पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52574.460.44 %
  • NIFTY15746.50.4 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47005-0.25 %
  • SILVER(MCX 1 KG)67877-1.16 %

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर डेटा स्टोरी:IPL सस्पेंड होने से इसकी ब्रांड वैल्यू को हो सकता है नुकसान, 2020 में भी 3.6% गिरी थी IPL की साख

2 महीने पहलेलेखक: जयदेव सिंह
  • कॉपी लिंक

कोरोना के लगातार आते मामलों के बीच BCCI ने IPL स्थगित करने का ऐलान कर दिया है। बिना दर्शकों के हो रहे इस टूर्नामेंट के स्थगित होने से इसकी ब्रांड वैल्यू को भी नुकसान हो सकता है। पिछले साल आबुधाबी में पूरा टूर्नामेंट बिना दर्शकों के होने के कारण IPL की ब्रांड वैल्यू 3.6% गिर गई थी। जबकि दर्शकों और मैदान पर मैच के दौरान होने वाली खाने-पीने की चीजों की बिक्री से IPL की टीमों को करीब 20% तक का रेवेन्यू होता है।

पिछले सात साल से IPL की ब्रांड वैल्यू रिपोर्ट जारी करने वाली डफ एंड फेल्प्स के मुताबिक क्लोज डोर मैच होने के बाद भी IPL और उसकी टीमों को रेवेन्यू लॉस न के बराबर हुआ था। कोरोना के कारण लोग घरों में थे तो इससे ब्रॉडकास्टर्स को खासा फायदा हुआ और IPL की व्यूवरशिप और ऐड रेवेन्यू में रिकॉर्ड इजाफा हुआ।

IPL कैंसिल हुआ तो 2000 करोड़ का होगा नुकसान

अभी इस टूर्नामेंट को पूरी तरह रद्द नहीं किया गया है। सिर्फ स्थगित किया गया है। अगर IPL रद्द होता है, तो बोर्ड को इससे करीब 2000 करोड़ का नुकसान होगा। साथ ही इस साल भारत की मेजबानी में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप पर भी खतरा मंडराने लगेगा। भारत से मेजबानी छीनी जा सकती है। इससे भी BCCI को करोड़ों का नुकसान होगा।

2020 में चेन्नई, KKR की ब्रांड वैल्यू को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ

टीमों की ब्रांड वैल्यू की बात करें तो सबसे ज्यादा नुकसान चेन्नई और KKR को हुआ। चेन्नई की ब्रांड वैल्यू पिछले साल के मुकाबले जहां 16.5% घटी वहीं, KKR की ब्रांड वैल्यू 13.7% घटी। हालांकि इसकी वजह कोरोना से ज्यादा इन टीमों का प्रदर्शन रहा। चेन्नई ने जहां IPL इतिहास में अपना सबसे खराब प्रदर्शन किया तो कोलकाता का प्रदर्शन इस साल भी कुछ खास नहीं रहा। कोलकाता को बड़े भारतीय चेहरे नहीं होने का भी नुकसान हुआ।

चेन्नई को भी धोनी के रिटायरमेंट के बाद अपनी ब्रांड वैल्यू बरकरार रखने के लिए कुछ नए बड़े प्लेयर तलाशने होंगे। वर्ना उसे भी कोलकाता की तरह संघर्ष करना पड़ सकता है।

अच्छे प्रदर्शन के कारण दिल्ली कैपिटल को सबसे कम नुकसान

दिल्ली कैपिटल की ब्रांड वैल्यू पर पिछले साल सबसे कम असर पड़ा। उसकी ब्रांड वैल्यू 2019 के मुकाबले केवल 1% गिरी। 2018 में प्वाइंट टेबल में सबसे निचले पायदान पर रही ये टीम 2020 में फाइनल में पहुंची। इसके साथ ही टीम को ऋषभ पंत, श्रेयस अय्यर जैसे टीम इंडिया के नए सितारों के होने का भी फायदा मिला।

अगले दो साल में IPL की ब्रांड वैल्यू में हो सकता है बड़ा इजाफा

2022 में IPL में दो नई टीमें जुड़ने वाली हैं। वहीं, 2023 के IPL से पहले नए सिरे से मीडिया राइट्स की बोली लगेगी। ऐसे में उम्मीद है कि अगले दो साल में IPL की ब्रांड वैल्यू में बड़ा इजाफा हो सकता है।

खबरें और भी हैं...