पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • LIC Becomes Top Ranked Indian Firm On Fortune Global 500 List

फार्च्यून ग्लोबल 500 लिस्ट:रिलायंस से भी आगे निकली LIC, इस बार भारत की 9 कंपनियों को जगह मिली

मुंबई11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शेयर मार्केट में हाल ही में लिस्ट हुई LIC का भले ही अब तक का परफॉर्मेंस कुछ खास नहीं रहा है, लेकिन फार्च्यून ग्लोबल 500 लिस्ट में इसने सभी दूसरी भारतीय कंपनियों को मीलों पीछे छोड़ दिया है। यहां तक कि भारत की सबसे बड़ी लिस्टेड कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज भी LIC से काफी पीछे रह गई है।

LIC को 98वां स्थान मिला
फार्च्यून ग्लोबल 500 लिस्ट में पहली बार LIC को जगह मिली है। इस बार लिस्ट में भारत की 9 कंपनियों को जगह मिली है। इनमें से 5 कंपनियां सरकारी हैं, जबकि बाकी 4 कंपनियां प्राइवेट हैं। रेवेन्यू के आधार पर तैयार होने वाली इस लिस्ट में LIC को 98वां स्थान मिला है। कंपनी करीब 97.27 बिलियन डॉलर रेवेन्यू और 553.8 मिलियन डॉलर प्रॉफिट के साथ भारत में पहले पायदान पर रही है।

रिलायंस को 104वां स्थान मिला
फार्च्यून ग्लोबल 500 लिस्ट में भारत की ओर से दूसरे पायदान पर रिलायंस इंडस्ट्रीज शामिल है। रिलायंस इंडस्ट्रीज पिछले 19 साल से लगातार इस लिस्ट का हिस्सा है। ग्लोबल आधार पर रिलायंस को 93.98 बिलियन डॉलर रेवेन्यू और 8.15 बिलियन डॉलर नेट प्रॉफिट के साथ 104वें स्थान पर रखा गया है। रिलायंस इंडस्ट्रीज की रैंकिंग पिछले साल की तुलना में 51 पायदान सुधरी है।

टाटा मोटर्स और टाटा स्टील को भी मिली जगह
LIC और रिलायंस इंडस्ट्रीज के अलावा जो भारतीय कंपनियां इस लिस्ट में जगह बनाने में कामयाब हुई हैं, उनमें SBI बैंकिंग सेक्टर से एकमात्र नाम है। SBI को 17 पायदान की छलांग लगाकर 236वीं रैंक हासिल करने में कामयाबी मिली है। वहीं टाटा समूह की दो कंपनियां टाटा मोटर्स और टाटा स्टील को भी लिस्ट में जगह मिली है। टाटा समूह की टाटा मोटर्स को 370वां स्थान मिला है। इसी तरह टाटा स्टील 435वां स्थान पाने में कामयाब हुई है।

इन सरकारी कंपनियों ने बनाई जगह
भारत से इस लिस्ट में जगह बना पाने में कामयाब हुई कंपनियों में सरकारी ऑयल कंपनी इंडियन ऑयल 142वें स्थान पर है। कंपनी की रैंकिंग साल भर पहले की तुलना में 28 स्थान सुधरी है। वहीं एक अन्य सरकारी कंपनी ONGC 16 स्थान की छलांग लगाकर 190वीं रैंक हासिल करने में कामयाब रही है।

पब्लिक सेक्टर की ही BPCL को 295वां स्थान मिला है। पिछले साल की तुलना में BPCL की रैंकिंग में 19 पायदान का सुधार हुआ है।

टॉप के दोनों पायदान पर अमेरिकी कंपनियां
लिस्ट में टॉप-5 की कंपनियों में 2 अमेरिका की हैं, जबकि चीन की 3 कंपनियां टॉप-5 में जगह बनाने में कामयाब हुई हैं। अमेरिकी रिटेलर कंपनी Wallmart लगातार 9वें साल इस लिस्ट में टॉप पर रही है। दूसरा स्थान जेफ बेजोस की कंपनी अमेजन को मिला है। यह अमेजन की अब तक की सबसे बेहतर रेटिंग है।

चीन की इन कंपनियों ने दिखाया जलवा
चीन की स्टेट ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ चाइना इस साल की लिस्ट में तीसरे स्थान पर रही है, जबकि चौथा स्थान चाइना नेशनल पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन को मिला है। चीन की ही सिनोपेक ग्रुप लिस्ट (Sinopec Group) में पांचवें स्थान पर है। सऊदी अरब की अरामको (Saudi Aramco) को लिस्ट में छठा स्थान मिला है। Volkswagen, चाइना स्टेट कंस्ट्रक्शन इंजीनियरिंग (China State Construction Engineering), CVS Health जैसी कंपनियां भी टॉप10 में शामिल हुई हैं।

लिस्ट में शामिल 500 कंपनियों का टोटल सेल इस दौरान 19% बढ़कर 37.8 ट्रिलियन डॉलर पर पहुंच गया है। यह किसी भी एक साल के दौरान टॉप 500 कंपनियों की सेल में सबसे शानदार ग्रोथ है।