पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • L&T Infotech And Mindtree Merger Announced, Deal Will Be Completed In 9 To 12 Months

दो IT कंपनियों का मर्जर:LTI और माइंडट्री के मर्जर का ऐलान, 9 से 12 महीनों में पूरी होगी डील; बनेगी देश की 5वीं बड़ी IT कंपनी

नई दिल्ली18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

इंजीनियरिंग फर्म लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड (L&T) ने अपनी पब्लिकली ट्रेडेड दो सॉफ्टवेयर फर्म माइंडट्री लिमिटेड और L&T इंफोटेक लिमिटेड (LTI) के मर्जर की घोषणा की है। 9 से 12 महीनों में ये डील पूरी होगी। नई फर्म का नाम LTIMINDTREE होगा। माइंडट्री के 100 शेयरों के बदले LTI के 73 शेयर मिलेंगे। LTI के MD संजय जलोना इस्तीफा भी देंगे। हालांकि इस्तीफे का फैसला निजी कारणों से लिया गया है। माइंडट्री के CEO और MD देबासीष चटर्जी नई कंपनी का कामकाज संभालेंगे।

नई फर्म का टर्नओवर 350 करोड़ डॉलर होगा
LTI और माइंडट्री दोनो इंजीनियरिंग फर्म L&T की सब्सिडियरी कंपनी है। L&T ने 2019 में माइंडट्री का कंट्रोल हासिल किया था। ग्रुप की कंपनी में लगभग 61% हिस्सेदारी है और मार्केट कैप करीब 65,285 करोड़ रुपए। LTI में फर्म की लगभग 74% हिस्सेदारी है। इसका मार्केट कैप 1.03 लाख करोड़ है। मर्जर के बाद कंपनी का टर्नओवर 350 करोड़ डॉलर होगा और L&T की हिस्सेदारी 68.73% होगी।

देश की 5वीं बड़ी IT कंपनी बनेगी
मार्केट कैपिटलाइजेशन के हिसाब से नई फर्म टेक महिंद्रा को पछाड़कर देश की पांचवीं बड़ी आईटी सर्विस प्रोवाइडर बन जाएगी। फर्म 80,000 से ज्यादा लोगों को रोजगार देगी, जिसमें 4,000 सेल्स और सपोर्ट पर्सनल शामिल हैं। वर्तमान में, TCS हाईएस्ट मार्केट वैल्यूएशन वाली IT फर्म्स में पहले स्थान पर है। इसके बाद इंफोसिस, HCL टेक, विप्रो का स्थान है।

सभी के लिए फायदेमंद होगी डील
L&T ग्रुप के चेयरमैन AM नाइक ने मर्जर पर बोलते हुए कहा, 'यह मर्जर स्ट्रैटजिक विजन की लाइन में आईटी सर्विसेज के कारोबार को बढ़ाने के हमारे कमिटमेंट को रिप्रजेंट करता है। LTI और माइंडट्री का मर्जर ग्राहकों, निवेशकों, शेयरधारकों और कर्मचारियों सभी के लिए फायदेमेंद होगा।' नई फर्म बड़ी डील के लिए भी बिड लगा सकेगी।

ज्यादा सर्विस ओरिएंटेड बनने की स्ट्रैटजी
यह मर्जर L&T की और ज्यादा सर्विस ओरिएंटेड बनने की स्ट्रैटजी के अनुरूप है। यदि दोनों कंपनियों के पोर्टफोलियो को देखा जाए, तो माइंडट्री के मेन फोकस एरिया में कम्युनिकेशन्स मीडिया एंड टेक्नोलॉजी, रिटेल, कंज्यूमर पैकेज्ड प्रोडक्ट और मैन्युफैक्चरिंग शामिल हैं, जबकि LTE के मेन फोकस एरिया में बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विस और इंश्योरेंस हैं।

IT कंपनी की डिमांड में बढ़ोतरी
मर्जर ऐसे समय में हुआ है जब बड़ी आईटी आउटसोर्सिंग फर्म साइबर सिक्योरिटी, ऑटोमेशन और मशीन-लर्निंग सपोर्ट जैसे क्षेत्रों में विस्तार कर रही हैं। इसके अलावा कोविड-19 के कारण डिजिटाइजेशन तेजी से बढ़ा है जिससे सॉफ्टवेयर कंपनियों की डिमांड भी बड़ी है। कंपनी को इस मर्जर से फाइनेंशियल स्ट्रेंथ में भी सुधार की उम्मीद है।