पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48690.8-0.96 %
  • NIFTY14696.5-1.04 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475690 %
  • SILVER(MCX 1 KG)698750 %
  • Business News
  • SIP Mutual Fund Investment News; Multicap Growth Scheme Gave Up To 27.2 Percent Returns

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मल्टीकैप फंड के फायदे:म्यूचुअल फंड में SIP निवेशकों की चांदी, महिंद्रा की स्कीम ने दिया 3 साल में 27.2% का फायदा

मुंबई12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एसआईपी के जरिए एक नियमित तरीके से एक तय समय में निवेश होते रहता है, इसलिए बाजार के उतार-चढ़ाव का इस पर असर नहीं होता है। लंबे समय में यह निवेश को एक औसत तरीके से फायदे देने में मदद करता है - Money Bhaskar
एसआईपी के जरिए एक नियमित तरीके से एक तय समय में निवेश होते रहता है, इसलिए बाजार के उतार-चढ़ाव का इस पर असर नहीं होता है। लंबे समय में यह निवेश को एक औसत तरीके से फायदे देने में मदद करता है
  • एसआईपी के जरिए हर महीने एक छोटा निवेश करें
  • लंबे समय में आपके लिए यह बड़ी रकम बन जाएगी

अगर आप सोच रहे हैं कि कम निेवेश करके बेहतर रिटर्न कमाया जाए तो आपके लिए सिस्टमैटिक इन्वेसमेंट प्लान यानी एसआईपी सबसे बेहतर तरीका हो सकता है। पिछले 3 सालों में महिंद्रा मैनुलाइफ की मल्टीकैप बढ़त योजना ने निवेशकों को 27.2% का रिटर्न दिया है।

एसआईपी का फायदा यह कि 500 रुपए से निवेश कीजिए

एसआईपी का फायदा यह है कि आप 500 रुपए महीने से इसकी शुरुआत कर सकते हैं। यानी एक छोटी रकम हर महीने निवेश कर लंबे समय में एक बड़ी रकम बना सकते हैं। एसआईपी बचत की आदत डालने, अनुशासित तरीके से निवेश करने और कंपाउंडिंग यानी चक्रवृद्धि तरीके से ब्याज हासिल करने का बेहतर साधन है। अर्थलाभ डॉटकॉम के आंकड़े बताते हैं कि महिंद्रा मैनुलाइफ की मल्टीकैप बढ़त योजना में किसी ने 3 साल में हर महीने 10 हजार रुपए का निवेश किया होगा तो वह आज 5.33 लाख रुपए हो गया है। जबकि निवेश की रकम 3.60 लाख रुपए रही है।

29 अप्रैल 2018 से एसआईपी का मिला फायदा

आंकड़ों के मुताबिक, 29 अप्रैल 2018 से लेकर 28 अप्रैल 2021 तक जिसने भी इस फंड में एसआईपी की होगी, उसे यह रिटर्न मिला है। यह फंड इस कैटेगरी में रैंकिंग में नंबर वन पर है। तीन साल की अवधि में यदि निफ्टी 50 से इसकी तुलना करें तो इसने 18.4% का फायदा दिया है।

एसआईपी बेहतर तरीका बन कर उभरा है

MWF फिनसर्व के पार्टनर भद्रेश देवकर के मुताबिक, म्यूचुअल फंड में एसआईपी एक बेहतर तरीका बनकर उभरा है। निवेशक इसे लेकर उत्साहित हैं और फिक्स्ड इनकम जैसे बैंक की एफडी की तुलना में यह फायदा देने में बेहतर साबित हुआ है। यह उन निवेशकों के लिए अच्छा है जो शेयर बाजार की तरह निवेश का अनुभव करना चाहते हैं पर आक्रामक तरीके से म्यूचुअल फंड में एसआईपी के जरिए निवेश करने के लिए उनके पास समय नहीं है।

निवेश पर मिलता है ज्यादा रिटर्न

वे कहते हैं कि म्यूचुअल फंड्स में एसआईपी के जरिए निवेश करने से न केवल संपत्तियों में अच्छा इजाफा होता है बल्कि यह एक अच्छा अवसर भी निवेशकों के लिए लाता है। जब भी हम म्यूचुअल फंड स्कीम का फायदा देखेंगे तो आमतौर पर कम समय में इक्विटी म्यूचुअल फंड उतार-चढ़ाव वाला हो सकता है।निवेशक बाजार की स्थितियों के आधार पर कम अवधि पर निवेश का फोकस करते हैं।

चूंकि एसआईपी के जरिए एक नियमित तरीके से एक तय समय में निवेश होते रहता है, इसलिए बाजार के उतार-चढ़ाव का इस पर असर नहीं होता है। लंबे समय में यह निवेश को एक औसत तरीके से फायदे देने में मदद करता है।