पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57696.46-1.31 %
  • NIFTY17196.7-1.18 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47361-0.07 %
  • SILVER(MCX 1 KG)606850.05 %

खानकाह-ए-रहमानी:मानवता की रक्षा के लिए जब कभी अमीर आवाज देंगे, मुंगेर की आवाम उनके साथ खड़ी होगी : शमसी

मुंगेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अभिनंदन समारोह में मंच पर मौजूद मुस्लिम समुदाय के बुद्धिजीवी और जाप संरक्षक पप्पू यादव व अन्य। - Money Bhaskar
अभिनंदन समारोह में मंच पर मौजूद मुस्लिम समुदाय के बुद्धिजीवी और जाप संरक्षक पप्पू यादव व अन्य।
  • इमारत ए शरिया के 8वें अमीर ए शरियत मौलाना वली फैसल रहमानी का नागरिक अभिनंदन
  • मुल्क व समाज की तरक्की के लिए लोगों को तालिम रूप से मजबूत होने पर अमीर ए शरियत ने दिया बल

खानकाह रहमानी के गद्दीनशीं मौलाना अहमद वली फैसल रहमानी के इमारत ए शरिया (बिहार, झारखंड, उड़ीसा) के 8वें अमीर ए शरियत चुने जाने पर सोमवार को मुंगेर की अवाम की ओर से नागरिक अभिनंदन किया गया। शाहजुबैर रोड स्थित शाह मस्जिद मैदान में आयोजित अभिनंदन समारोह में भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रो.अजफर शमसी और जन अधिकार पार्टी (जाप)के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव भी शामिल हुए। समारोह का शुभारंभ कुरान-ए-पाक की आयत पढ़कर हुआ। अभिनंदन में मौजूद मुस्लिम समुदाय के बुद्धिजीवियों ने कहा कि मरहूम खानकाह रहमानी के गद्दीनशीं मौलाना वली रहमानी साहब अपने साहेबजादे की शक्ल में बेमिसाल सलाहियत वाले शख्सियत को छोड़ गए हैं। इनके दादा मौलाना मिनतुल्ला रहमानी ने समाज को शिक्षित करने के उद्देश्य से वर्ष 1901 में खानकाह रहमानी की नींव रखी। जो 1957 में अमीर ए शरियत बने। पिता वली रहमानी वर्ष 2015 में अमीर ए शरियत बने। यह मुंगेर की जनता के लिए फर्क की बात है कि ऐसी शख्सियत वाले मौलाना अहमद वली फैसल रहमानी को इमारत ए शरिया का अमीर ए शरियत चुना गया। सभी वक्ताओं ने कहा कि मुल्क की तरक्की और मानवता की रक्षा के लिए जब कभी अमीर आवाज देगा, मुंगेर की अवाम हमेशा उनके साथ खड़ा रहेगी। समारोह को संबोधित करते हुए भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रो.अजफर शमसी ने कहा कि शिक्षा से ही अल्पसंख्यक समुदाय का विकास संभव है। शिक्षा मतलब आलराउंड डेवलपमेंट, चरित्र का सर्वांगीण विकास। समाज के अंतिम पायदान पर बैठे लोगों विशेषकर मुस्लिम समाज की महिलाआंे को आगे बढ़ कर शिक्षा ग्रहण करना चाहिए, तभी विकास संभव होगा।

सम्मान समारोह में शामिल होना सौभाग्य की बात जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने कहा कि यह सौभाग्य की बात है कि एक महान शख्सियत के सम्मान समारोह में शिरकत करने का मौका मिला है। इनका परिवार पीढ़ियों से इस्लाम के रास्ते पर चलकर मानवता और इंसानियत के प्रहरी के रूप में काम किया। आज जब मौलाना अहमद वली फैसल रहमानी को अमीर ए शरियत चुना गया है तो निश्चय ही यह अपने ज्ञान विज्ञान और आध्यात्म के माध्यम से इस्लाम और मानवता की रक्षा के लिए नैसर्गिक ऊर्जा के साथ काम करेंगे।

अभिनंदन समारोह में मौजूद लोग।
अभिनंदन समारोह में मौजूद लोग।

मुंगेर मजहबी तहजीब का खूबसूरत संगम: रहमानी
अंत में हजरत मौलाना अहमद वली फैसल रहमानी ने मुंगेर की जनता का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि एक अमीर की हैसियत से मेरा काम अच्छी बात बताना है। मुंगेर मजहबी तहजीब का एक खूबसूरत संगम है, जिसे कायम रखना है, समाज में मोहब्बत को कायम रखना है। तालिम के मामले में समाज के पिछड़ा रहने पर उन्होंने अफसोस जताते हुए कहा कि आज बिहार में साक्षरता दर 59.07 प्रतिशत है, हम में से हर 40 लोग अनपढ़ हैं। जो आज के जमाने में नाकाबिले कबूल है।

बच्चों को स्कूल भेजने व दहेज नहीं लेने की अपील

मुल्क व समाज की तरक्की के लिए उन्होंने समारोह में मौजूद लोगों को अपने बच्चों को स्कूल या मदरसा भेजने, शादी में दहेज नहीं लेने आैर ना ही देने, तथा अपनी विरासत से बच्चियों को उनका वाजिब हक देने का शपथ दिलाया। उन्होंने अपील किया कि समाज के सभी लोग आगे बढ़ कर तालिम हासिल करें, जब सभी लोग तालिम रूप से मजबूत होंगे तो मुल्क निश्चित रूप से मजबूत होगा।

खानकाह रहमानी की नींव को मजबूत करने की मांगी दुआ

लोगों से कहा दुआ करें कि अल्लाह ताला हमारी नीयत को ठीक करें और खानकाह रहमानी की नींव को मजबूत करें। मंच संचालन जफर अहमद ने किया। समारोह में बिहार स्टेट मदरसा एजुकेशन बोर्ड के चेयरमैन मौलाना कय्यूम अंसारी, रहमानी फाउंडेशन के अब्दुल रऊफ रहमानी, मौलाना आरिफ रहमानी, इम्तियाज रहमानी, एहतेशाम आलम, मंजर कासमी, जामा मस्जिद के रागिब रमानी आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...