पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52825.810.52 %
  • NIFTY158850.46 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48134-1.51 %
  • SILVER(MCX 1 KG)71385-1.31 %
  • Business News
  • LIC IPO Date Update | Life Insurance Corporation LIC IPO Will Create A Large Base Of Retail Investor, New Demat Accounts Increase

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बाजार:एलआईसी के आईपीओ से रिटेल निवेशक का एक बड़ा बेस तैयार होगा, डीमैट खातों की संख्या में 20 करोड़ की हो सकती है वृद्धि

मुंबई10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एलआईसी कर्मचारियों और यूनिट होल्डर्स को शेयर जारी करेगी। यह शेयर डिस्काउंट पर होगा और इसकी वजह से नए निवेशक बाजार में आएंगे
  • कोल इंडिया के आईपीओ में जितना रिटेल का हिस्सा था, उससे ढाई गुना ज्यादा रिटेल का हिस्सा एलआईसी के आईपीओ में होगा

देश की सबसे बड़ी कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के आईपीओ से रिटेल निवेशक का एक बड़ा बेस तैयार हो सकता है। इसी के साथ डीमैट खातों की संख्या में 20 करोड़ की वृद्धि देखी जा सकती है। इस आईपीओ को लेकर निवेशकों में दिलचस्पी देखी जा रही है।

80 हजार करोड़ रुपए का होगा आईपीओ

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेस के चेयरमैन मोतीलाल ओसवाल कहते हैं कि एलआईसी की लिस्टिंग भारत में सबसे बड़ी लिस्टिंग अब तक की होगी। इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन रिलायंस इंडस्ट्रीज,एचडीएफसी बैंक, टीसीएस जैसी कंपनियों से आगे निकल सकता है। इसके वर्तमान असेट अंडर मैनेजमेंट और बिजनेस प्रीमियम के आधार पर देखें तो इसका वैल्यूएशन 8 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा होगा। सरकार इसके जरिए 80 हजार करोड़ रुपए बाजार से जुटाना चाहती है। यानी करीबन 10 प्रतिशत हिस्सेदारी बिकेगी।

वैश्विक बाजारों में भी होगा एलआईसी की लिस्टिंग का असर

वे कहते हैं कि एलआईसी की लिस्टिंग से वैश्विक इक्विटी बाजारों में देश के स्टॉक बाजार का बड़े पैमाने पर वेटेज बदल सकता है। सरकार इस आईपीओ में बड़े पैमाने पर रिटेल निवेशकों की भागीदारी देख सकती है। यह कर्मचारियों और यूनिट होल्डर्स को शेयर जारी करेगी। यह शेयर डिस्काउंट पर होगा और इसकी वजह से नए निवेशक बाजार में आएंगे। इससे अनुमान है कि 20 करोड़ नए डीमैट खाते खुल सकते हैं। इसके पास करीबन सवा लाख कर्मचारी हैं।

32 करोड़ इसके पास पॉलिसी है। इससे यह पता चलता है कि इसके आईपीओ से कम से कम 4 करोड़ रिटेल डीमैट खाते बढ़ सकते हैं।

रिटेल को मिल सकता है 25 हजार करोड़ का हिस्सा

अब तक के सबसे बड़े आईपीओ में अगर हम कोल इंडिया के आईपीओ को देखें तो इसमें रिटेल का हिस्सा 2.1 गुना भरा था। यह 15 हजार करोड़ का आईपीओ था। एलआईसी 80 हजार करोड़ रुपए जुटाएगी और इसको 35 प्रतिशत रिटेल का हिस्सा माने तो करीबन 25 से 28 हजार करोड़ रिटेल के हिस्से में जाएगा। यह कोल इंडिया के आईपीओ के रिटेल हिस्से से ढाई गुना ज्यादा होगा।

इस वित्तीय वर्ष का यह आकर्षक आईपीओ होगा

आंकड़े बताते हैं कि 2019 में आईपीओ ने अच्छा रिटर्न दिया था। इस साल सबकी निगाहें एलआईसी के आईपीओ पर है। एलआईसी देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी होने के साथ सबसे बड़ा वित्तीय संस्थान भी है। 31 लाख करोड़ रुपए की असेट्स वाली एलआईसी की बाजार हिस्सेदारी 75 प्रतिशत पॉलिसी के मामले में है। फर्स्ट ईयर प्रीमियम में इसकी 66 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इसका शुद्ध लाभ 2.6 लाख करोड़ रुपए है।

कुल 20 लाख करोड़ रुपए का निवेश है

एलआईसी देश में सबसे बड़ी संस्थागत निवेशक कंपनी भी है। इसका कुल निवेश 20 लाख करोड़ रुपए देश में है। हाल के समय जो जीवन बीमा कंपनियां लिस्टेड हुई हैं उसमें एचडीएफसी लाइफ, एसबीआई लाइफ, आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ हैं। इन तीनों ने निवेशकों को आकर्षित किया है। लिस्टिंग के बाद एलआईसी सबसे मूल्यवान लिस्टेड कंपनी देश में होगी। इसके जरिए विदेशी निवेश भी आकर्षित होंगे।

खबरें और भी हैं...