका रहे हैं। वह दिन दूर नहीं जब वही लोग उन दागी पार्षदों को एक दिन गाली देंगे। मैं सभी दागियों की पोल खोलूंगी।

नगर आयुक्त भी दागी पार्षदों के साथ
मेयर सीमा साह नगर आयुक्त पर भी निशाना साधा। कहा- यह सब खेल नगर आयुक्त के मिलीभगत से हो रहा है। मैं भी उनका पार्षदों के खिलाफ उनके द्वारा किए गए कारनामों का इतिहास इकट्ठा कर रही हूं। उन्होंने कहा कि नगर निगम में जो ट्रेड लाइसेंस का मामला था उसका भी उजागर मैंने ही किया था। जब दो डॉक्टर मेरे पास ट्रेड लाइसेंस का मामला लेकर पहुंचे थे। उस मामले की लीपापोती करने के लिए दागी पार्षदों के साथ मिलकर नगर आयुक्त प्रपंच रच रहे हैं।

उन्होंने कहा कि ट्रेड लाइसेंस मामले में 15 लाख रुपए के गबन को दागी पार्षद के साथ मिलकर नगर आयुक्त ने घपला कर लिया है। मेयर सीमा साह ने बिफरते हुए कहा कि मेरे द्वारा सामान्य बोर्ड की बैठक बुलाने के लिए नगर आयुक्त को कई बार पत्र लिखे। लेकिन नगर आयुक्त द्वारा सामान्य बोर्ड की बैठक नहीं बुलाई जाती है इसमें मेरी क्या गलती है। सीमा साह ने कहा इस बात के खिलाफ दागी पार्षद कभी बोलते हुए नहीं दिखे, क्योंकि पार्षदों को सिर्फ पॉकेट गर्म करना है।

क्या कहते हैं विरोधी पार्षद
संजय सिंह ने कहा कि जो मेयर हमे दागी कह रही हैं वो खुद दागी हैं। उन्होंने चुनाव में अपना उम्र और शैक्षणिक प्रमाण पत्र जाली दिया था। जिस वजह से उनपर प्रीति शेखर ने केस किया था। यह प्रमाणित बात है। फिर वो बताएं कि मैं दागी हूँ या वो।

क्या कहते हैं नगर आयुक्त
इस बावत नगर आयुक्त प्रफ्फुलचन्द यादव ने बताया, "मेरे ऊपर लगाए गए आरोप निराधार है। अविश्वास प्रस्ताव लाना उनका लोकतांत्रिक अधिकार है। इसमें मेरी कोई भूमिका नहीं है। यह कोई नई बात नहीं है मैं आया तब ही अविश्वास प्रस्ताव आया है। इससे पहले भी दो बार अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है। इस पर मेयर को फैसला लेना है कि वो क्या करेंगी। सरकारी पदाधिकारी का जो धर्म है मैंने उसका पालन किया है। इसके अलावा मैं कुछ नहीं जानता।

खबरें और भी हैं...