पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61350.260.63 %
  • NIFTY18268.40.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479750.13 %
  • SILVER(MCX 1 KG)65231-0.33 %
  • Business News
  • Stock Market Index Nifty Historical Data; Mukesh Ambani Reliance Industries Top Positive Contributors

7,511 से 17,519 तक की निफ्टी की यात्रा:निफ्टी की 10 हजार की बढ़त में रिलायंस का सबसे ज्यादा योगदान, सरकारी कंपनियां रहीं पीछे

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के निफ्टी इंडेक्स ने पिछले साल मार्च से अब तक 10 हजार की बढ़त हासिल किया है। इस 10 हजार की बढ़त में रिलायंस इंडस्ट्रीज का सबसे ज्यादा योगदान रहा। रिलायंस ने एक हजार पॉइंट का योगदान दिया। जबकि सरकारी कंपनियों ने इस बढ़त में काफी कम योगदान दिया है।

मार्च 2020 में निफ्टी 7,511 अंक पर था

आंकड़े बताते हैं कि निफ्टी पिछले साल मार्च में 7,511 अंक पर था। पिछले हफ्ते निफ्टी ने 17,519 के लेवल को टच किया था। यानी इस दौरान निफ्टी में 10 हजार अंकों की बढ़त देखी गई। ऑयल से टेलीकॉम सेक्टर में फैली रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) ने निफ्टी के 10 हजार की बढ़त में 10% यानी एक हजार पॉइंट का योगदान दिया।

रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की सबसे बड़ी कंपनी है

रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की सबसे बड़ी कंपनी है। इसका शेयर इस समय पिछले एक साल में हाइएस्ट लेवल पर है। इस समय यह शेयर 2,400 रुपए के करीब कारोबार कर रहा है। जबकि मार्च 2020 में यह शेयर 875 रुपए का निचला स्तर बनाया था। हालांकि उसी साल सितंबर में यह 2,368 रुपए का हाइएस्ट भी बनाया था। अब रिलायंस के शेयर ने उस लेवल को पार कर लिया है।

TCS ने 532 अंकों का योगदान दिया

टाटा कंसलटेंसी सर्विसेस (TCS) ने निफ्टी के 10 हजार की बढ़त में 532 अंकों का योगदान दिया है। जबकि इसी दौरान दूसरी IT कंपनी इंफोसिस ने 963 अंकों का योगदान दिया है। यानी रिलायंस के बाद इंफोसिस सबसे ज्यादा योगदान निफ्टी की बढ़त में की है। HDFC बैंक ने 611 अंकों का, जबकि HDFC लिमिटेड ने 578 अंकों का योगदान निफ्टी की बढ़त में दिया।

TCS और इंफोसिस दोनों के शेयर्स ने अच्छी खासी बढ़त हासिल की है। दोनों के शेयर्स एक साल के ऊपरी स्तर पर हैं। TCS 14 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा मार्केट कैप वाली दूसरी कंपनी बन गई है।

ICICI बैंक ने 552 अंकों का योगदान दिया

निजी सेक्टर के बड़े बैंक ICICI बैंक ने निफ्टी की बढ़त में 552 अंकों का योगदान दिया। इंफ्रा सहित कई सेक्टर में शामिल लॉर्सन एंड टूब्रो (L&T) ने 325 अंकों का योगदान दिया। एक्सिस बैंक ने 315, बजाज फाइनेंस ने 304 और कोटक महिंद्रा बैंक ने 260 अंकों का योगदान दिया। इस तरह देखा जाए तो निफ्टी के 10 हजार की बढ़त में बैंकिंग सेक्टर का ज्यादा योगदान रहा। कुल 4 बैंकों ने इस दौरान योगदान दिया।

BSE सेंसेक्स में 33 हजार पॉइंट की बढ़त

पिछले साल मार्च से अब तक बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के सेंसेक्स में 33 हजार पॉइंट या 129% की बढ़त देखी गई। सेंसेक्स पिछले साल 24 मार्च को 25,638 अंक पर बंद हुआ था। पिछले डेढ़ साल में बाजार में काफी पैसा आया। बाजार में पैसा आने की मुख्य वजह दुनिया भर के केंद्रीय बैंकों द्वारा ब्याज दरों में कटौती थी। इस कारण लोगों ने ज्यादा फायदा कमाने के लिए बैंकों की बजाय शेयर बाजार में पैसा लगाया। इसके साथ ही कोविड-19 के आंकड़ों में कमी और देश की अर्थव्यवस्था में धीरे-धीरे रिकवरी भी बाजार में तेजी लाने में प्रमुख भूमिका निभाई।

सरकारी कंपनियों में कोल इंडिया ने 16 अंक, इंडियन ऑयल ने 39 अंक, एनटीपीसी ने 50 अंक, पावर ग्रिड ने 53 अंक और भारत पेट्रोलियम ने 53 अंक का योगदान निफ्टी की बढ़त में दिया।