पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52566.58-0.39 %
  • NIFTY15796.9-0.46 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48349-0.2 %
  • SILVER(MCX 1 KG)715020.37 %
  • Business News
  • Interest Will Continue To Be 8.5% In 2020 21, Although Interest Is Only At The Level Of 2012 13

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

6 करोड़ कर्मचारियों के लिए राहत की खबर:EPFO ने नहीं घटाई PF की ब्याज दरें, 2020-21 में भी प्रोविडेंट फंड पर मिलता रहेगा 8.5% ब्याज

मुंबई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

PF के दायरे में आने वाले देश के करीब 6 करोड़ कर्मचारियों के लिए राहत की खबर है। इंप्लॉयीज प्रोविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशन (EPFO) ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। यानी आपको 8.5% की दर से ब्याज मिलता रहेगा। 2019-20 में भी ब्याज दर 8.5% ही थी।

पहले आशंका जताई जा रही थी कि कि PF पर ब्याज दरें घटा दी जाएंगी, लेकिन आज EPFO की सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी की मीटिंग में ब्याज दरों को बरकरार रखने का फैसला किया गया है।

पिछले 7 साल से निचले स्तर पर ब्याज दरें

पिछले साल मार्च में PF पर ब्याज दर सात साल के निचले स्तर पर पहुंच गई थी। उस समय 2019-20 के लिए PF पर 8.5% की ब्याज की घोषणा की गई थी। यह ब्याज दर 2018-19 में 8.65%, 2016-17 में 8.65% और 2017-18 में 8.55% थी।

1952 में PF पर 3% ब्याज दिए जाने की शुरुआत हुई थी

1952 में PF पर ब्याज दर केवल 3% थी। हालांकि, उसके बाद इसमें बढ़त होती गई। पहली बार 1972 में यह 6% के ऊपर पहुंची। 1984 में यह पहली बार 10% के ऊपर पहुंची। PF धारकों के लिए सबसे अच्छा समय 1989 से 1999 तक था। इस दौरान PF पर 12% ब्याज मिलता था। इसके बाद ब्याज दर में गिरावट आनी शुरू हो गई। 1999 के बाद ब्याज दर कभी भी 10% के करीब नहीं पहुंची। 2001 के बाद से यह 9.50% के नीचे ही रही है। पिछले सात सालों से यह 8.50% या उससे कम रही है।

80.40 लाख नए लोग PF से जुड़े

दिसंबर तिमाही के आंकड़ों के मुताबिक, कुल 80.40 लाख नए सदस्य EPFO से जुड़े थे। इसी दौरान 29.47 लाख सदस्य निकल गए थे। निकले हुए मेंबर्स में से बाद में 7.44 लाख फिर जुड़ गए थे। देश में 6.44 करोड़ लोग PF के दायरे में हैं। नियम के मुताबिक, वो कंपनियां जिनके पास 20 या इससे ज्यादा लोग काम करते हैं और जिनकी सैलरी 15 हजार रुपए तक होती है, उनको PF लागू करना होता है।