पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

3 साल की उम्र में पोलियो हुआ, अब बने जनप्रतिनिधि:मुंगेर में वार्ड सदस्य बने अंगद चौधरी; पिछले चुनाव में पंच चुने गए थे

मुंगेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार पंचायत आम चुनाव में मतदाता दिव्यांग को भी मौका दे रहे हैं। इसका ताजा उदाहरण बुधवार को पूरब सराय में मतगणना के दौरान देखा गया। जहां एक पैर से दिव्यांग को टीका रामपुर पंचायत के वार्ड नंबर 8 से वार्ड सदस्य का का चुनाव जनता ने अंगद चौधरी को जीता कर भरोसा जताया है।

टीका रामपुर पंचायत के वार्ड नंबर 8 से वार्ड सदस्य के रूप में अंगद चौधरी ने जीत हासिल करते हुए बताया कि मैंने रंजीत महतो को चुनाव हराकर वार्ड सदस्य का चुनाव जीता हूं। बचपन में ही जब 3 साल का उम्र था तो पोलियो हो गया। तभी से बाएं पैर से चलने फिरने में असमर्थ हूं। लाठी के सहारे चलता हूं। मेरे जैसे दिव्यांग पर जनता ने भरोसा जताकर यह बता दिया है कि दिव्यांग भी क्षेत्र के विकास में अपनी भूमिका निभा सकता है।

दिव्यांग अंगद चौधरी ने कहा कि मैं प्राइवेट ट्यूशन कर अपनी जीविका चलाता हूं। दसवीं क्लास तक के बच्चों को घर-घर जाकर ट्यूशन देता हूं। मैं बीए ऑनर्स किया हुआ हूं। मुझे दो बेटी और दो बेटा है। दिव्यांग अंगद अंगद चौधरी ने कहा कि पहली बार मैं पंच के पद से चुनाव जीता था। इस बार में वार्ड सदस्य के रूप में लड़ा और वार्ड सदस्य का भी चुनाव जीत गया हूं। मैं लगातार दोबारा जन प्रतिनिधि बना हूं।यह जीत मेरी नहीं जनता की जीत है। क्षेत्र में सरकारी योजनाओं को लेकर आम आदमी को लाभ दिलाना मेरा पहला कर्तव्य होगा।

खबरें और भी हैं...