पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52344.450.04 %
  • NIFTY15683.35-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47122-0.57 %
  • SILVER(MCX 1 KG)68675-1.23 %
  • Business News
  • International
  • Saudai Arbia Imran Khan | Saudai Arbia To Pakistan Imran Khan Government On China Coronavirus Vaccine Sinovac And Sinopharm

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इमरान की नई मुसीबत:सऊदी अरब ने कहा- चीनी वैक्सीन लगवाने वाले पाकिस्तानी नहीं आ सकेंगे, सिर्फ 4 वैक्सीन को अप्रूवल

इस्लामाबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सऊदी अरब ने अपने देश आने वाले लोगों के लिए वैक्सीन सर्टिफिकेट जरूरी कर दिया है। (फाइल)

सऊदी अरब जाने की तैयारी कर चुके पाकिस्तानी नागरिकों की उम्मीदों को क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान (MBS) के प्रशासन ने तगड़ा झटका दिया है। खास बात यह है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रविवार रात ही सऊदी अरब के तीन दिन के सरकारी दौरे से लौटे हैं। इसके फौरन बाद सऊदी अरब ने नया फरमान जारी कर इमरान सरकार की मुसीबतें बढ़ा दी हैं।

सऊदी अरब ने कहा है कि वो उन पाकिस्तानियों को किसी भी तरह का वीजा जारी नहीं करेगा, जिन्होंने चीन में बनी वैक्सीन लगवाई है। इसकी वजह यह है कि सऊदी रेगुलेटर ने चीन की साइनोवैक और साइनोफार्म वैक्सीन को अप्रूवल नहीं दिया है। हालांकि, चीन ने वैक्सीन डिप्लोमैसी के तहत यह वैक्सीन सऊदी भेजी थीं।

सऊदी ने सिर्फ चार वैक्सीन को अप्रूवल दिया
सऊदी अरब सरकार ने अब तक चार वैक्सीन्स को ही अप्रूवल दिया है। ये हैं- फाइजर, एस्ट्राजेनिका, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन। इनमें से जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन सिंगल शॉट है। यानी इसका एक ही डोज लगता है। बाकी तीनों के डबल डोज लगाए जाते हैं।

चीन ने भले ही अपनी दोनों वैक्सीनों के डोज सऊदी अरब भेजे हों, लेकिन इनका इस्तेमाल नहीं किया गया है। सिर्फ सऊदी अरब ही नहीं, चीन ने और भी खाड़ी देशों को अपनी वैक्सीन भेजी थीं, लेकिन अब तक इन देशों के रेगुलेटर्स ने इन्हें मंजूरी नहीं दी है।

पाकिस्तानियों को दिक्कत क्यों
‘जियो न्यूज’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सऊदी अरब की यात्रा करने की मंजूरी सिर्फ उन्हीं लोगों को मिलेगी, जिन्होंने वैक्सीनेशन पूरा कर लिया हो। इसमें भी एक शर्त यह जोड़ी गई है कि चीन में बनी वैक्सीन लगवाने वालों को यात्रा की मंजूरी नहीं मिलेगी।

पाकिस्तानियों की दिक्कत यह है कि यहां चीन की तरफ से दान मिलीं वैक्सीन ही इस्तेमाल की जा रही हैं। रूस से स्पुतनिक वैक्सीन का ऑर्डर दिया गया, लेकिन अब तक इनका एक भी डोज पाकिस्तान नहीं पहुंचा। पाकिस्तान की आर्थिक हालत ऐसी नहीं है कि वो भारत या दूसरे देशों की वैक्सीन खरीद सके। लिहाजा, पाकिस्तानी दोहरी मुसीबत में फंस गए हैं। जो लोग सऊदी जाना चाहते हैं और जिन्होंने चीनी वैक्सीन लगवाई है. उनके लिए वैक्सीन लगवाना या न लगवाना बराबर हो गया है।

फिर कुछ राहत
रिपोर्ट के मुताबिक, सऊदी प्रशासन ने अब इस मामले में कुछ राहत दी है। जिन लोगों ने वैक्सीन नहीं लगवाई है, उन्हें निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट तो दिखानी ही होगी, साथ ही 14 दिन का क्वॉरैंटाइन पीरिएड भी पूरा करना होगा और वह भी अपने खर्च पर।

खबरें और भी हैं...