पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52543.9-0.43 %
  • NIFTY15787.65-0.51 %
  • GOLD(MCX 10 GM)484450.65 %
  • SILVER(MCX 1 KG)71241-0.2 %
  • Business News
  • Service PMI First Time In 9 Months Companies Gave More Employment Index Increased For The Second Consecutive Month

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सर्विस PMI:9 महीने में पहली बार सर्विस सेक्टर ने ज्यादा रोजगार दिया, कारोबारी गतिविधियों में लगातार दूसरे महीने तेजी रही

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सर्विसेज और मैन्यूफैक्चरिंग दोनों सेक्टरों का हाल बताने वाला कंपोजिट PMI आउटपुट इंडेक्स नवंबर में घटकर 56.3 पर आ गया, जो अक्टूबर में 58 पर था - Money Bhaskar
सर्विसेज और मैन्यूफैक्चरिंग दोनों सेक्टरों का हाल बताने वाला कंपोजिट PMI आउटपुट इंडेक्स नवंबर में घटकर 56.3 पर आ गया, जो अक्टूबर में 58 पर था
  • इंडिया सर्विसेज बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स नवंबर में 53.7 पर रहा, जो अक्टूबर में 54.1 पर था
  • लगातार दूसरे महीने इंडेक्स 50 से ऊपर रहा, जिसका इसका मतलब यह है कि सेक्टर में ग्रोथ हुआ है

सर्विस सेक्टर ने 9 महीने में पहली बार नवंबर में ज्यादा रोजगार दिया। गुरुवार को जारी एक मासिक सर्वेक्षण में साथ ही कहा गया कि लगातार दूसरे महीने सर्विस सेक्टर में तेजी जारी रही, जिसमें नए वर्क ऑर्डर ने बड़ी भूमिका निभाई। इंडिया सर्विसेज बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स नवंबर में 53.7 पर रहा, जो अक्टूबर में 54.1 पर था।

नवंबर में लगातार दूसरे महीने इंडेक्स 50 से ऊपर रहा। इंडेक्स 50 से ऊपर रहे, तो इसका मतलब यह है कि सेक्टर में ग्रोथ हुआ है। इंडेक्स यदि 50 से नीचे रहता है, तो इसका मतलब यह होता है कि सेक्टर में गिरावट आई है। ताजा आंकड़े बताते हैं कि लॉकडाउन हटाए जाने और मांग बढ़ने के कारण सर्विसे सेक्टर में तेजी से रिकवरी हो रही है।

मार्च से सितंबर तक सर्विस सेक्टर में गिरावट चल रही थी

IHS मार्किट की इकॉनोमिक्स एसोसिएट डायरेक्टर पॉलियाना डि लीमा ने कहा कि कोरोनावायरस लॉकडाउन के बाद मार्च से सितंबर तक सर्विस सेक्टर में गिरावट चल रही थी। अब यह सेक्टर तेजी के दायरे में चल रहा है। कंपनियों को काम के ज्यादा ऑर्डर मिल रहे हैं और इसके कारण कंपनियां उत्पादन और रोजगार बढ़ा रही हैं।

सर्विस कंपनियों ने मार्च से अक्टूबर तक कर्मचारियों की संख्या घटाई थी

सर्विसेज कंपनियों ने नवंबर में अतिरिक्त कर्मचारियों को नौकरी दी। इससे पहले लगातार 8 महीने से ये कंपनियां कर्मचारियों की संख्या घटा रही थीं। हालांकि रोजगार में बढ़ोतरी की रफ्तार नवंबर में काफी धीमी रही।

इनपुट और आउटपुट महंगाई बढ़ी

कंपनियों के इनपुट कॉस्ट और आउटपुट चार्जेंज में बढ़ोतरी हुई है। लीमा ने कहा कि कम ब्याज दर का माहौल और रोजगार में बढ़ोतरी से घरेलू मांग में बढ़ोतरी हो सकती है। हालांकि महंगाई का दबाव रिकवरी को पटरी से उतार सकता है।

अगले 12 महीने में आशाजनक माहौल

सर्विसेज कंपनियों ने उम्मीद दिखाई कि अगले 12 महीने में कारोबारी गतिविधियां बेहतर रहेंगी। बिजनेस ऑप्टिमिज्म का स्तर 9 महीने में सबसे ऊपर है। कोरोनावायरस वैक्सीन जल्द ही बाजार में आने की उम्मीद के कारण कारोबारी माहौल में सुधार हुआ है।

प्राइवेट सेक्टर में लगातार तीसरे महीने ग्रोथ

इस बीच देश के प्राइवेट सेक्टर (सर्विसेज और मैन्यूफैक्चर सेक्टर को मिलाकर) में नवंबर में लगातार तीसरे महीने ग्रोथ हुआ। हालांकि अक्टूबर के 9 महीने के ऊपरी स्तर से थोड़ा नीचे आया है। सर्विसेज और मैन्यूफैक्चरिंग दोनों सेक्टरों का हाल बताने वाला कंपोजिट PMI आउटपुट इंडेक्स नवंबर में घटकर 56.3 पर आ गया, जो अक्टूबर में 58 पर था। सर्विसेज व मैन्यूफैक्चरिंग दोनों कंपनियों की बिक्री में धीमी बढ़ोतरी दर्ज की गई।