पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सदर में एसएनसीयू के पीछे में बनेगा मॉडर्न हॉस्पिटल:सीएस और निर्माण एजेंसी ने देखा निर्माणस्थल, सीएस ने 40 पेड़ों को बचाते हुए निर्माण का दिया निर्देश

भागलपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सदर अस्पताल में 100 बेड का माॅडर्न हाॅस्पिटल बनाने की तैयारी शुरू हाे गई है। - Money Bhaskar
सदर अस्पताल में 100 बेड का माॅडर्न हाॅस्पिटल बनाने की तैयारी शुरू हाे गई है।

सदर अस्पताल में 100 बेड का माॅडर्न हाॅस्पिटल बनाने की तैयारी शुरू हाे गई है। इसके लिए एजेंसी ने स्थल निरीक्षण किया है। एसएनसीयू बिल्डिंग के पिछले हिस्से में बने पुराने मकानाें काे ताेड़कर हाॅस्पिटल बनाना है। सिविल सर्जन डाॅ. उमेश शर्मा ने रविवार काे स्थल निरीक्षण किया। इसके बाद संंबंधित एजेंसी काे निर्देश दिया गया कि यहां माैजूद करीब 40 पुराने पेड़ाें काे बचाते हुए बिल्डिंग बनाएं।

ताकि 30 से 40 साल पुराने पेड़ों को काटने की नाैबत न आए। इस हाॅस्पिटल के बनने से अस्पताल में इलाज की व्यवस्था में बदलेगी। यहां खून, पेशाब जांच से लेकर अल्ट्रासाउंड व एक्सरे तक की सुविधा होगी। एक ही छत के नीचे सामान्य बीमारियाें में मरीजाें की जरूरतों काे ध्यान में रखते हुए यह सुविधा दी जाएगी।

अभी ये है सुविधा
ओपीडी बिल्डिंग में कोई जांच की सुविधा नहीं है। वहां से 100 मीटर दूर क्षेत्रीय जांच घर में खून, पेशाब, एक्सरे और अल्ट्रासाउंड हाेता है। विक्टाेरिया मेमाेरियल की बिल्डिंग में सीटी स्कैन और प्रसव इंडाेर में कोई जांच सुविधा नहीं है। किसी गर्भवती काे इमरजेंसी में ऑपरेशन भी कराना हो तो उसे परिजन पैदल चलाकर खून जांच कराने पैथाेलाॅजी तक लाना पड़ता है। इसमें मरीजों को ज्यादा परेशानी होती है।

एजेंसी काे माॅडर्न हाॅस्पिटल बनाने में पेड़ाें काे न काटने के निर्देश दिए हैं। एक ही छत के नीचे सभी जांच की सुविधा मिलेगी। तत्काल व्यवस्था के तहत प्रसव के लिए आई गंभीर महिलाओं काे खून जांच के लिए पैदल चलाकर पैथाेलाॅजी तक नहीं लाना है। इसके लिए नर्स टेक्नीशियन काे काॅल कर बुलाएंगी, वे सैंपल ले जाएंगे। - डाॅ. उमेश शर्मा, सिविल सर्जन

खबरें और भी हैं...