पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48690.8-0.96 %
  • NIFTY14696.5-1.04 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475690 %
  • SILVER(MCX 1 KG)698750 %
  • Business News
  • TCS Total Employee Count 2021 Update; Tata Consultancy Services India's Highest Employees Company After Indian Railways

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दुनिया की दूसरी बड़ी IT कंपनी:रेलवे के बाद TCS सबसे ज्यादा कर्मचारियों वाली कंपनी, चालू वर्ष में कर्मचारियों की संख्या होगी 5 लाख

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 5.37 लाख कर्मचारियोंं के साथ एसेंचर दुनिया की सबसे बड़ी आईटी कंपनी है
  • चौथी तिमाही में टीसीएस का कुल मुनाफा 9,282 करोड़ रुपए रहा है

देश की सबसे बड़ी IT कंपनी टाटा कंसलटेंसी सर्विसेस (TCS) चालू तिमाही में 5 लाख कर्मचारियों वाली कंपनी बन जाएगी। देश में रेलवे के बाद यह सबसे ज्यादा कर्मचारियों वाली कंपनी है। रेलवे के पास 12.54 लाख कर्मचारी हैं। वैश्विक स्तर पर सूचना एवं प्रौद्योगिकी (IT) कंपनियों में यह कर्मचारियों के मामले में दूसरे नंबर पर है। इससे पहले एसेंचर है जिसके पास 5.37 लाख कर्मचारी हैं।

टीसीएस ने इसी हफ्ते जारी किया था रिजल्ट

TCS ने इसी हफ्ते अपना फाइनेंशियल रिजल्ट जारी किया था। कंपनी ने बताया था कि वह अप्रैल 2021 से मार्च 2022 के दौरान 40 हजार फ्रेशर की हायरिंग करेगी। पिछले वित्त वर्ष में भी कंपनी ने 40 हजार से ज्यादा फ्रेशर को नौकरी दी। कंपनी ने चौथी तिमाही के दौरान 19,388 कर्मचारियों की हायरिंग की। यह किसी एक तिमाही में सबसे अधिक है। साल के अंत तक कंपनी के कुल कर्मचारियों की 488,649 रही।

देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर एक्सपोर्टर कंपनी

TCS देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर एक्सपोर्टर कंपनी है। यह विश्व की सबसे ज्यादा मूल्यवान IT कंपनियों में से एक है। यह देश में निजी सेक्टर में सबसे ज्यादा कर्मचारियों वाली कंपनी है। कंपनी में कर्मचारियों के छोड़ कर जाने का अनुपात भी काफी कम है जो 7.3% है। कंपनी के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी मिलिंद लक्कड ने TCS के रिजल्ट में कहा था कि इस साल की ज्यादातर हायरिंग पहली तिमाही में होगी। यानी 40 हजार कर्मचारियों में से करीबन 45% कर्मचारियों की नियुक्ति अप्रैल से जून के दौरान होगी।

कंपनी के CEO राजेश गोपीनाथन ने कहा कि हम टैलेंट हायरिंग को लेकर आश्वस्त हैं और हमारा विश्वास है कि आंतरिक तौर पर हम टैलेंट को डेवलप करें।

इंफोसिस के पास 2.5 लाख कर्मचारी

IT कंपनियों की बात करें तो एसेंचर के पास 5.37 लाख कर्मचारी हैं। इंफोसिस के पास 2.5 लाख कर्मचारी हैं तो HCL टेक के पास 1.6 लाख और विप्रो के पास 1.9 लाख कर्मचारी हैं। इस लिहाज से TCS इन आईटी कंपनियों से काफी आगे है। निजी सेक्टर की बात करें तो बिरला ग्रुप के पास 1.2 लाख कर्मचारी हैं। लार्सन एंड टूब्रो (L&T) के पास 3.37 लाख और रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के पास 2 लाख के करीब कर्मचारी हैं।

2005 में 45 हजार थे कर्मचारी

अगर साल 2005 की बात करें तो TCS के पास केवल 45 हजार कर्मचारी थे। 2007 में यह संख्या बढ़कर 1 लाख पर पहुंच गई। 2005 की तुलना में आज 16 सालों में इसके कर्मचारियों की संख्या में 10 गुना से ज्यादा बढ़त हुई है। वैसे वित्त वर्ष 2022 में देश की 4प्रमुख कंपनियां कुल 91 हजार कर्मचारियों की हायरिंग करेंगी। इसमें से अकेले करीबन 35% हिस्सा TCS के पास होगा। इंफोसिस 24 हजार लोगों की भर्ती करेगी। HCL 15 हजार लोगों की भर्ती करेगी।

एसेंचर को पीछे छोड़ सकती है

जिस तरह से TCS हायरिंग कर रही है, अगले कुछ सालों में वह एसेंचर को पीछे छोड़कर दुनिया की सबसे ज्यादा कर्मचारियों वाली IT कंपनी बन सकती है। सालाना आधार पर उसकी नए कर्मचारियों की संख्या से ऐसा कुछ दिख रहा है। खासकर कोरोना जैसे माहौल में IT कंपनियों को लगातार नई हायरिंग पर फोकस करना पड़ रहा है। TCS मूलरूप से कॉलेज कैंपस से ही नए कर्मचारियों की हायरिंग करती है। यह फ्रेशर की हायरिंग करती है और फिर उनमे टैलेंट को तलाशती है।

कंपनी उनकी ट्रेनिंग और टैलेंट के डेवलपमेंट पर भारी खर्च करती है। यही कारण है कि कंपनी से कर्मचारियों को छोड़ने की संख्या काफी कम रहती है।

कंपनी का मुनाफा 9,282 करोड़ रुपए रहा है

वित्त वर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही में कंपनी का कुल मुनाफा 9,282 करोड़ रुपए रहा है। यह एक साल पहले की समान अवधि के 8,093 करोड़ रुपए था। यानी कंपनी के प्रॉफिट में 14.69% की ग्रोथ रही। कंपनी ने हर एक शेयर पर 15 रुपए डिविडेंड देने का भी ऐलान किया है। जनवरी-मार्च तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू भी 9.71% बढ़कर 44,636 करोड़ रुपए रहा। पूरे वित्त वर्ष में कंपनी का कुल प्रॉफिट 32,562 करोड़ रुपए रहा। इससे पिछले वित्त वर्ष में कंपनी को 32,447 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था।