पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX50405.32-0.87 %
  • NIFTY14938.1-0.95 %
  • GOLD(MCX 10 GM)44310-0.78 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64964-1.48 %
  • Business News
  • Reliance (Mukesh Ambani) Future Group (Kishore Biyani) Deal Update; Amazon Approach National Company Law Tribunal (NCLT)

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अमेजन का विरोध:रिलायंस-फ्यूचर डील के खिलाफ NCLT पहुंचा अमेजन, शेयरहोल्डर्स की मीटिंग रोकने की मांग

मुंबई17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रिलायंस इंडस्ट्रीज और फ्यूचर ग्रुप के बीच डील को भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI), सेबी और एक्सचेंज को मंजूरी मिल चुकी है।    -फाइल फोटो - Money Bhaskar
रिलायंस इंडस्ट्रीज और फ्यूचर ग्रुप के बीच डील को भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI), सेबी और एक्सचेंज को मंजूरी मिल चुकी है। -फाइल फोटो

फ्यूचर ग्रुप और रिलायंस इंडस्ट्रीज के बीच हुए करीब 25 हजार करोड़ रुपए की डील के खिलाफ अमेजन का विरोध जारी है। ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ने इस बार नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्युनल (NCLT) का दरवाजा खटखटाया है। कंपनी ने फ्यूचर ग्रुप के शेयरधारकों की होने वाली बैठक को रोकने की मांग की है।

शेयरहोल्डर्स की मीटिंग रोकने की मांग

ई-कॉमर्स सेक्टर की दिग्गज कंपनी अमेजन ने NCLT से कहा कि मामला अभी सिंगापुर इंटरनेशनल ऑर्बिट्री कोर्ट (SIAC) में है। इसलिए रिलायंस-फ्यूचर डील को मंजूरी के होने वाली मीटिंग को मंजूरी न दे। इसके अलावा कंपनी ने फ्यूचर रिटेल को रिलायंस के साथ डील को आगे बढ़ाने के लिए कोई कदम उठाने से रोकने के लिए कहा है।

डील को NCLT और शेयरहोल्डर्स से मंजूरी मिलना बाकी

रिलायंस इंडस्ट्रीज और फ्यूचर ग्रुप के बीच डील को भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI), सेबी और एक्सचेंज को मंजूरी मिल चुकी है। इसे अभी NCLT और शेयरहोल्डर्स की मंजूरी मिलना बाकी है।

कारोबार ट्रांसफर करने पर फैसला NCLT के पास रिजर्व

अमेजन ने पिछले हफ्ते भी मुंबई स्थित NCLT बेंच के पास आवेदन जमा किया था। दरअसल, डील के तहत फ्यूचर ग्रुप का रिटेल और होलसेल कारोबार रिलायंस इंडस्ट्रीज को ट्रांसफर होने पर होने वाला आदेश NCLT पास रिजर्व है। पिछले साल अगस्त में दोनों के बीच 24,713 करोड़ रुपए की डील हुई थी।

अमेरिकी कंपनी ने इस डील को रोकने के लिए पिछले साल अक्टूबर में SIAC में अपील किया। अमेजन के मुताबिक फ्यूचर ग्रुप दोनों के बीच हुए कॉन्ट्रैक्ट को तोड़ते हुए रिलायंस के साथ सौदा कर रहा है।