पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फीचर आर्टिकल:कपिवा गेट स्लिम जूस इस्तेमाल कर कम समय में ज्यादा वजन घटाएं, यूजर्स से जानें अनुभव

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कपिवा आयुर्वेद एकेडमी और इसके उत्पाद लोगों को स्वस्थ जीवनशैली बनाए रखने के लिए आयुर्वेद अपनाने में मदद कर रहे हैं। भारतीय लोगों को अपना वजन नियंत्रित करने के लिए ब्रांड ने एक अनूठा गेट स्लिम जूस विकसित किया है।

गेट स्लिम यूजर कविता ढुल की कहानी वास्तव में प्रेरक और आयुर्वेद की प्रभावशीलता का एक प्रमाण है। कविता ढुल ने गेट स्लिम जूस के नियमित सेवन से मात्र चार महीनों में ही 13 किलो वजन कम कर लिया।

वजन ज्यादा होने की वजह से उन्हें पैरों में दर्द और चलने में कठिनाई जैसी कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। अपनी सेहत के प्रति चिंतित होकर उन्होंने निशुल्क चिकित्कीय परामर्श लिया और उसके मुताबिक कपिवा गेट स्लिम जूस का सेवन शुरू किया। इसके साथ ही स्वस्थ जीवनशैली को भी अपनाया। वजन में अपेक्षा से भी ज्यादा कमी आने के बाद अब उन्हें अपने एनर्जी लेवल में काफी वृद्धि का अनुभव हो रहा है, जिसकी वजह से वे पूरे दिन सक्रिय रहती हैं।

कपिवा गेट स्लिम जूस से आया बदलाव

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि ऐसे कई उपभोक्ता हैं, जिनके पास नियमित रूप से कपिवा के गेट स्लिम जूस का सेवन करने के बाद हुए बदलाव की शानदार कहानियां हैं। 28 वर्षीय आईटी प्रोफेशनल आकांक्षा सिंह की 82 किलो से 69 किलो पर आने की कहानी भी काफी प्रेरणादायी है। आकांक्षा सिंह को वजन घटाने के ऐसे तरीके की तलाश थी जो सेहत को नुकसान न पहुंचाए और सेवन में आसान भी हो। आकांक्षा सिंह को गेट स्लिम जूस के बारे में पता चला। वजन घटाने के एकमात्र इरादे के साथ आकांक्षा सिंह ने गेट स्लिम जूस को भी आजमाने का फैसला किया और 15 दिनों तक इसका इस्तेमाल किया। इन 15 दिनों में ही उनका वजन लगभग 2 किलो कम हो गया। इससे उन्हें गेट स्लिम जूस जारी रखने के लिए प्रोत्साहन मिला और कुछ ही महीनों में उन्होंने 13 किलो वजन कम कर लिया।

2008 में एंकिलोसिंग स्पॉन्डिलाइटिस डायग्नोस होने के बाद तृतोय मुखर्जी के लिए किसी भी प्रकार का हिलना-डुलना मना हो गया था। इसके कारण झारखंड के रहने वाले मुखर्जी का धीरे-धीरे वजन बढ़ना लाजिमी था। कपिवा गेट स्लिम जूस लेने से पहले तृतोय का वजन 122 किलो तक पहुंच चुका था। ब्रिस्क एक्सरसाइज और भोजन पर नियंत्रण के साथ ही कपिवा गेट स्लिम जूस लेने से एक महीने में तृतोय मुखर्जी के वजन में कई किलो की कमी आई।

गेट स्लिम जूस- 12 जड़ी-बूटियों का अनूठा कॉम्बिनेशन

कपिवा गेट स्लिम जूस 12 जड़ी-बूटियों का एक अनूठा कॉम्बिनेशन है जो वजन घटाने में मददगार है। कपिवा गेट स्लिम जूस एक उत्प्रेरक की तरह है जो आपके नियमित आहार और बुनियादी कसरत वाली दिनचर्या के साथ मिलकर अधिकतम परिणाम देता है। गेट स्लिम जूस के कई फायदे हैं, जैसे:

  • डिटॉक्स/ डाइजेशन में मदद करता है
  • शरीर में जमी चर्बी को घटाने में मददगार है
  • मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है
  • सूजन को घटाता है

कपिवा गेट स्लिम जूस के पीछे का आयुर्वेद और विज्ञान

अलग-अलग लिए जाने पर, हो सकता है कि इन जड़ी-बूटियों और सामग्री का वजन पर बहुत ज्यादा असर न हो। लेकिन सही अनुपात और फॉर्मूलेशन के साथ बनाया गया एक अनूठा मिश्रण इन सामग्रियों की कार्यक्षमता को कई गुना बढ़ा देता है। गेट स्लिम जूस में कई आयुर्वेदिक सामग्रियां हैं, जैसे कि अलसी के बीज, जिनमें भरपूर फाइबर होता है और जो भूख को नियंत्रित रखने में मददगार हैं। इसमें दारुहरिद्रा है, जो शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट है और ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखता है। साथ ही यह ग्लूकोज में कमी करके बुरे कोलेस्ट्रॉल को घटाता है। इस जूस में अरंडमूल है जो एक सुरक्षित लैक्सेटिव है और रेसिनोलिक एसिड जो आंतों की मांसपेशियों को उत्तेजित करता है, जिससे पेट अच्छे से साफ होता है।

आंवला मेटाबॉलिज्म और फाइबर कंटेंट बढ़ाता है, जो कि पेट के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। गेट स्लिम जूस में विभीतकी भी है जो एक एंटी-एथरजनिक दवा है। यह कोलेस्ट्रॉल कम करती है और नेचुरल ब्लड प्यूरीफायर के रूप में काम करती है। जूस में इस्तेमाल होने वाली एक और सामग्री है हरितकी जो रक्त को शुद्ध करती है और बुरे कोलेस्ट्रॉल के बनने की प्रवृत्ति को कम करती है।

गेट स्लिम जूस में मौजूद त्रिफला ग्लूकोज का लेवल कम करती है। यह विटामिन और हाई एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर है, जो कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्स से मुकाबला करते हैं। साथ ही इसमें प्राकृतिक लैक्सेटिव है। गेट स्लिम जूस में अंतिम सामग्री स्टीविया है, जो एक गैर-पोषक स्वीटनर है। इसमें कोई कार्बोहाइड्रेट्स, कैलोरीज नहीं हैं और यह चीनी का सबसे अच्छा विकल्प है।

“वजन घटाने के लिए हमें एक बात बात ध्यान में रखनी चाहिए कि ‘धीमा और स्थिर ही दौड़ में जीतता है’। शोध में पाया गया है कि सख्त आहार नियंत्रण और कठिन व्यायाम से लोग एक स्थिर जीवनशैली कायम करने में सफल नहीं हो पाते। इसलिए 10 में से 8 लोग सालभर के भीतर ही घटाया हुआ वजन फिर से हासिल कर लेते हैं। इसलिए वजन घटाने में जल्दबाजी की नहीं बल्कि धैर्य के साथ ही जीवनशैली में बदलाव करने की जरूरत है, ताकि स्वस्थ और स्थायी तरीके से वजन घटाया जा सके। ”

- डॉ. कीर्ति सोनी, शोध एवं विकास प्रमुख, कपिवा एकेडमी ऑफ आयुर्वेद

कपिवा गेट स्लिम जूस- दिन में 2 ग्लास

  • बॉटल को अच्छी तरह हिलाएं
  • एक ग्लास पानी में 30 मिलीलीटर गेट स्लिम जूस डालें
  • बेहतर परिणाम के लिए दिन में दो बार, खाना खाने के एक घंटा पहले पिएं

जूस का स्वाद आयुर्वेदिक है

जूस के सेवन का आदर्श तरीका है कि इसे पानी में मिलाकर पिया जाए। जूस में काफी शक्तिशाली जड़ी बूटियां हैं जिनका अनूठा आयुर्वेदिक स्वाद है। उपयोगकर्ता बताते हैं कि कुछ दिन बाद ही वे इस स्वाद के आदी हो गए। इसलिए सुझाव है कि जूस को ज्यादा पानी में मिलाकर पतला कर लें।

खबरें और भी हैं...