पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX50405.32-0.87 %
  • NIFTY14938.1-0.95 %
  • GOLD(MCX 10 GM)44310-0.78 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64964-1.48 %
  • Business News
  • SEBI To Do Special Audit To Investigate 4 Brokers Of Indian Commodity Exchanges On Payment Irregularity

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कमॉडिटी एक्सचेंज के 4 ब्रोकर्स की जांच करेगा सेबी:लिक्विडिटी इनहांसमेंट स्कीम के तहत पैसे के लेन-देन में धांधली होने का है संदेह

नई दिल्ली13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
4 आरोपित ब्रोकिंग कंपनियां हैं गोगिया कैपिटल सर्विसेज लिमिटेड, MSB ई-ट्रेड सिक्युरिटीज, मौजमपुरिया सिक्युरिटीज ब्रोकिंग और फिनडॉक कमॉडिटीज - Money Bhaskar
4 आरोपित ब्रोकिंग कंपनियां हैं गोगिया कैपिटल सर्विसेज लिमिटेड, MSB ई-ट्रेड सिक्युरिटीज, मौजमपुरिया सिक्युरिटीज ब्रोकिंग और फिनडॉक कमॉडिटीज
  • सेबी ने इंडियन कमॉडिटी एक्सचेंज के इन ब्रोकर्स के खिलाफ स्पेशल ऑडिट का आदेश दे दिया है
  • गोगिया सिक्युरिटीज के सतीश गोगिया ने स्वीकार किया है कि सेबी ने बैंक डिटेल्स मांगा है

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) कमॉडिटी डेरिवेटिव्स कांट्रैक्ट्स में कथित अनियमितता की जांच के लिए 4 ब्रोकर्स का स्पेशल ऑडिट करेगा। जानकार सूत्रों के मुताबिक सेबी ने इंडियन कमॉडिटी एक्सचेंज (ICEX) के इन ब्रोकर्स के खिलाफ स्पेशल ऑडिट का आदेश दे दिया है। मनीकंट्रोल के मुताबिक ये 4 ब्रोकिंग कंपनियां हैं गोगिया कैपिटल सर्विसेज लिमिटेड, MSB ई-ट्रेड सिक्युरिटीज, मौजमपुरिया सिक्युरिटीज ब्रोकिंग और फिनडॉक कमॉडिटीज।

गोगिया सिक्युरिटीज के सतीश गोगिया ने स्वीकार किया है कि सेबी ने बैंक डिटेल्स मांगा है। उन्होंने कहा कि हम किसी भी एजेंसी द्वारा किसी भी जांच में सहायता देने के लिए तैयार हैं। हम लिक्विडिटी इनहांसमेंट स्कीम (LES) के सभी नियम कानूनों का पालन करते हैं।

रकम का भुगतान ICEX प्रबंधन ने इन 4 ब्रोकर्स को LES के लिए किया था

एक सूत्र ने कहा कि SEBI भुगतान की गई रकम की जांच करने के लिए स्पेशल ऑडिट करना चाहता है। सेबी ने पाया है कि इस रकम का भुगतान ICEX के प्रबंधन ने इन 4 ब्रोकर्स को LES के लिए किया था। यह LES स्टील, डायमंड, इसबगोल, रबर, कालीमिर्च और PB1121 के कमॉडिटी डेरिवेटिव कांट्रैक्ट के लिए था। SEBI ने मुख्यत: नए और यूनीक कांट्रैक्ट्स में ज्यादा लिक्विडिटी बनाने के लिए LES शुरू किया था।

सेबी यह देख रही है कि पैसा किस-किस के हाथ से गुजरा है

दूसरे सूत्र ने कहा कि सेबी यह देख रही है कि पैसा किस-किस के हाथ से गुजरा है। सेबी यह जानना चाहता है कि मार्केट मेकिंग के लिए भुगतान की गई रकम का अंतिम उपयोग क्या हुआ और क्या पैसा वापस एक्सचेंज के पास आ गया। नियामक इन ब्रोकर्स का स्पेशल ऑडिट करना चाहता है।

फिनडॉक ने भुगतान में अनियमितता के आरोप को खारिज किया

फिनडॉक ने आरोप को खारिज किया और कहा कि हमारी कंपनी का स्पेशल ऑडिट करने को लेकर सेबी की ओर से कोई संदेश नहीं आया है। ICEX ने स्टील में मार्केट मेकिंग करने के लिए हमें और कुछ अन्य कंपनियों को आधिकारिक मार्केट मेकर बनाया था। जहां भी मौका मिलता है हम तकरीब सभी एक्सचेंज के लिए आधिकारिक तौर पर मार्केट मेकिंग का कारोबार करते हैं। मार्केट मेकर किसी भी एक्सचेंज के वे व्यक्तिगत बाजार प्रतिभागी या ब्रोकरेज जैसी सदस्य कंपनियां होती हैं, जो खुद ही स्टॉक की खरीद और बिक्री करती हैं।

ICEX के बोर्ड ने मई 2020 में चोकसी एंड चोकसी LLP को ICEX का फॉरेंसिक ऑडिट करने के लिए नियुक्त किया था

ICEX के बोर्ड ने मई 2020 में चोकसी एंड चोकसी LLP को ICEX का फॉरेंसिक ऑडिट करने के लिए नियुक्त किया था। एक विस्लब्लोअर द्वारा LES में अनियमितता की पोल खोलने के बाद SEBI ने ऑडिट का आदेश दिया था। उसी महीने ICEX के बोर्ड ने अपने MD और CFO को जांच पूरी होने तक कंपल्सरी लीव पर भेजा था। MD को अभी तक काम पर बहाल नहीं किया गया है।

फॉरेंसिक रिपोर्ट में ऑडिटर ने इन ब्रोकर्स की और ज्यादा जांच करने की सलाह दी थी

फॉरेंसिक रिपोर्ट में ऑडिटर ने इन ब्रोकर्स की और ज्यादा जांच करने की सलाह दी थी। ऑडिटर के मुताबिक इन ब्रोकर ने मार्केट मेकिंग के दौरान अपने खाते में काफी ज्यादा खर्च दिखाया था। ऑडिट रिपोर्ट के मुताबिक मौजमपुरिया सिक्युरिटीज ब्रोकिंग और फिनडॉक को मार्केट मेकिंग का अनुभव नहीं था, लेकिन LES कमेटी ने उन्हें टेक्निकली क्वालिफाइड के तौर पर पास कर दिया था।