पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Market Watch
  • SENSEX52597.7-0.33 %
  • NIFTY15796.6-0.46 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48349-0.2 %
  • SILVER(MCX 1 KG)715020.37 %
  • Business News
  • India's Power Consumption Grows 24.35 Percent In March

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मजबूत होती अर्थव्यवस्था:मार्च में बिजली खपत में 24.35% की बढ़ोतरी, कुल 123.05 बिलियन यूनिट पावर का इस्तेमाल

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इस साल एक दिन में सबसे अधिक 186.03 बिजली की खपत 11 मार्च को रही। - Money Bhaskar
इस साल एक दिन में सबसे अधिक 186.03 बिजली की खपत 11 मार्च को रही।
  • मार्च 2020 में केवल 98.95 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही थी
  • बिजली खपत में बढ़ोतरी इंडस्ट्रियल गतिविधियों में सुधार का संकेत

देश में कमर्शियल और इंडस्ट्रियल गतिविधियों में लगातार सुधार हो रहा है। इससे अर्थव्यवस्था को मजबूती मिल रही है। इसका संकेत बिजली खपत के आंकड़ों से मिलता है। बिजली मंत्रालय के ताजा डाटा के अनुसार, मार्च 2021 में 123.05 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही है। एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले इसमें 24.35% की बढ़ोतरी रही है। पिछले साल मार्च में 98.95 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही थी।

हर रोज 170.16 गीगावाट बिजली से ज्यादा की खपत रही

डाटा के मुताबिक, इस साल मार्च में 1 दिन को छोड़कर हर दिन बिजली की खपत 170.16 गीगावाट रही। बीते महीने केवल 29 मार्च को बिजली की खपत 159.81 गीगावाट रही है। जबकि मार्च 2020 में एक दिन में सबसे अधिक खपत 170.16 गीगावाट रही थी। इस साल एक दिन में सबसे अधिक 186.03 बिजली की खपत 11 मार्च को रही। यह पिछले साल की सबसे अधिक 170.16 गीगावाट से 9.3% ज्यादा रही है।

प्री-कोविड स्तर पर लौटी बिजली की खपत

जानकारों का कहना है कि कमर्शियल और इंडस्ट्रियल गतिविधियों में उछाल आ रहा है। इसकी बदौलत बिजली की खपत प्री-कोविड स्तर पर लौट आई है। इससे आने वाले महीनों में ग्रोथ में मजबूती आएगी। हालांकि, जानकारों ने चेतावनी दी है कि कोविड-19 का संक्रमण बढ़ने के कारण स्थानीय स्तर पर लगाए जा रहे लॉकडाउन से बिजली की खपत प्रभावित हो सकती है। इससे कमर्शियल और इंडस्ट्रियल गतिविधियों पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है।

लॉकडाउन के बाद 6 महीने में आई थी ग्रोथ

केंद्र सरकार ने कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए 25 मार्च 2020 को देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी। इससे देश में बिजली खपत में बड़ी गिरावट दर्ज की गई थी। 6 महीने बाद सितंबर में बिजली की खपत में वार्षिक आधार पर 4.6% की ग्रोथ दर्ज की गई थी। वहीं अक्टूबर में 11.6% की ग्रोथ रही थी। लेकिन नवंबर 2020 में सर्दियां शुरू होने के कारण बिजली की खपत में कमी आई थी और 3.12% की ग्रोथ रही थी। बिजली खपत में दिसंबर में 4.5%, जनवरी 2021 में 4.4% की ग्रोथ रही थी। इस साल फरवरी में 10.4.11 बिलियन यूनिट बिजली की खपत रही थी।

खबरें और भी हैं...