पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48690.8-0.96 %
  • NIFTY14696.5-1.04 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475690 %
  • SILVER(MCX 1 KG)698750 %
  • Business News
  • Infosys Q4 Results 2021 Update | Infosys Financial Results Earning And Net Profit Latest News Today Updates

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इंफोसिस को 5074 करोड़ का प्रॉफिट:कंपनी इस साल 26 हजार फ्रेशर्स को नौकरी देगी, 25% ज्यादा दाम पर अपने शेयर वापस खरीदेगी

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हायरिंग के मामले में इस साल IT सेक्टर तेज दौड़ लगा रहा है। दिग्गज IT कंपनी TCS के बाद अब इंफोसिस ने इस फाइनेंशियल ईयर (2021-22) में बड़ी संख्या में नई नौकरियां देने का ऐलान किया है। अच्छे तिमाही नतीजे पेश करने के बाद इंफोसिस ने 26 हजार फ्रेशर्स को नौकरी देने की बात कही है। नतीजों की बात करें तो कंपनी को जनवरी से मार्च के दौरान 5,074 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ है। यह तीसरी तिमाही में 5,193 करोड़ रुपए था।

इंफोसिस के बोर्ड ने 9200 करोड़ रुपए का शेयर बायबैक का प्रस्ताव भी मंजूर कर दिया है। बायबैक में एक शेयर की कीमत 1750 रुपए तय की गई है। कंपनी का रेवेन्यू भी 26,311 करोड़ रुपए रहा। बायबैक की संभावना को देखते हुए सोमवार को इंफोसिस का शेयर 3% चढ़कर 1,480 पर पहुंच गया था, जो छह साल का सबसे ऊंचा स्तर है। 2021 में इंफोसिस का शेयर अब तक 11% चढ़ा है, जबकि निफ्टी IT इंडेक्स 6.6% ही बढ़ा है।

एक्सचेंज फाइलिंग के मुताबिक मार्च 2021 तक इंफोसिस में प्रमोटर और प्रमोटर ग्रुप की हिस्सेदारी 12.95% रही। अन्य सभी हिस्सेदारी पब्लिक, म्यूचुअल फंड, FPI और वित्तीय संस्थानों की है।

भारत से सबसे ज्यादा फ्रेशर्स हायर किए जाएंगे
इंफोसिस जिन 26 हजार फ्रैशर्स को नौकरी देगी, उनमें से 24 हजार लोग भारत से जबकि 2 हजार विदेशों से लिए जाएंगे। पिछले फाइनेंशियर ईयर (2020-21) के दौरान कंपनी ने 21 हजार फ्रेशर्स की हायरिंग की थी। एक्सचेंज को दी जानकारी के मुताबिक मार्च के अंत तक कंपनी के साथ 2,59,619 कर्मचारी जुड़े रहे। वहीं, लगातार दूसरी तिमाही में एट्रिशन रेट 15% से ऊपर रही। यानी कंपनी छोड़कर जाने वालों की दर 15% से ज्यादा रही।

शेयर नई ऊंचाई पर पहुंचेगा, निवेश की सलाह
मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के चंदन तापड़िया के मुताबिक इंफोसिस के नतीजे अच्छे हैं। कंपनी ने 1750 रुपए पर शेयर बायबैक करने की घोषणा की है, जो कि मौजूदा स्तर से करीब 25% ज्यादा है। 9200 करोड़ रुपए का यह बायबैक कुल इक्विटी का 1.23% है।

उन्होंने कहा कि नतीजे और बोर्ड की कमेंट्री का शेयर पर पॉजिटिव इंपैक्ट रहेगा। शेयर गुरुवार को एक बार फिर नए हाई को टच करेगा। निवेशकों को इंफोसिस के शेयर में निवेश की सलाह होगी और पहले से निवेश है तो इसमें बने रहने की सलाह है।

रिलायंस सिक्योरिटीज के सीनियर रिसर्च एनालिस्ट सुयोग कुलकर्णी के मुताबिक इंफोसिस का शेयर 1,920 रुपए तक पहुंच सकता है। इसके लिए निवेशकों को 2 साल इंतजार करना होगा। मंगलवार को यह 1,403 रुपए पर बंद हुआ था। उन्होंने कहा कि कंपनी के रेवेन्यू में 10% से ज्यादा की ग्रोथ रही है। इसके अलावा डिजिटल बिजनेस में भी कंपनी की हिस्सेदारी बढ़ी है। ऐसे में ब्रोकरेज हाउसेज शेयर पर अपना टार्गेट बढ़ा सकते हैं।

तीन साल में डबल हुई इंफोसिस की नेटवर्थ
खास बात यह है कि 2018 में से अब तक कंपनी की नेटवर्थ डबल हो गई है। तीन साल में यह 33 अरब डॉलर से बढ़कर 69 अरब डॉलर हो गया है। इसमें बड़ी भूमिका सलील पारेख है, जिन्होंने 2018 से कंपनी की कमान मजबूती से संभाली। सलील पारेख तब से अब तक कंपनी के CEO और MD हैं।

सबसे बड़ी IT कंपनी TCS 40, 000 फ्रेशर्स को हायर करेगी
IT सेक्टर की सबसे बड़ी कंपनी TCS ने चौथी तिमाही के जारी किए। कंपनी का प्रॉफिट जनवरी से मार्च के दौरान 9,246 करोड़ रुपए रहा। रेवेन्यू भी करीब 10% बढ़कर 43,705 करोड़ रुपए रहा। कंपनी ने कहा है कि 2021-22 के दौरान वह 40 हजार से ज्यादा फ्रेशर को हायर करेगा।

खबरें और भी हैं...