• Home
  • OPPO ColorOS 11 Review: Operating system is more secure and useful; Know about its special features?

ColorOS 11 रिव्यू /ऑपरेटिंग सिस्टम है अधिक सिक्योर और उपयोगी; जानिए इसके खास फीचर्स के बारे में ?

मनी भास्कर

Oct 16,2020 11:56:28 AM IST

नई दिल्ली. स्मार्टफोन कंपनी ओप्पो ने अपने नए ColorOS 11 को लॉन्च कर दिया है। हाल ही में ओप्पो ने अपने ColorOS 11 के साथ अपने स्मार्टफोन यूजर्स के लिए नवीनतम एंड्रॉइड 11 उपलब्ध कराया है। बता दें कि कंपनी ने "मेक लाइफ फ्लो" कॉन्सेप्ट के साथ, ColorOS 11को पेश किया है। कंपनी ने Find X2 समेत कई डिवाइस में लेटेस्ट ColorOS 11 का अपडेट दिया है। कंपनी का दावा है कि नया ColorOS 11 पुराने ColorOS 7.2 ऑपरेटिंग सिस्टम से ज्यादा बेहतर और उपयोगी है। तो आइए जानते विस्तार में क्या है ColorOS 11 और कैसे यह काम करता है।

पढ़िए, ColorOS 11 का रिव्यू-

  • थ्री-फिंगर ट्रांसलेशन- ColorOS 11 कई खूबियों से लैस है जो आपकी प्रोडक्टिविटी को बेहतरीन बनाता है। इनमें Google Lens का भी सपोर्ट है जो अब थ्री-फिंगर ट्रांसलेशन से लैस है। ओप्पो के इस फोन में यह पहली तरह की सुविधा है। इस फीचर की मदद से आप तीन-उंगली के इशारे के साथ लिए गए स्क्रीनशॉट में मौजूद टेक्स्ट को कॉपी करके अनुवाद कर सकते हैं।
  • नीयर बाॅय शेयर- इसमें फोटो की तुरंत शेयरिंग और एडिटिंग के लिए शार्ट दिया जाता है। मतलब अब फोटो एडिटिंग के फोन दूसरे ऐप को इंस्टॉल नही करना होगा। साथ ही ColorOS 11 का नीयर बाय फीचर की मदद से आसानी से फाइल ट्रांसफर करा पाएंगे। साथ ही फोटो की सिक्योरिटी के लिए परमिशन का ऑप्शन दिया जा रहा है, जो कि काफी कमाल का है।
  • फ्लेक्स ड्रॉप- यह एक मल्टी-टास्किंग फीचर है जिसकी मदद से यूजर एक ही समय में वीडियो और टेक्स्ट देख सकते हैं। यह फीचर गेमर्स और वीडियो देखने वालों के लिए तोहफा है। नए अपडेट के बाद यूजर बिना किसी एप्लिकेशन को डाउनलोड ही नए डिवाइस कंट्रोल मेनू के माध्यम से विभिन्न स्मार्ट होम डिवाइस के बीच स्विच और कंट्रोल कर सकता है।
  • बैटरी कैसी है ? बैटरी को अधिक चलने के लिए नया सुपर पावर सेविंग मोड का उपयोग किया गया है। नए अपडेट में यूजर्स को कम बैटरी की स्थिति में छह एप के चयन का विकल्प मिलता है। इसमें फोन की बैटरी कम होने पर कुछ जरूरी ऐप को ऑन करके सारे ऐप का इस्तेमाल बंद कर दिया जाता है। इससे बैटरी लाइफ बढ जाती है। मौजूदा वक्त में 6 ऐप को स्पेशल सेविंग मोड में रख सकते हैं।
  • बेहतर सिक्योरिटी- ColorOS 11 अतिरिक्त सिक्योरिटी से लैस है। इसमें एंड्रॉयड 11 के सभी सिक्योरिटी और प्राइवेसी फीचर्स शामिल हैं। नए अपडेट में यूजर्स को प्राइवेट सिस्टम बनाने का मौका मिलेगा, जिसमें एप और डाटा का सेकेंड वर्जन मूल सेफ रहता है और इसे अलग फिंगरप्रिंट स्कैन या पासवर्ड के माध्यम से ही ओपन किया जा सकता है।
  • नोटिफिकेशन की ये खास सुविधा - ColorOS 11 की लो बैटरी नोटिफिकेशन सुविधा है जो यूजर्स के फोन के फोन की बैटरी के बारे में उसके दोस्तों और परिवार के लोगों को नोटिफिकेशन भेजता है। ऐसे में आपके करीबी लोगों को नोटिफिकेशन मिल जाता है कि आपके फोन की बैटरी लो हो गई है। यह फीचर फिलहाल भारतीय यूजर्स के लिए ही है। ColorOS 11 के अपडेट की शुरुआत Find X2 Series और Reno3 सीरीज से होगी, हालांकि Find, Reno, F, K और A सीरीज के 28 से अधिक मॉडल को भी इसका अपडेट मिलेगा।
  • साइड बार- यूजर्स की सुविधा के लिए साइड बार का ऑप्शन दिया गया है, जो काफी यूजफुल है। मतलब यूजर्स अपनी जरूरत के हिसाब से ऐप को साइड बार में रख सकते हैं। साथ ही उन्हें हटा सकते हैं। यह आपके रोजाना के टास्क को काफी आसान बना देता है।

    यूजर्स की सुविधा के लिए साइड बार का ऑप्शन दिया गया है, जो काफी यूजफुल है। मतलब यूजर्स अपनी जरूरत के हिसाब से ऐप को साइड बार में रख सकते हैं। साथ ही उन्हें हटा सकते हैं। यह आपके रोजाना के टास्क को काफी आसान बना देता है।

ये कमियां भी हैं-

ColorOS 11 में तमाम अच्छे फीचर्स होने के बावजूद एक दो कमियां नजर आई। हालांकि कंपनी ने कहा कि इस पर काम करके इसे जल्दी ही ठीक कर लिया जाएगा। ये कमियां हैं- ये ऐप्स को बैकग्राउंड में लॉन्चिंग करने को ऑटोमैटिकली रि स्ट्रिक्ट कर सकता है। साथ ही, इसका नया डार्क थीम सभी स्कीन जैसे कि डू नॉट डिस्टर्ब और नोटिफिकेशन हिस्ट्री पेज पर अप्लाई नहीं होता है। ये नए डार्क ग्रे और लाइट ग्रे स्टाइल को फॉलो नहीं करता है।

X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.