पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX56973.75-0.5 %
  • NIFTY16982.85-0.42 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47917-0.1 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61746-1.71 %
  • Business News
  • Decision On Resuming International Flights Shortly | Possible By Year end

जल्द शुरू होंगी इंटरनेशनल फ्लाइट्स:एविएशन मिनिस्ट्री सेक्रेटरी ने कहा- इंटरनेशनल फ्लाइट ऑपरेशन दिसंबर के अंत तक नॉर्मल हो सकते हैं

नई दिल्ली5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एविएशन मिनिस्ट्री सेक्रेटरी राजीव बंसल ने बुधवार को कहा कि लंबे समय से प्रभावित इंटरनेशनल फ्लाइट ऑपरेशन्स साल के अंत तक नॉर्मल हो सकते हैं। कोरोना महामारी के कारण पिछले साल मार्च में शेड्यूल्ड इंटरनेशनल पैसेंजर फ्लाइट्स को सस्पेंड कर दिया गया था।

हालांकि प्रतिबंधों में ढील और कोरोना वेक्सीनेशन का कवरेज बढ़ने के साथ भारत ने कुछ देशों के साथ एयर बबल अरेंजमेंट के तहत फ्लाइट शुरू कर दी है। वर्तमान में भारत के अमेरिका, ब्रिटेन, यूएई समेत 31 देशों के साथ एयर बबल अरेंजमेंट हैं।

सिंधिया ने कहा- अभी कोई फैसला नहीं लिया
सिविल एविएशन मिनिस्टर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, 'मैं गृह और स्वास्थ्य जैसे अन्य केंद्रीय मंत्रालयों के साथ शेड्यूल्ड इंटरनेशनल फ्लाइट्स को फिर से शुरू करने के मुद्दे पर काम कर रहा हूं। कुछ देशों में कोविड के मामले फिर से बढ़ने के कारण अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है। उम्मीद है कि जल्द ही अंतर-मंत्रालयी चर्चा किसी निर्णय पर पहुंच जाएगी।'

डोमेस्टिक फ्लाइट को पूरी क्षमता के साथ उड़ान की अनुमति
इंटरनेशनल फ्लाइट्स की ही तरह डोमेस्टिक फ्लाइट्स भी लॉकडाउन के दौरान प्रतिबंधित कर दी गई थी। हालांकि दो महीने के ब्रेक के बाद मई 2020 में लिमिटेड कैपेसिटी के साथ डोमेस्टिक फ्लाइट ऑपरेशन शुरू किए गए थे। पिछले महीने ही डोमेस्टिक फ्लाइट्स को पूरी क्षमता के साथ उड़ान की अनुमति दी गई है।

रोजाना 4 लाख पैसेंजर यात्रा करते थे
कोरोना के आने से पहले एक दिन में घरेलू रूट पर 4 लाख यात्री यात्रा करते थे। 25 मई 2020 को जब फ्लाइट शुरू हुई तो 30 हजार यात्री रोजाना यात्रा कर रहे थे। अभी इंटरनेशनल फ्लाइट 30 नवंबर तक सस्पेंड हैं।

फ्लाइट बैन से कंपनियों की वित्तीय सेहत बिगड़ी
शेड्यूल इंटरनेशनल फ्लाइट पर लंबे समय से सस्पेंशन के चलते ज्यादातर एयरलाइंस की वित्तीय सेहत प्रभावित हुई हैं। विस्तारा ने कहा था कि विमानन क्षेत्र के रिवाइवल की सभी भविष्यवाणियां गलत साबित हुई हैं। यह कहना जल्दबाजी होगी कि विमानन उद्योग पूरी तरह से संकट से बाहर आ चुका है।