पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Share Market ; Power Stocks Outperform In 2021, 2020 Topper Healthcare Lags Behind

भास्कर एनालिसिस:2021 में पावर स्टॉक्स का प्रदर्शन सबसे अच्छा, 2020 का टॉपर हेल्थकेयर पीछे छूटा

मुकुल शास्त्री4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कैलेंडर वर्ष 2020 की शुरुआत में महामारी उभरने के बाद शेयर बाजार में भारी गिरावट आई थी। 2021 की बात करें तो बीते साल बाजार उससे ज्यादा तेज रफ्तार से चढ़े। BSE के 19 सेक्टोरल इंडेक्स की बात करें तो 2020 में सबसे अच्छे प्रदर्शन वाला हेल्थकेयर इंडेक्स 2021 में फिसड्डी साबित हुआ।

वहीं दूसरा सबसे अच्छा परफॉर्म करने वाले आईटी इंडेक्स का प्रदर्शन 2021 में लगभग जस का तस 56% से थोड़ा अधिक रहा। पावर इंडेक्स स्टार परफॉर्मर के रूप में उभरकर सामने आया। इसमें सबसे अधिक 69% बढ़त रही।

टीकाकरण तेज होने से हेल्थकेयर इंडेक्स की रफ्तार धीमी पड़ी
बाजार विशेषज्ञों के मुताबिक, 2020 में कोरोना महामारी उभरने के बाद फार्मा शेयरों में जबर्दस्त तेजी आई थी। इसके चलते उस साल हेल्थकेयर इंडेक्स में सबसे अधिक 61.45% की बढ़त दर्ज हुई। यह अकेला ऐसा सूचकांक था, जिसमें 60% से अधिक तेजी दर्ज हुई थी। लेकिन टीकाकरण के रफ्तार पकड़ने के साथ हेल्थकेयर इंडेक्स की रफ्तार मंद पड़ी।

2021 में BSE के 19 में से पांच इंडेक्स 60% से अधिक बढ़त के साथ बंद
2021 में हेल्थकेयर इंडेक्स 21% बढ़कर बंद हुआ। 2021 में BSE के 19 में से पांच इंडेक्स 60% से अधिक बढ़त के साथ बंद हुए। पावर इंडेक्स सबसे अधिक 69% बढ़कर बंद हुआ। इसके बाद 60% से अधिक बढ़त दर्ज कराने वाले इंडेक्स में इंडस्ट्रियल (66.62%), मेटल (66%), यूटिलिटीज (64.38%) और बेसिक मटेरियल्स (61.53%) का क्रम रहा। 2020 में BSE के 16 इंडेक्स पॉजिटिव जोन में और तीन निगेटिव जोन में बंद हुए थे। 2021 में सभी 19 इंडेक्स पॉजिटिव जोन में बंद हुए। एफएमसीजी इंडेक्स सबसे नीचे रहा। इसमें 9.32% की बढ़त रही।

2021 में BSE इंडेक्स का प्रदर्शन

सबसे अच्छाबढ़तसबसे कमजोरबढ़त
पावर68.84%FMCG9.32%
इंडस्ट्रियल्स66.62%बैंकेक्स12.59%
मेटल65.92%फाइनेंस14.10%
यूटिलिटीज64.38%ऑटो19.25%
बेसिक मटेरियल्स61.53%हेल्थकेयर20.87%

बिजली की मांग बढ़ने से पॉवर सेक्टर दिखाएगा दम
जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेस के हेड ऑफ रिसर्च विनोद नायर कहते हैं, पावर स्टॉक्स के बेहतर प्रदर्शन के कई कारण हैं। 2020 में लॉकडाउन में बिजली की मांग तेजी से घटी थी। लेकिन 2021 में औद्योगिक गतिविधियों के रफ्तार पकड़ने से बिजली की मांग तेजी से बढ़ी। सरकार ने पावर सेक्टर में रिफॉर्म किया। अक्षय ऊर्जा पर फोकस बढ़ाया। रिलायंस, अदाणी टाटा जैसे बड़े औद्योगिक समूह ग्रीन एनर्जी में निवेश करने जा रहे हैं। इससे कंपनियों का प्रदर्शन सुधरा।

बाजार में लगातार तीसरे दिन बढ़त, सेंसेक्स 673 अंक चढ़ा
घरेलू शेयर बाजार मंगलवार को लगातार तीसरे दिन तेजी के साथ बंद हुए। सेंसेक्स 672.71 अंकों की उछाल के साथ 59,855.93 पर बंद हुआ। निफ्टी भी 179.55 अंकों की छलांग लगाकर 17,805.25 पर बंद हुआ। कारोबारियों के मुताबिक, वैश्विक स्तर पर सकारात्मक रुख के बीच चौतरफा खरीदारी निकलने से बाजार में दिनभर मजबूती का रुझान बना रहा।