पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX48630.96-0.12 %
  • NIFTY14749.40.36 %
  • GOLD(MCX 10 GM)475690 %
  • SILVER(MCX 1 KG)698750 %

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोविड की दूसरी लहर का कारोबार पर असर नहीं:अप्रैल में 119.27 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही, पिछले साल के मुकाबले 41% का उछाल

नई दिल्ली13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पूरे वित्त वर्ष 2020-21 में बिजली खपत में 1% की गिरावट रही है। पिछले वित्त वर्ष में 1271.54 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही है। - Money Bhaskar
पूरे वित्त वर्ष 2020-21 में बिजली खपत में 1% की गिरावट रही है। पिछले वित्त वर्ष में 1271.54 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही है।

कोरोना की दूसरी लहर का कारोबारी गतिविधियों पर ज्यादा असर नहीं दिख रहा है। इसकी गवाही देश में बिजली खपत के आंकड़े दे रहे हैं। बिजली मंत्रालय के डाटा के अनुसार, अप्रैल में देश में 119.27 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही है। एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले इसमें 41% का उछाल रहा है।

एक दिन में सबसे ज्यादा 182.55 गीगावाट बिजली की खपत रही

इस साल अप्रैल में एक दिन में सबसे ज्यादा बिजली खपत का भी नया रिकॉर्ड बना है। पिछले महीने एक दिन में सबसे ज्यादा 182.55 गीगावाट बिजली की खपत रही है। यह पिछले साल अप्रैल के रिकॉर्ड 132.73 गीगावाट से 38% ज्यादा है। अप्रैल 2020 में लॉकडाउन के कारण अधिकांश कारोबारी गतिविधियों पर रोक लगी हुई थी। इस कारण 84.55 बिलियन यूनिट बिजली की खपत हुई थी। जबकि अप्रैल 2019 में 110.11 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही थी। इसी तरह से एक दिन की सबसे ज्यादा खपत भी 2019 के मुकाबले 2020 में कम रही थी। अप्रैल 2019 में एक दिन की सबसे ज्यादा खपत 176.81 गीगावाट रही थी।

कमर्शियल और इंडस्ट्रियल डिमांड में हो रही है रिकवरी

जानकारों का कहना है कि पिछले साल लॉकडाउन में कारोबारी गतिविधियां थमने के कारण बिजली की खपत में कमी रही थी। इस कारण इस साल अप्रैल में खपत और डिमांड में अच्छी ग्रोथ रही है। जानकारों के मुताबिक, इस साल बिजली खपत की ग्रोथ बताती है कि कमर्शियल और इंडस्ट्रियल स्तर पर बिजली डिमांड में रिकवरी हो रही है। हालांकि, जानकार चेतावनी देते हैं कि कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में लगाए जा रहे लॉकडाउन का आने वाले महीनों में बिजली खपत पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है।

बिजली खपत में 6 महीने बाद आई थी ग्रोथ

पिछले साल 6 महीने बाद सितंबर में बिजली खपत में 4.6% की ग्रोथ दर्ज की गई थी। इसके बाद अक्टूबर में 11.6% की ग्रोथ रही थी। हालांकि, सर्दियां शुरू होने के कारण नवंबर में बिजली खपत की ग्रोथ घटकर 3.12% रह गई थी। दिसंबर में बिजली खपत में बढ़ोतरी के कारण 4.5% की ग्रोथ रही थी। जबकि जनवरी 2021 में 4.4% की ग्रोथ रही थी।

मार्च 2021 में 23% की ग्रोथ रही

इस साल फरवरी में बिजली खपत में 0.28% की मामूली ग्रोथ रही थी। फरवरी 2020 की 103.81 बिलियन यूनिट के मुकाबले इस साल फरवरी में 104.11 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही। 2020 के लीप ईयर होने के कारण फरवरी में बिजली की खपत ज्यादा रही थी। हालांकि, इस साल मार्च में बिजली की खपत में 23% की ग्रोथ रही। मार्च 2020 की 98.95 बिलियन यूनिट के मुकाबले इस साल मार्च में 121.51 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही। पूरे वित्त वर्ष 2020-21 में बिजली खपत में 1% की गिरावट रही है। 2019-20 की 1284.44 बिलियन यूनिट के मुकाबले 2020-21 में 1271.54 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही।

खबरें और भी हैं...