पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Donald Trump Twitter Account Vs Elon Musk Poll Controversy

21 महीने बाद ट्विटर पर ट्रंप:मस्क ने जनता की राय पर अकाउंट बहाल किया

वॉशिंगटन14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ट्विटर पर वापसी हो गई है। ट्विटर के नए बॉस एलन मस्क ने ट्रंप के अकाउंट को बहाल करने पर एक ट्विटर पोल पोस्ट किया था। उन्होंने पूछा था, क्या प्रेसिडेंट ट्रंप का अकाउंट बहाल किया जाना चाहिए। हां या ना।

1.5 करोड़ से ज्यादा यूजर्स ने वोटिंग में हिस्सा लिया और 52% लोगों ने हां में जवाब दिया और 48% ने ना में। पोल खत्म होने के बाद ट्विटर बॉस ने लिखा: 'वोक्स पोपुली, वोक्स देई' - एक लैटिन फ्रेज जिसका अर्थ है 'लोगों की आवाज भगवान की आवाज है'।

पूरा मामला जानने से पहले पोल में हिस्सा लेकर अपनी राय दीजिए...

21 महीने बाद ट्रंप की वापसी
6 जनवरी, 2021 के बाद जब ट्रंप का अकाउंट सस्पेंड किया गया था तब उनके 88 मिलियन से ज्यादा फॉलोअर थे। रविवार सुबह करीब 06.30 बजे 21 महीने बाद अकाउंट फिर एक्टिव किया गया है। अकाउंट बहाली के 50 मिनट के भीतर ही ट्रंप के 10 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हो गए।

हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि पूर्व राष्ट्रपति दोबारा ट्विटर पर एक्टिव होंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि बीते दिनों उन्होंने कहा था कि उनका ट्विटर पर आने का कोई प्लान नहीं है और उन्होंने अपना खुद का सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्रुथ सोशल भी बना लिया है।

डोनाल्ड ट्रंप के अकाउंट को दोबारा रिस्टोर कर दिया गया है। ट्रंप के अकाउंट का स्क्रीनशॉट
डोनाल्ड ट्रंप के अकाउंट को दोबारा रिस्टोर कर दिया गया है। ट्रंप के अकाउंट का स्क्रीनशॉट
पोल में 1.5 करोड़ से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया जिसमें से 52% ने हां में जवाब दिया
पोल में 1.5 करोड़ से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया जिसमें से 52% ने हां में जवाब दिया

2021 में ट्रंप का अकाउंट किया था सस्पेंड
डोनाल्ड ट्रंप ने 2021 में कैपिटल हिल हिंसा के बाद ट्विटर पर हिंसा करने वाले अपने समर्थकों को क्रांतिकारी बताया था। इसके बाद उन्होंने कहा था कि वो 20 जनवरी 2021 को होने वाले प्रेसिडेंशियल इनॉगरेशन (बाइडेन के शपथ ग्रहण) में नहीं जाएंगे। ट्विटर ने इस पर एक्शन लेते हुए उनका अकाउंट को हमेशा के लिए सस्पेंड कर दिया था।

ट्विटर ने ब्लॉग पोस्ट में क्या कहा था?
ट्विटर ने अपने ब्लॉग पोस्ट में कहा था, हमने पहले ही कहा था कि ट्रंप अगर आगे भी ट्विटर की पॉलिसी को नजरअंदाज कर भड़काऊ ट्वीट करते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कदम उठाएंगे। उसके बाद भी उन्होंने भड़काऊ ट्वीट किए। हमने पहले भी कहा है कि किसी भी बड़े से बड़े नेता का अकाउंट हमारे नियमों से ऊपर नहीं है। पोस्ट में ट्विटर ने ट्रंप के ट्वीट भी डाले थे और उनका एनालिसिस भी लिखा था जो उनके अकाउंट के परमानेंट सस्पेंशन की वजह बने थे।

फ्री स्पीच के समर्थक मस्क
बीते दिनों ट्विटर डील के दौरान एलन मस्क ने ट्रंप के साथ ही ऐसे अकाउंट्स को एक्टिवेट करने पर जोर दिया था, जिन्हें कई कारणों से बैन कर दिया गया है। मस्क हमेशा से ही खुद को फ्री स्पीच का बड़ा पक्षधर बताते रहे हैं। ट्विटर ने जब पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को बैन किया था तब भी एलन मस्क ने कहा था कि वह इस प्लेटफॉर्म को सुधारना चाहते हैं।

ट्रंप ने मस्क की तारीफ की थी
कुछ समय पहले डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि वे ट्विटर पर वापसी नहीं कर रहे हैं। फॉक्स न्यूज को दिए इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा था, 'मैं अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्रुथ पर ही रहूंगा।' इस दौरान मस्क की तारीफ करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वे अच्छे आदमी हैं और उन्हें उम्मीद है कि वो ट्विटर में सुधार करेंगे।

इन कंपनियों ने भी किया था ट्रंप का अकाउंट सस्पेंड
फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब, स्नैपचैट, ट्विच और अन्य इंटरनेट कंपनियों ने भी डोनाल्ड ट्रंप को सस्पेंड कर दिया था। मस्क के फैसले से फेसबुक जैसे अन्य प्रमुख सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के लिए भी ट्रंप को बहाल करना आसान हो सकता है। फेसबुक की मूल कंपनी मेटा ने कहा था कि वह जनवरी 2023 में अपने फैसले पर पुनर्विचार करेगी।