पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57696.46-1.31 %
  • NIFTY17196.7-1.18 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47361-0.07 %
  • SILVER(MCX 1 KG)606850.05 %

दुखद:योगेंद्र अपनी मां को कहकर गया था परदेस से आकर बनवाऊंगा घर, पर आई मौत की खबर

अररिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फोटो लेकर खड़े बच्चे व रोती पत्नी को समझती महिलाएं। - Money Bhaskar
फोटो लेकर खड़े बच्चे व रोती पत्नी को समझती महिलाएं।
  • कश्मीर में आतंकवादी की गोली के शिकार हुए मजदूर के तीन मासूम बच्चों के सिर से उठा पिता का साया
  • परदेस कमा कर करता था तीनों बच्चे व पत्नी की परवरिश

कश्मीर में आतंकवादियों की गोली के शिकार हुए मजदूर योगेंद्र के तीन मासूम बच्चों के सिर से पिता का साया उठ गया, वहीं चौथे बच्चे को गर्भ में लिए प्रमिला देवी दहाड़े मारकर रो रही है। जानकारी हो कि अररिया प्रखंड के बंगामा पंचायत के वार्ड नंबर एक खैरुगंज महादलित टोला निवासी योगेंद्र ऋषिदेव कश्मीर कुलगाम जिले के लांरा गंजीपोरा इलाके में रोजी रोटी की तलाश में चार माह पूर्व गया था। योगेंद्र की मां बारनी देवी ने बताया कि बेटा कहकर गया था कि वापस आकर घर को अच्छी तरह से बनवाऊंगा। लेकिन वह तो नहीं आया आई उसकी मौत की खबर। मौत की सूचना मिलते ही पूरे टोला में कोहराम मचगया। मां ने बताया कि योगेंद्र के बड़े बेटे विवेक की उम्र छह वर्ष, दूसरे बेटे बालवीर की उम्र चार वर्ष और सबसे छोटा अंकित अभी सिर्फ दो वर्ष का है। इन सभी का जीवन कैसे चलेगा इसलिए सरकार आर्थिक सहायता प्रदान करे।
देर शाम मोबाइल पर मौत की सूचना मिली
मृतक योगेंद्र ऋषिदेव की मां बारनि देवी ने बताया कि चार महीने पहले वह मजदूरी करने गया था। तब से हमलोगों से कोई बात भी नहीं हुई है। जो उसको मजदूरी कराने ले गया था वो भी उसके ससुराल के पास के लोग थे। उन्होंने बताया कि योगेंद्र का ससुराल रानीगंज के मिर्जापुर में है। वहीं से हमलोगों को रविवार की देर शाम मोबाइल पर सूचना मिली के योगेंद्र को किसी ने गोली मार दी है जिससे उसकी मौत हो गई है। तभी से घर में मातम का माहौल है।

शौच के लिए जंगल गए मजदूरों को मारी गोली
मृतक की मौसी रधिया देवी और मामा बेनी ऋषिदेव ने बताया कि जैसे ही इस घटना की जानकारी मिली तो हम लोग कारण जानना चाहा। पता चला कि योगेंद्र कश्मीर में देर शाम शौच जाने के लिए अपने दो दोस्तों के साथ करीब के जंगल में गया था। वहीं आतंकियों ने उसे गोली मार दी, जिससे उसकी घटना स्थल पर ही मौत हो गई। उनलोगों ने बताया कि हमलोग सरकार से मांग करते हैं कि शव को उसके घर पहुंचाया जाए ताकि आखरी समय में उसे यहां की मिट्टी मिल जाये। साथ ही परिवार बहुत गरीब है उसे आर्थिक सहायता दी जाए।

ठेकेदार ने नहीं दी मजदूरी
मृतक योगेंद्र ऋषिदेव की बड़ी बहन अशनी देवी ने बताया कि मेरा ससुराल और भाई का ससुराल मिर्जापुर में ही है। बताया कि मिर्जापुर वार्ड नंबर 10 भगटोला का ब्रह्मा ऋषिदेव ही सभी मजदूरों को कश्मीर ले गया था। वो छोटा ठेकेदार है। जानकारी के अनुसार मुख्य ठेकेदार नुनवा नाम का है जो बथनाहा ओपी क्षेत्र के सोनापुर का रहनेवाला है। बहन ने बताया ठेकेदार ने इन सभी को अभी तक मजदूरी भी नहीं दी है। अब ठेकेदार फोन भी नहीं उठा रहा है।

10 दिन पूर्व घर लौट राजा के चचेरे भाई अरविंद ने सुनाई कश्मीर की हालात

रानीगंज |रविवार को कश्मीर में आतंकवादियों की कायरनामा हरकत का शिकार हुए रानीगंज प्रखंड के बौंसी पंचायत के दयानंद ऋषिदेव के 14 साल के बेटे राजा की मौत के बाद मृतक के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। दरअसल राजा और उनके बड़े भाई अरविंद ऋषिदेव गांव के दर्जनों लोगों के साथ चार पांच महीने पहले मजदूरी करने फारबिसगंज के एक ठेकेदार के साथ कश्मीर गया था। काम करने के बाद भी ठेकेदार द्वारा मजदूरों का हिसाब नहीं कर रहा था। वहां के हालत ठीक नहीं रहने पर मृतक राजा के चचेरे भाई किसी तरह काम छोड़ कर 10 दिन पहले ही अरविंद घर बौंसी लौट आया। राजा के भाई अरविंद ने बताया कि जहां काम करने जाते थे वहां के आसपास आतंकवादियों का हमेशा खतरा बना रहता था। हमेशा गोलीबारी होते रहती थी। हम डर के मारे दस दिन पहले कश्मीर से घर आ गए। रविवार को ही घटना से कुछ घंटे पहले भाई राजा से फोन पर बात हुआ था। दीपावली में घर आने की बात बताया था। वहीं सोमवार को रानीगंज बीडीओ अरविंद कुमार, सीओ मनोज कुमार वर्णवाल व पुलिस कर्मियों राजा के घर पहुंचकर मृतक के परिजनों से मिलकर उन्हें अस्वाशन दिया।

खबरें और भी हैं...