पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60821.62-0.17 %
  • NIFTY18114.9-0.35 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475300.32 %
  • SILVER(MCX 1 KG)648840.32 %
  • Business News
  • International
  • Afghanistan Kabul Airport Satellite Image; Thousands Of Taliban Prisoners Enter Pakistan Via Chaman Border

सैटेलाइट से दिखी अफगानिस्तान छोड़ने की कश्मकश:पाकिस्तान-अफगानिस्तान के बीच चमन बॉर्डर पर हजारों अफगानी जमा हुए, ईरान और ताजिकिस्तान की सीमा पर भी यही हाल

काबुलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान छोड़ने की जद्दोजहद कर रहे अफगानियों की डरा देने वाली तस्वीरें काबुल एयरपोर्ट से सामने आई थीं। हालात अब भी यही हैं। अफगानिस्तानी अवाम हर हाल में अपना मुल्क छोड़ने की कोशिश कर रही है।

सैटेलाइट इमेज में साफ नजर आ रहा है कि पाकिस्तान-अफगानिस्तान बॉर्डर पर हजारों की तादाद में अफगानी जमा हैं, जो पाकिस्तान में जाने की कोशिश कर रहे हैं। यही हाल ईरान, ताजिकिस्तान और उज्बेक बॉर्डर पर भी हैं।

6 सितंबर को ली गई सैटेलाइट इमेज में दिख रहा है कि स्पिन बोल्डक में चमन बॉर्डर पर और तोरखाम बॉर्डर पर अफगानियों की भीड़ है। इसी तरह ताजिकिस्तान में शीर खान बॉर्डर, ईरान के इस्लाम कला बॉर्डर पर भी अफगानी जमा हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पिछले कुछ हफ्तों में बॉर्डर पर भीड़ बढ़ी है। चमन बॉर्डर सबसे ज्यादा भीड़भाड़ वाला इलाका बन गया है। यहां लोग परिवार, साजो सामान और बच्चों समेत पहुंचे हैं। काबुल और दूसरे शहरों से भी लोग घर छोड़कर अस्थाई कैंपों में रह रहे हैं।

तालिबानी हुकूमत के खौफ से छोड़ रहे मुल्क
अफगानिस्तान के नागरिक तालिबानी हुकूमत से खौफजदा हैं। इसी वजह से वे अपने घरों को छोड़ने पर मजबूर हो रहे हैं। हालांकि, तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जे के साथ ही अपना नरम चेहरा दिखाने की कोशिश की है।

तालिबान ने कहा था कि वो महिला अधिकारों की रक्षा करेंगे और अफगानिस्तान की जमीन का किसी दूसरे मुल्क के खिलाफ इस्तेमाल नहीं होने देंगे। जो तस्वीरें सामने आ रही हैं, उनमें महिलाओं की पिटाई, उनकी निर्मम तरीके से हत्या और सिविलियंस को सरेआम कत्ल किए जाने का सच सामने आ रहा है। उन एक्टिविस्टों, पत्रकारों और लोगों की तलाश की जा रही है, जिन्होंने पश्चिमी देशों का साथ दिया।

सबसे ज्यादा अफगानी पाकिस्तान पहुंचे
ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय का एक आंकड़ा बताता है कि उन्होंने 15 हजार से ज्यादा लोगों को अफगानिस्तान से निकाला है। इनमें करीब 8 हजार अफगानी हैं। इन दोनों देशों के अलावा भी कई अफगानियों को स्पेन, जर्मनी, कतर और उज्बेकिस्तान सहित कई देशों में बनाए गए इमरजेंसी प्रोसेसिंग सेंटर्स में ले जाया गया है।

एक और आंकड़ा बताता है कि सबसे ज्यादा 14 लाख 50 हजार अफगानियों ने पाकिस्तान में शरण ली। ईरान में 7.8 लाख, जर्मनी में 1.81 लाख और तुर्की में 1.29 लाख अफगानियों ने शरण ली। इसके अलावा ऑस्ट्रिया, फ्रांस, ग्रीस, स्वीडन, स्विटजरलैंड, भारत और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में भी अफगानियों ने शरण ली है।

खबरें और भी हैं...