पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52344.450.04 %
  • NIFTY15683.35-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47122-0.57 %
  • SILVER(MCX 1 KG)68675-1.23 %

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मौत की रिहर्सल:किराए पर ताबूत लिया, फोटोग्राफर भी लगाया; बोलीं- देखना चाहती थी कि कौन-कौन आएगा

सैंटियागोएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चिली के सैंटियागो की 59 वर्षीय महिला ने रचा खुद के अंतिम संस्कार का नाटक। - Money Bhaskar
चिली के सैंटियागो की 59 वर्षीय महिला ने रचा खुद के अंतिम संस्कार का नाटक।

क्या कोई मौत की रिहर्सल भी कर सकता है? चिली की राजधानी सैंटियागो में एक महिला ने कुछ ऐसा ही किया है। उसने पहले तो अपनी ही मौत का ड्रामा किया और फिर अंतिम संस्कार भी कर डाला। इसके लिए बाकायदा एक लग्जरी ताबूत किराए पर लिया। फोटोग्राफर भी हायर किया और एक फंक्शन भी रखा। इसके बाद वह ताबूत में करीब तीन घंटे तक लेटी रही और मरने की एक्टिंग करती रही।

वो भी सिर्फ इसलिए, क्योंकि वो देखना चाहती थी कि उसके अंतिम संस्कार में कौन-कौन आएगा। खास बात यह है कि इस नाटक में उसके परिवार और दोस्तों ने भी साथ दिया। अंतिम संस्कार के नाटक के दौरान उसके परिवार के सदस्य नकली आंसू भी बहा रहे थे। महिला ने इन सब पर 1000 पाउंंड (1.03 लाख रुपए) भी खर्च किए। दरअसल, 59 वर्षीय मायरा अलोंजो सैंटियागो में रहती हैं।

वो पिछले कुछ महीनों से कोरोना की वजह से हुई मौतों को देखकर अपने अंतिम संस्कार के बारे में काफी सोचने लगी थीं। उन्हें लगने लगा था कि यदि सब ऐसा ही चलता रहा तो कोई भी उनके अंतिम संस्कार में नहीं आएगा। फिर उन्होंने अपने अंतिम संस्कार की रिहर्सल करने का प्लान बनाया। इसके लिए अपने परिवार को भी मनाया।

योजना के तहत बुधवार को अं‌तिम संस्कार का कार्यक्रम रखा गया, जो करीब 4 घंटे चला। इस ड्रामे के लिए मायरा ने सफेद ड्रेस पहनी। सिर पर फूलों का क्राउन लगाया। नाक में रुई भी लगाई। वो तमाम इंतजाम भी किए, जो श्मशान में एक शव को लेकर किए जाते हैं। मायरा बताती हैं, ‘यह अनुभव किसी सपने से कम नहीं था। अब मरने के बाद उन्हें अंतिम संस्कार की जरूरत नहीं है, क्योंकि उन्होंने जीवन में सब कुछ देख लिया है।’

लोग बोले- उन्होंने कोरोना से मृत लोगों का मजाक उड़ाया

मायरा को लगता है कि रिश्तेदार और करीबी उन्हें चाहते हैं। कुछ भी हो वे उनके अंतिम संस्कार में जरूर शामिल होंगे। वहीं, मायरा के इस कदम की काफी चर्चा हो रही है। कुछ लोग तारीफ कर रहे हैं तो कुछ आलोचना भी। लोगों का कहना है कि वह इसके जरिए कोरोना से मृत लोगों का मजाक उड़ा रही हैं।

खबरें और भी हैं...