• Home
  • Economy
  • Nearly 5 crore people became unemployed in the two weeks of lockdown, the situation is expected to worsen in the next one week: report

मुसीबत /लॉकडाउन के दो हफ्तों में करीब 5 करोड़ लोग हुए बेरोजगार, अगले एक हफ्ते में हालात के ज्यादा खराब होने का अनुमान : रिपोर्ट

  • अमेरिका में एक करोड़ लोग हुए बेरोजगार 

Moneybhaskar.com

Apr 07,2020 12:40:49 PM IST

नई दिल्ली. कोरोनावायरस के अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले शुरुआती आंकड़ों पर गौर करें, तो यह काफी डराने वाले थे। इन आंकड़ों के आधार पर दावा किया गया था कि शहरी इलाकों में कोरोवायरस की वजह से बेरोजगारी दर बढ़कर 30.9 फीसदी हो जाएगी, जबकि ओवरऑल बेरोजगारी दर के 23.4 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया था। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी के साप्ताहिक सर्वे के आंकड़ों पर गौर करें, तो मध्य मार्च में 8.4 फीसदी रहने वाली बेरोजगारी दर 5 अप्रैल तक बढ़कर 23 फीसदी हो गई है।

5 करोड़ लोग हुए बेरोजगार


भारत के सांख्यिकीविद प्रनब सेन के मुताबिक अगर एक अनुमानित कैलकुलेशन के आधार पर लॉकडाउन के पिछले दो हफ्तों में करीब 50 मिलियन यानी 5 करोड़ लोगों बेरोजगार हुए हैं। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के चलते ज्यादातर लोग अपने घरों को वापस चले गए हैं। ऐसे में आने वाले कुछ महीनों में बेरोजगारी दर में अनुमानित आंकड़ों से कहीं ज्यादा का इजाफा देखा जा सकता है। मतलब लॉकडाउन के खत्म होने का बाद बेरोजगारी दर के सटीक आंकड़ों का पता लग सकेगा।

अमेरिका में एक करोड़ लोग हुए बेरोजगार

मिंट की खबर के मुताबिक जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी, दिल्ली के एसोसिएट प्रोफेसर ऑफ इकोनॉमिक्स हिमांशू ने कहा कि बेरोजगारी दर भारत ही नहीं वैश्विक स्तर पर देखने को मिल सकती है। आंकड़ों में दावा किया गया है कि पिछले हफ्तों में अमेरिका में करीब 1 करोड़ लोग बेरोजगार हुए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे में लॉकडाउन खत्म होने के बाद बेरोजगारी दर में कितना बढ़ोतरी होगी। यह देखना अहम हो जाएगा। हिमांशू की मानें, तो देश का लगभग एक-तिहाई कार्यबल अस्थायी होता है, जिनके पास इकोनॉमिक सेफ्टी और सिक्योरिटी नहीं होती है। इससे अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ सकता है। ऐसे में सरकार को लॉकडाउन के बाद अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए उचित कदम उठाने होंगे।

हायरिंग एक्टिविटी में गिरावट

भारत में इस साल मार्च में जॉब हायरिंग में 18 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।लीडिंग जॉब पोर्टल नौकरी डॉट डॉम के मुताबिक ट्रैवेल, एविएशन रिटेल और हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में जॉब हायरिंग में सबसे ज्यादा 56 फीसद की गिरावट दर्ज की गयी है।

किस सेक्टर कितनी फीसदी की गिरावट

  • रिटेल सेक्टर - 50 फीसदी
  • ऑटो/एंसीलरी - 38 फीसदी
  • फार्मा -26 फीसदी
  • Insurance -11 फीसदी
  • एकाउंटिंग/फाइनेंस - 10 फीसदी
  • आईटी सॉफ्टवेयर -9 फीसदी
  • बीएफएसआई - 9 फीसदी

नौकरी डॉट कॉम के चीफ ऑफिसर पवन गोयल ने कहा कि मार्च 2020 में नौकरी डॉट कॉम पर हायरिंग एक्टिविटी में 5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। लोकडाउन के शुरुआती 10 दिनों में इसमें 10 फीसदी की गिरावट देखी गई है।

किस शहर में हायरिंग में कितनी गिरावट

  • दिल्ली -26 फीसदी
  • चेन्नई - 24 फीसदी
  • हैदराबाद - 18 फीसदी
  • दिल्ली एनसीआर में हायरिंग एक्टिविटी में सबसे ज्यादा 66 फीसदी की गिरावट देखी जा रही है।
  • 13 साल से ज्यादा एक्सपीरियंस की हायरिंग में 29 फीसदी की गिरावट दर्ज की है।
  • जीरो से 7 साल के एक्सपीरियंस की हायरिंग में 29 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।
X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.