पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Swiggy Lays Off 380 Employees Of Its 6,000 strong Workforce, CEO Says Extremely Difficult Decision

फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म स्विगी में छंटनी:स्विगी ने अपने 6,000 के टोटल वर्कफोर्स में से 380 एम्प्लॉइज को निकाला

15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म स्विगी ने अपने 6,000 के टोटल वर्कफोर्स में से 6.33% यानी 380 एम्प्लॉइज की छंटनी कर दी है। इस बात की जानकारी शुक्रवार को स्विगी के CEO श्रीहर्ष मजेटी ने दी है। मजेटी ने कहा कि कंपनी के लिए यह बहुत ही मुश्किल फैसला है।

हम 380 टैलेंटेड स्विगीस्टर्स को अलविदा कह रहे हैं
श्रीहर्ष मजेटी ने एम्प्लॉइज को ईमेल कर कहा, 'हम रिस्ट्रक्चरिंग एक्सरसाइज के हिस्से के रूप में अपनी टीम के साइज को कम करने के लिए बेहद कठिन फैसला ले रहे हैं। इस प्रोसेस में हम 380 टैलेंटेड स्विगीस्टर्स को अलविदा कह रहे हैं। यह सभी अवेलेबल ऑप्शंस को एक्सप्लोर करने के बाद लिया गया एक बहुत ही मुश्किल फैसला है। इससे गुजरने के लिए आप सभी से मैं माफी मांगता हूं।'

स्विगी ने कॉम्प्रिहेंसिव एम्प्लॉई असिस्टेंस प्लान बनाया
कंपनी ने कहा कि उसने एक कॉम्प्रिहेंसिव एम्प्लॉई असिस्टेंस प्लान बनाया है, जो ट्रांजिशन के दौरान प्रभावित एम्प्लॉइज को उनकी फाइनेंशियल और फिजिकल वेल बींग में मदद करेगा। मजेटी ने कहा कि कंपनी नई बिजनेस अपॉर्चुनिटीज की तलाश के लिए कमिटेड है, लेकिन इसके कुछ मौजूदा नए वर्टिकल्स पर भी हमारी सख्त नजर है।

हम नए वर्टिकल्स में निवेश करना जारी रखेंगे
मेल में मजेटी ने कहा, 'बहुत जल्द हम अपने मीट मार्केट को बंद कर देंगे। जबकि टीम ने सॉलिड इनपुट के साथ असाधारण रूप से अच्छा प्रदर्शन किया है। हम अपने इटरेशंस के बावजूद प्रोडक्ट मार्केट में फिट नहीं हो पाए हैं। कस्टमर्स के दृष्टिकोण से हम अभी भी इंस्टामार्ट के जरिए मीट डिलीवरी की पेशकश करेंगे। हम अन्य सभी नए वर्टिकल्स में निवेश करना भी जारी रखेंगे।'

मजेटी ने कहा कि पिछले साल चैलेंजिंग मैक्रो इकोनॉमिक कंडीशन में दुनिया भर की कंपनियां न्यू नॉर्मल के साथ तालमेल बिठा रही हैं। उन्होंने कहा, 'हम यहां कोई अपवाद नहीं हैं और फूड डिलीवरी और इंस्टामार्ट पर प्रॉफिटेबिलिटी के लिए पहले से ही अपनी समयसीमा आगे बढ़ा चुके हैं। जबकि हमारे कैश रिजर्व हमें कठोर परिस्थितियों में मौलिक रूप से अच्छी स्थिति में रहने के लिए मदद करते हैं। हम इसे एक बैसाखी नहीं बना सकते हैं और हमारे लॉन्ग-टर्म को सुरक्षित करने के लिए एफिशिएंसीज की पहचान करना जारी रखेंगे।'

8-10% एम्प्लॉइज की छंटनी करने का प्लान
एक दिन पहले खबरें आई थीं कि स्विगी फंडिंग स्लोडाउन और कॉस्ट को रेशनेलाइज बनाने के लिए अपने टोटल वर्कफोर्स में से 8-10% एम्प्लॉइज की छंटनी करने का प्लान बना रहा है। रिपोर्ट में बताया गया है कि इस बार छंटनी में प्रोडक्ट, इंजीनियरिंग और ऑपरेशन डिपार्टमेंट्स के एम्प्लॉइज पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ने की संभावना है।

स्विगी ने पहले कहा था कि वह अपना IPO लाने से पहले ऑपरेशनली प्रॉफिटेबल होने का लक्ष्य बना रही है, जो हाल के महीनों में टेक स्टॉक्स के खराब परफॉर्मेंस के कारण इस साल के लेटर हाल्फ में डिले हो गया है।

स्विगी के एम्प्लॉइज पर काम का दबाव
कंपनी ने अक्टूबर 2022 में अपने परफॉर्मेंस रिव्यू को पूरा किया था। जिसके बाद सभी एम्प्लॉइज को परफॉर्मेंस इंप्रूवमेंट प्लान (PIP) के तहत रखा गया था। सूत्रों के मुताबिक, स्विगी के एम्प्लॉइज पर काम का भारी दबाव है, क्योंकि मैनेजमेंट नंबर्स हासिल करने के लिए टीमों में फेरबदल और IPO लॉन्च करने से पहले पॉजिटिव यूनिट इकोनॉमिक्स को प्रभावित कर रहा है।

मार्केट में जोमैटो से पिछड़ रही स्विगी
साथ ही बढ़ती वैश्विक अनिश्चितताओं और मंदी की आशंकाओं के बीच भारतीय स्टार्ट-अप्स संभावित फंडिंग विंटर की ओर देख रहे हैं। ब्रोकरेज फर्म जेफरीज ने नवंबर में कहा था कि स्विगी तेजी से अपने राइवल जोमैटो से मार्केट में अपनी हिस्सेदारी खो रही है।

FY22 में स्विगी को दोगुना घाटा हुआ
फाइनेंशियल ईयर 2022 (FY22) में स्विगी का घाटा दोगुना से अधिक बढ़कर 3,628.90 करोड़ रुपए रहा था। स्विगी के मुताबिक, कंपनी को यह घाटा अपने ग्रॉस रेवेन्यू को बढ़ाने की कोशिशों के कारण हुआ है। FY22 में स्विगी का ग्रॉस रेवेन्यू 124% बढ़कर 5,705 करोड़ रुपए रहा। वहीं FY21 में कंपनी का ग्रॉस रेवेन्यू 2,547 करोड़ रुपए रहा था।

खबरें और भी हैं...