कोरोना इफेक्ट /लाॅकडाउन के बाद नई रणनीति के साथ कारोबार शुरू करने की तैयारी में ओयो, बदलेगी चेक-इन और चेक-आउट प्रक्रिया, होटल्स पर रहेगा 'सैनिटाइज्ड स्टे'  का टैग 

मौजूदा संकट से निपटने के लिए कोविड-19 वार रूम भी बनाया गया है मौजूदा संकट से निपटने के लिए कोविड-19 वार रूम भी बनाया गया है

  • सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने के लिए ओयो न्यूनतम संपर्क रूम सर्विस उपलब्ध कराएगी
  • लाॅकडाउन में छूट मिलने के बाद कंपनी देश के सभी 18,000 होटल्स को देगी 'सैनिटाइज्ड स्टे' का टैग

Moneybhaskar.com

May 19,2020 07:36:58 PM IST

नई दिल्ली. कोविड-19 के चलते कंन्यूजमर्स के बिहेव में काफी बदलाव आए हैं। साफ-सफाई और स्वच्छता के मामले में लोगों से लेकर कंपनियां पहले से कहीं ज्यादा सतर्क हो गई है। लाॅकडाउन के बाद किराए पर रूम प्रोवाइड कराने वाली कंपनी ओयो अब नई रणनिति के साथ कारोबार में उतरेगी। मंगलवार को ओयो इंडिया के सीईओ रोहित कपूर ने बताया कि लाॅकडाउन के बाद कंपनी नई रणनीति के साथ काम शुरू करेगी। कंपनी अपने सभी प्राॅपर्टीज और होटल्स को सैनिटाइज कर रही है और उसे 'सैनिटाजइज्ट स्टे' का टैग दे रही है। कंपनी का कहना है कि यह टैग होटल्स या फिर रूम की साफ-सफाई, सुरक्षा और सोशल डिस्टेंसिंग के सभी मानको को सुनिश्चित करती हैं। 

अगले 10 दिन में 1000 होटलों को 'सैनिटाइज स्टे' का टैग देगी ओयो

ओयो इंडिया के सीईओ रोहित कपूर ने कहा कि उपभोक्ता एंव होटल कर्मचारी की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए प्राॅपर्टी स्तर पर कई कदम उठाए जाएंगे। ओयो जानती है कि लाॅकडाउन के बाद की दुनिया में उपभोक्ताओं की जरूरतें पूरी तरह बदल जाएंगी। कंपनी का कहना है कि ओयो अपने सभी होटल्स को साफ-सफाई कर उसे सैनिटाइज करने का काम शुरू कर दी है। साथ ही कम से कम संपर्क के लिए नई योजना पर काम कर रही है। पहले चरण में ओयो ने अगले 10 दिनों के अंदर 1000 होटलों को सैनिटाइज स्टे का टैग देगी। लाॅकडाउन में छूट मिलने के बाद कंपनी देश के सभी 18,000 होटलों में इन पहलों पर काम करेगी। 

ओयो ने ग्राहकों की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए कई कदम उठाए हैं, जैसे कि- 
  
न्यूनतम संपर्क के साथ सैनिटाइज्ड स्टे 

चेक-इन और चेक-आउटः सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने के लिए ओयो चेक-इन एवं चेक-आउट की प्रक्रिया में न्यूनतम संपर्क सुनिश्चित करेगी। होटल चेन क्यूआर कोड के इस्तेमाल एवं मेहमानों की आईडी पहले से अपलोड कर सुनिश्चित करेगी कि चेक-इन या चेक-आउट के दौरान मेहमानों को किसी चीज को छूना न पड़े। इस तरह सभी औपचारिकताएं न्यूनतम संपर्क के साथ पूरी की जाएंगी। 

न्यूनतम संपर्क सेवाः उपभोक्ता से जुड़े सभी टच पाइन्ट्स पर सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने के लिए ओयो न्यूनतम संपर्क रूम सर्विस उपलब्ध कराएगी और हाउसकीपिंग स्टाफ को भी इसके लिए ट्रेंड किया जाएगा। 

सैनिटाइज्ड स्टे का टैगः कंपनी के प्लेटफाॅर्म पर लिस्टेड सभी प्राॅपर्टीज, बुकिंग पेज पर सैनिटाइजेशन का टैग डिस्प्ले किया जाएगा। होटल नियमित रूप से सैनिटाइजेशन, हाइजीन एवं सुरक्षात्मक उपकरणों के लिए ऑडिट जांच करेंगे। इस तरह की जांच के बाद प्राॅपर्टी को बुकिंग पेज पर 'सैनिटाइज्ड स्टे' का टैग दिया जाएगा। इसके अलावा नियमित रूप से प्राॅपर्टीज में गेस्ट आॅडिट भी किया जाएगा, मेहमानों से मिले फीडबैक, रिव्यू एवं सुझावों के आधार पर 'सैनिटाइज्ड टैग' को जारी रखने पर विचार भी किया जाएगा।  

ऑन

-ग्राउंड टीमों का प्रशिक्षणः नए प्रशिक्षण मोड्यूल में बदलाव की गई संचालन प्रक्रियाओं के आधार पर एसओपी शामिल किए जाएंगे जैसे-   

  • गेस्ट और स्टाफ की स्वास्थ्य स्क्रीनिंग

  • नियमित रूप से सैनिटाइजेशन, रिसेप्शन पर हैण्ड सैनिटाइज़र रखना तथा हर समय सेफ्टी गियर्स पहनना

  • कमरे के अंदर ही खाना (इन-रूम डाइनिंग)

  • लोगें के बीच सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने के लिए फर्श पर डिस्टेंस मार्कर पेंट किए जाएंगे।

  • गेस्ट से अनुरोध किया जाएगा कि जहां तक हो सके अपना सामान खुद कमरे में लेकर जाएं और वापस लाएं।

  • स्वास्थ्य एडवाइजरी एवं सरकारी गाइडलाइंस के अनुरूप ये नीतियां बनाई जाएंगी। 

  • रिसेप्शन एवं अन्य सभी प्रमुख स्थानों पर कोविड-19 के लिए हेल्पलाइन नंबर एवं जागरुकता सामग्री डिस्प्ले की जाएगी।

  • इमरजेंसी काॅन्टैक्ट नंबर एवं नजदीकी अस्पतालों का डिटेल्स भी होगा।

  • ओयो डिटेल्स लिखित/ विजुअल निर्देशों और ईमेल के जरिए कोविड-19 के लिए जरूरी ऐहतियातों के बारे में प्राॅपर्टी मालिकों को भी जागरूक बनाएगी। 

अन्य एहतियान भी बरती जाएगी

रोहित कपूर का कहना है कि एक होटल मालिक होने के नाते मैं अपनी प्राॅपर्टी में सुरक्षा एवं हाइजीन के सभी मानकों का पालन करूंगा ताकि हम वायरस को फैलने से रोक सकें। हमने दस्ताने, मास्क एवं मेहमानों और होटल स्टाफ के तापमान की जांच के लिए थर्मल गन का इंतजाम कर लिया है। रिसेप्शन पर सोशल डिस्टेंसिंग के निशान बना दिए गए हैं। हमारे स्टाफ को ओयो टीम ने सुरक्षा के प्रोटोकाॅल्स पर प्रशिक्षण दिया है। कोविड-19 का आतिथ्य उद्योग पर प्रभाव लम्बे समय तक रहेगा। हाइजीन को अपनाना ही इससे निपटने का एकमात्र तरीका है। साथ ही ओयो ने मौजूदा संकट से निपटने के लिए कोविड-19 वार रूम भी बनाया है। इसे खासकर कोरोना वाॅरियर्स और विदेश से लौट रहें भारतीयों को क्वारेंटाइन के मकसद से तैयार किया गया है।  




X
मौजूदा संकट से निपटने के लिए कोविड-19 वार रूम भी बनाया गया हैमौजूदा संकट से निपटने के लिए कोविड-19 वार रूम भी बनाया गया है

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.