पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58656.430.28 %
  • NIFTY17439.350.24 %
  • GOLD(MCX 10 GM)46149-0.06 %
  • SILVER(MCX 1 KG)59920-1.88 %
  • Business News
  • LIC IPO 2021 Latest News; Merchant Bankers Names Finalizes By Narendra Modi Government

LIC IPO पर एक और फैसला:सरकार ने 10 मर्चेंट बैंकर्स का नाम फाइनल किया, 16 मर्चेंट बैंकर्स ने दिया था प्रजेंटेशन

मुंबई13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अब तक के सबसे बड़े IPO पर सरकार ने एक और फैसला कर लिया है। LIC IPO के लिए 10 मर्चेंट बैंकर्स का नाम फाइनल हो गया है। कुल 16 मर्चेंट बैंकर्स ने इसके लिए प्रजेंटेशन दिया था।

गोल्डमैन, सिटीग्रुप और नोमुरा हैं शामिल

जिन मर्चेंट बैंकर्स को LIC IPO के लिए चुना गया है उसमें गोल्डमैन, सिटीग्रुप, नोमुरा और सिक्योरिटीज इंडिया हैं। अन्य मर्चेंट बैंकर्स में एसबीआई कैपिटल, जेएम फाइनेंशियल, एक्सिस कैपिटल, बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज, जेपी मोर्गन, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज और कोटक महिंद्रा कैपिटल शामिल हैं।

सोशल मीडिया पर दी गई जानकारी

मर्चेंट बैंकर्स के लिए एप्लिकेशन मंगाने वाले DIPAM (डिपार्टमेंट ऑफ इन्वेस्टमेंट एंड पब्लिक असेट मैनेजमेंट) के सेक्रेटरी तुहिन कांता पांडेय ने इस मामले में सोशल मीडिया पर जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकार ने बुक रनिंग लीड मैनेजर और अन्य सलाहकारों की नियुक्ति को फाइनल कर दिया है।

15 जुलाई को अर्जी मंगाई गई थी

विनिवेश विभाग ने इस मामले में 15 जुलाई को एप्लिकेशन मंगाया था। 16 मर्चेंट बैंकर्स ने इसमें भाग लिया। इन मर्चेंट बैंकर्स ने अपना प्रजेंटेशन दिया। उसके बाद 10 मर्चेंट बैंकर्स का नाम फाइनल किया गया। DIPAM हिस्सेदारी बेचने के लिए कानूनी सलाहकार की भी नियुक्ति करने के अंतिम चरण में है। इसके लिए 16 सितंबर तक बिड जमा करने की अंतिम तारीख है। हालांकि अक्चूरियल फर्म मिलिमैन एडवाइजर्स को पहले ही LIC के एंबेडेड वैल्यू के लिए नियुक्त किया जा चुका है।

विदेशी निवेश को भी मिल सकती है मंजूरी

सरकार LIC में विदेशी निवेश को भी मंजूरी दे सकती है। खबर है कि 20% हिस्सा विदेशी निवेशकों के लिए होगा। सेबी के नियमों के मुताबिक विदेशी निवेशक हिस्सेदारी खरीद सकते हैं। सरकारी बैंकों में यह सीमा 20% ही तय की गई है। LIC में विदेशी निवेश के लिए एक्ट को बदलना होगा क्योंकि यह कंपनी LIC एक्ट के तहत बनी है।

देश का सबसे बड़ा आईपीओ होगा

LIC का आईपीओ अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ देश में होगा। इसके जरिए सरकार 80 से 90 हजार करोड़ रुपए जुटा सकती है। सरकार इस चालू वित्त वर्ष में 1.75 लाख करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखी है जिसमें LIC का बड़ा योगदान होगा। अभी तक सरकार ने केवल 8,368 करोड़ रुपए अप्रैल से अब तक जुटाया है।