पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60961.010.06 %
  • NIFTY18153.9-0.13 %
  • GOLD(MCX 10 GM)473800.04 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646780.63 %
  • Business News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • Kishanganj
  • Processing, Branding And Marketing Will Also Be Done By Itself, Production Will Start After Three Years, The Company Of Kishanganj Got A Certificate From The Ministry Of Corporate Affairs On 14 June 2021

जीविका दीदी बिहार की पहली चाय कंपनी की मालकिन बनेंगी:प्रोसेसिंग, ब्रांडिंग और मार्केटिंग खुद करेंगी, 3 साल बाद शुरू होगा उत्पादन; 14 जून को मिला था प्रमाणपत्र

किशनगंजएक महीने पहलेलेखक: नीरज/ चंदन
  • कॉपी लिंक
किशनगंज में चाय बागान में पत्तियां तोड़तीं महिला श्रमिक। - Money Bhaskar
किशनगंज में चाय बागान में पत्तियां तोड़तीं महिला श्रमिक।

किशनगंज में चाय की खेती से जुड़ी जीविका दीदी अब चाय कंपनी की मालकिन बनेंगी। वह खुद प्रोसेसिंग, ब्रांडिंग व मार्केटिंग भी करेंगी। तीन साल बाद यह चाय बाजार में मिलेगी। जिले के पोठिया प्रखंड के कुसियारी पंचायत के कचकचीपाड़ा में जीविका दीदियों की कंपनी खुलेगी।

यह राज्य की पहली फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी होगी। कंपनी का रजिस्ट्रेशन हो चुका है। भारत सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ कॉरपोरेट अफेयर्स से 14 जून 2021 को कंपनी को प्रमाण पत्र मिल चुका है। कंपनी का नाम महानंदा जीविका महिला एग्रो प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड रखा गया है। हालांकि कंपनी की ब्रांडिंग किस नाम से होगी, अभी यह तय नहीं हुआ है। जीविका दीदियों की यह पहली चाय कंपनी होगी।

पुरानी कंपनी की लीज की अवधि पूरी होते ही पैकेजिंग यूनिट होगा हैंडओवर
अभी कचकचीपाड़ा कुसियारी में बिहार सरकार की चाय प्रोसेसिंग व पैकेजिंग यूनिट को सरकार ने एक कंपनी को दस साल के लिए लीज पर दे रखा है। इस लीज की अवधि लगभग साढ़े तीन साल बची है, जो 2024 में पूरी हो जाएगी। इसी प्रोसेसिंग व पैकेजिंग यूनिट को सरकार ने जीविका को हैंडओवर करने का निर्णय लिया है।

2024 में जीविका को हैंडओवर करने के बाद यहां से जीविका दीदी की कंपनी की खुद का चाय का उत्पादन शुरू हो जाएगा। जीविका दीदी का प्रोड्यूसर ग्रुप तैयार किया गया है। इन ग्रुप से जुड़ी जीविका दीदी को चाय कंपनी से जुड़ी हर तरह की ट्रेनिंग दी जाएगी ताकि वे उत्पादन, ब्रांडिंग और मार्केटिंग खुद कर सके।

कंपनी की शेयरधारक भी दीदी होंगी
पोठिया प्रखंड के बीपीएम रंजीत कुमार शर्मा ने बताया कि चाय कंपनी में निदेशक मंडल को सपोर्ट करने के लिए शेयरधारक भी जीविका दीदियां हीं होंगी। वही कंपनी का शेयर भी खरीदेंगी। दीदियां ही इस कंपनी के निदेशक मंडल में होंगी। चाय पत्ती की खेती, उसे तोड़ने, चाय पत्ती तैयार करने, इसकी मार्केटिंग के साथ- साथ कंपनी संचालन की पूरी जिम्मेदारी जीविका दीदियों के हाथों में होगी।

कंपनी के मुनाफे में उन्हें लाभांश मिलेगा। निदेशक मंडल में तीन पद धारक होंगे। इनका चयन सर्वसम्मति से या वोटिंग के जरिए होगा। इस कंपनी से जुड़े बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में शामिल जीविका दीदियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...