• Home
  • The US unemployment rate fell to 13.3%, down from 14.7% in April, as businesses started hiring again

सुधार /अमेरिका की बेरोजगारी दर मई में 14.7% से गिरकर 13.3% पर आई, रोजगार खुलने से फिर से मिल रहीं नौकरियां

देश में हजारों स्टोर, रेस्तरां, जिम और अन्य कंपनियां फिर से खुलने लगी हैं, जिससे लोगों को रोजगार मिल रहा है देश में हजारों स्टोर, रेस्तरां, जिम और अन्य कंपनियां फिर से खुलने लगी हैं, जिससे लोगों को रोजगार मिल रहा है

  • रोजगार खुलने की संख्या बढ़ने से लोगों को भी तेजी से काम पर बुलाया जा रहा है
  • मई महीने के दौरान बेरोजगारी की दर श्वेत अमेरिकियों के लिए 12.4 प्रतिशत रही

मनी भास्कर

Jun 06,2020 04:46:00 PM IST

वाशिंगटन. कोविड-19 महामारी के बीच अमेरिका में बेरोजगारी की दर मई में अप्रत्याशित रूप से गिरकर 13.3 प्रतिशत पर आ गई। हालांकि, यह अभी भी महामंदी के दौरान की बेरोजगारी दर के आस-पास बनी हुई है। अमेरिकी सरकार ने शुक्रवार को कहा कि मई में 25 लाख लोगों को रोजगार मिला है। इससे बेरोजगारी दर अप्रैल के 14.7 प्रतिशत से गिरकर 13.3 प्रतिशत पर आ गई है।

देश के अंदर हजारों स्टोर, रेस्तरां, जिम और अन्य कंपनियां फिर से खुलने लगी हैं। जैसे-जैसे इनके खुलने की संख्या बढ़ रही, लोगों को रोजगार मिल रहा है, और कंपनियां लोगों को तेजी से काम पर बुला रही हैं। अमेरिका में बेरोजगारी दर घटने का फायदा भारत को भी मिलेगा।

बाजार से वायरस का असर खत्म
विश्लेषकों का मानना था कि मई में बेरोजगारी दर में बढ़ोतरी होगी, लेकिन इसके कम होने से विश्लेषक भी हैरान हैं। अर्थशास्त्रियों ने कई देश को चेतावनी दी थी कि विश्व-युद्ध के बाद बेरोजगारी दर 20% के उच्च स्तर तक जा सकती है। हालांकि, अब ऐसा माना जा रहा है कि कोरोनोवायरस महामारी के असर बाजार से खत्म हो रहा है।

मई महीने के दौरान बेरोजगारी की दर श्वेत अमेरिकियों के लिए 12.4 प्रतिशत रही। हालांकि, यह दर हिस्पैनिक लोगों के लिए 17.6 प्रतिशत और अफ्रीकी-अमेरिकियों के लिए 16.8 प्रतिशत रही। मई में आश्चर्यजनक तरीके से रोजगार सृजन के बाद भी अप्रैल और मार्च में छांटे गए लोगों को वापस काम मिलने में कई महीने लग सकते हैं।

अगले कुछ महीनों में तेजी आएगी
कुछ अर्थशास्त्रियों का मानना है कि बेरोजगारी की दर नवंबर में प्रस्तावित राष्ट्रपति चुनाव के बाद अगले साल भी 10 प्रतिशत से ऊपर रह सकती है। कार्नेल यूनिवर्सिटी में लेबर इकोनॉमिस्ट तथा लेबर डिपार्टमेंट्स ब्यूरो ऑफ लेबर स्टैटिस्टिक्स की पूर्व कमिश्नर एरिका ग्रोसेन ने कहा कि आने वाले महीनों में लोगों को नौकरियों पर रखे जाने में तेजी आ सकती है। इससे बेरोजगारी की दर साल के अंत तक कम होकर 10 प्रतिशत से कुछ अधिक रह सकती है।

नौकरी मिलने से रास्ता खुला
मार्च और अप्रैल में अमेरिकी नियोक्ता द्वारा 21 मिलियन (2.10 करोड़) से अधिक लोगों को नौकरियों से निकाला गया है, ऐसे में अभी छोटा सा रास्ता खुला है। लॉकडाउन के दौरान अमेरिका में कई व्यवसायों बंद हो गए थे। अप्रैल में बेरोजगारी दर 14.7% थी, जो 1930 के दशक की महामंदी के बाद का उच्चतम स्तर था।

इस बारे में लेबर सेक्रेटरी यूजीन स्कैलिया ने कहा कि रिपोर्ट से पता चला है कि आर्थिक पुन: उद्घाटन विचार से अधिक मजबूत है। उन्होंने कहा, "ऐसा लगता है कि देश के अंदर बाजारों से कोरोनोवायरस का बुरा प्रभाव पीछे छूट गया है।" इस खबर से देश के शेयर बाजार में भी सकारात्मक असर देखने को मिला है।

फिर से नौकरी मिलने के मामले में सिर्फ अमेरिका ही आगे नहीं बढ़ा है, बल्कि कनाडा में 290,000 लोगों को नौकरी मिली है। हालांकि, यहां बेरोजगार दर 3.7% है, जो 1976 की तुलना में उच्चतम स्तर पर है।

सरकार से आपातकालीन मदद मिली
शुक्रवार को अर्थशास्त्रियों ने चेतावनी दी कि आर्थिक सुधार का मार्ग अभी भी अनिश्चित है। उन्होंने बताया कि मई में लोगों को काम पर इसलिए रखा गया, क्योंकि सरकार ने व्यवसायों को आपातकालीन मदद के लिए अरबों डॉलर जारी किए थे।

पिछले महीने रेस्तरां और बार को किराए पर लेने से कई नौकरियां मिली। वहीं, डेंटिस्ट ऑफिस का इसमें 10% योगदान रहा। उन लोगों को भी इसका फायदा मिला जिन्होंने सर्वे के दौरान बताया था कि उनकी छंटनी अस्थाई थी।

अर्थव्यवस्था में अभी भी बहुत ज्यादा कमी

बैंक ऑफ अमेरिका में यूएस इकॉनोमिस्ट के हेड मिशेल मेयर ने कहा, "अर्थव्यवस्था में अभी भी बहुत ज्यादा कमी है। जब यह कम होने लगता है, तो हम रिकवरी के अंतर्निहित स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ सीखते हैं।"

श्रम विभाग ने आगाह किया कि डेटा-संग्रह के मुद्दे पूरे संकट के दौरान एजेंसी परेशान हुई हैं। कुछ अस्थायी रूप से बेरोजगार श्रमिकों को मई में नियोजित किया गया; क्या उन्हें सही ढंग से गिना गया था। विभाग ने कहा बेरोजगारी की दर 16 प्रतिशत से ऊपर होगी।

X
देश में हजारों स्टोर, रेस्तरां, जिम और अन्य कंपनियां फिर से खुलने लगी हैं, जिससे लोगों को रोजगार मिल रहा हैदेश में हजारों स्टोर, रेस्तरां, जिम और अन्य कंपनियां फिर से खुलने लगी हैं, जिससे लोगों को रोजगार मिल रहा है

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.