पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48832.030.06 %
  • NIFTY14617.850.25 %
  • GOLD(MCX 10 GM)470210.83 %
  • SILVER(MCX 1 KG)689701.52 %
  • Business News
  • Market Cap Of Top 8 Companies Decreased By Rs 1.23 Lakh Crore Due To Decline, TCS Decreased The Most While RIL Gain

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बीते हफ्ते शेयर बाजार:गिरावट के चलते टॉप 8 कंपनियों का मार्केट कैप 1.23 लाख करोड़ रुपए घटा, सबसे ज्यादा TCS का कम हुआ

मुंबई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बीते हफ्ते BSE सेंसेक्स 654 अंक यानी 1.26% की गिरावट के साथ बंद हुआ। बाजार की गिरावट में ऑटो शेयर सबसे आगे रहे। इस दौरान मार्केट कैप के लिहाज से 10 सबसे बड़ी कंपनियों में से 8 के मार्केट कैप में 1.23 लाख करोड़ रुपए की गिरावट आई है।

TCS का मार्केट कैप 44 हजार करोड़ से ज्यादा घटा
TCS का मार्केट कैप सबसे ज्यादा 44.67 हजार करोड़ रुपए घटकर 11.52 लाख करोड़ रुपए हो गया है। इसका शेयर भी हफ्तेभर में 3.73% फिसला है। दूसरी ओर रिलायंस इंडस्ट्रीज और SBI के मार्केट कैप में बढ़त दर्ज की गई है। बाजार में लगातार चार दिनों की मुनाफावसूली के बीच ऑटो और फार्मा सेक्टर में सबसे ज्यादा गिरावट रही। दोनों इंडेक्स 3-3% फिसल गए हैं। इसके अलावा IT इंडेक्स भी 2% नीचे बंद हुआ है।

HDFC बैंक और HDFC के मार्केट कैप भी घटे
बैंकिंग सेक्टर में HDFC बैंक का मार्केट कैप 23.96 हजार करोड़ रुपए और ICICI बैंक का 16.14 हजार करोड़ रुपए घटा है। हिंदुस्तान यूनिलीवर का मार्केट कैप 14.27 हजार करोड़ रुपए घटकर 5.12 लाख करोड़ रुपए हो गया है। इसी तरह HDFC के मार्केट कैप में 9.40 हजार करोड़ रुपए और इंफोसिस में 7.73 हजार करोड़ रुपए की गिरावट दर्ज की गई।

रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप सबसे ज्यादा 13.18 लाख करोड़ रुपए
बजाज फाइनेंस का मार्केट कैप 4.67 हजार करोड़ रुपए और कोटक महिंद्रा बैंक का मार्केट कैप 2.80 हजार करोड़ रुपए घटा है। दूसरी ओर रिलायंस इंडसट्रीज का मार्केट कैप 24.91 हजार करोड़ रुपए बढ़कर 13.18 लाख करोड़ रुपए हो गया है। इसी तरह SBI का मार्केट कैप 5.48 हजार करोड़ रुपए बढ़कर 3.56 लाख करोड़ रुपए हो गया है।

विदेशी निवेशकों ने फरवरी में करीब 25 हजार करोड़ रुपए का निवेश किया
पिछले हफ्ते सेंसेक्स ने 52 हजार के रिकॉर्ड स्तर को टच किया। इसकी बड़ी वजह बाजार में विदेशी निवेशकों का निवेश लगातार जारी रहना है। डिपॉजिटरीज डेटा के मुताबिक फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPI) ने 1-19 फरवरी के दौरान 24.96 हजार करोड़ रुपए का निवेश किया है। इसमें से 24,204 करोड़ रुपए का निवेश शेयर मार्केट और 761 करोड़ रुपए का निवेश डेट मार्केट में किया है।

LKP सिक्योरिटीज के रिसर्च हेड एस रंगनाथन ने कहा कि IMF ने भारतीय अर्थव्यवस्था में अच्छी रिकवरी की बात कही है। इसके चलते विदेशी निवेशक भारतीय बाजार में निवेश बढ़ा रहा है।