पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57858.150.64 %
  • NIFTY17277.950.75 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486870.08 %
  • SILVER(MCX 1 KG)63687-1.21 %
  • Business News
  • SMT Will Bring IPO, Issue Will Be Filed With Market Regulator SEBI, Company Plans To Raise Rs 1,500 Crore

SMT लाएगी IPO:इश्यू के लिए मार्केट रेगुलेटर सेबी को दी अर्जी, कंपनी की 1500 करोड़ रुपए जुटाने की योजना

मुंबई4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारत की सबसे बड़ी कार्डियक स्टेंट बनाने वाली कंपनी सहजानंद मेडिकल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड (SMT) ने इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) लाने की तैयारी कर ली है। जिसके लिए कंपनी ने मार्केट रेगुलेटर सेबी के पास डॉक्यूमेंट (DRHP) जमा कर दिए हैं। कंपनी की IPO के जरिए 1,500 करोड़ रुपए जुटाने की योजना है।

410.33 करोड़ रुपए के फ्रेश शेयर्स जारी किए जाएंगे
DRHP के मुताबिक IPO में 410.33 करोड़ रुपए के फ्रेश शेयर्स जारी किए जाएंगे। 1,089.67 करोड़ रुपए के शेयर्स ऑफर फॉर सेल के जरिए बेचने की योजना है। जिसमें मौजूदा प्रमोटर्स और शेयरहोल्डर्स अपनी हिस्सेदारी बेचेंगे। OFS में धीरजकुमार एस वासोया 100 करोड़ रुपए तक, श्री हरि ट्रस्ट द्वारा 33.75 करोड़ रुपए तक, समारा कैपिटल मार्केट्स होल्डिंग लिमिटेड 635.56 करोड़ रुपए तक और NHPEA स्पार्कल होल्डिंग BV 320.36 करोड़ तक के शेयर बेचेंगे।

एक्सिस कैपिटल, बोफा सिक्योरिटीज इंडिया, एडवाइस फाइनेंशियल सर्विसेज और UBS सिक्योरिटीज इंडिया इश्यू के बुक रनिंग लीड मैनेजर होंगे

कंपनी कर्ज चुकाने में करेगी फंड का इस्तेमाल
कंपनी IPO से जुटाए गए फंड में से 255 करोड़ रुपए का कर्ज चुकाने में इस्तेमाल करेगी। 40.30 करोड़ रुपए का इस्तेमाल वर्किंग कैपिटल की जरूरतों को पूरा करने में किया जाएगा। कंपनी पर जून 2021 तक कुल 361.35 करोड़ रुपए का कर्ज है।

कंपनी का कारोबार
यह लीडिंग मेडिकल डिवाइस बनाने वाली कंपनी है। जो विश्व स्तर पर वैस्कुलर डिवाइस का रिसर्च, डिजाइन, डेवलप और मैन्युफैक्चरिंग करती है। कंपनी की 69 से ज्यादा देशों में प्रत्यक्ष और डिस्ट्रीब्यूटर सेल्स उपस्थिति है। जिसमें जर्मनी, पोलैंड, स्पेन, फ्रांस, यूके और ब्राजील जैसे देश शामिल हैं। यह सूरत, बेंगलुरु और नोंथबुरी, थाईलैंड में स्थित 3 मैन्युफैक्चरिंग सर्विस का संचालन करती है। कंपनी हैदराबाद में एक नया मैन्युफैक्चरिंग कैंपस स्थापित कर रही है।

मार्च 2021 तक इसे भारत में अतिरिक्त 17 पेटेंट और 4 डिजाइन रजिस्ट्रेशन की पाइपलाइन के साथ ग्लोबल स्तर पर 67 पेटेंट दिए गए हैं।

2020-21 में कंपनी का रेवेन्यू बढ़ा
कंपनी का फाइनेंशियल ईयर 2020-21 में ऑपरेशन से रेवेन्यू 588.52 करोड़ रुपए रहा, जो एक साल पहले 479.91 करोड़ करोड़ था। समान अवधि में कंपनी का घाटा 25.44 करोड़ रुपए से बढ़कर 72.34 करोड़ रुपए हो गया था।